ताज़ा खबर
 

केरल भवन में गोमांस नहीं, व्यंजन सूची से भैंस का मांस हटाया गया

केरल सरकार ने कहा कि दिल्ली के केरल भवन में गोमांस नहीं परोसा जा रहा था और कुछ कार्यकर्ताओं द्वारा बिना अनुमति प्रवेश किए जाने को लेकर उसने पुलिस में..

Author नई दिल्ली | October 27, 2015 6:48 PM
नई दिल्‍ली स्थित केरल भवन में सोमवार को बीफ परोसे जाने की खबर मिलने के बाद पूछताछ करती दिल्‍ली पुलिस। फोटो-इंडियन एक्‍सप्रेस

केरल सरकार ने कहा कि दिल्ली के केरल भवन में गोमांस नहीं परोसा जा रहा था और कुछ कार्यकर्ताओं द्वारा बिना अनुमति प्रवेश किए जाने को लेकर उसने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है। यही नहीं, अब केरल भवन के व्यंजन सूची से भैंस का मांस हटा दिया गया है।

सोमवार को किसी ने पुलिस को फोन करके शिकायत की थी कि केरल भवन की कैंटीन की व्यंजन सूची में गोमांस का जिक्र है। इस घटना के बाद यह शिकायत दर्ज कराई गई है।

केरल के मुख्य सचिव जिजि थॉमसन ने केरल भवन में गोमांस परोसे जाने की बात से इंकार किया और कहा कि वह घटना के संबंध में दर्ज कराई गई शिकायत पर पुलिस द्वारा कार्रवाई किए जाने का इंतजार करेंगे।

गोमांस विवाद: केरल भवन पर दिल्ली पुलिस की ‘छापेमारी’ से भड़के केजरीवाल, बस्सी ने दी सफ़ाई

थॉमसन ने यहां पत्रकारों से कहा, ‘‘मैं इस बात से पूरी तरह इंकार करता हूं। हमने ऐसा कभी नहीं किया। यहां केवल भैंस का मांस ही परोसा जाता है। गोमांस नहीं परोसा गया।’’

उन्होंने कहा कि कुछ कार्यकर्ताओं द्वारा रेजिडेंट कमिश्नर की बिना अनुमति प्रवेश किए जाने को लेकर पुलिस में शिकायत दर्ज कराई गई है।

थॉमसन ने कहा, ‘‘सोमवार को हमें बताया गया कि कुछ कार्यकर्ता रेजिडेंट कमिश्नर की अनुमति के बगैर प्रवेश कर गए हैं। हमने पर इस आपत्ति जताई। हमने पुलिस उपायुक्त (दिल्ली पुलिस) के समक्ष इसकी शिकायत दर्ज कराई है।’’

केरल के मुख्य सचिव थॉमसन ने यह भी कहा कि पुलिस को सोमवार को अनुमति लेकर केरल भवन में प्रवेश करना चाहिए था। यही नहीं, सोमवार की घटना के कारण अब केरल भवन के व्यंजन सूची से भैंस का मांस अस्थायी तौर पर हटा दिया गया है।

उधर, केरल के अटिंगल लोकसभा क्षेत्र से माकपा सांसद ए. सम्पथ ने कहा कि यह घटना राज्य सरकार के लिए ‘अपमानजनक’ है। उन्होंने कहा, ‘‘संसद सदस्य के तौर पर मैं इसे राज्य सरकार के लिए अपमानजनक जैसा महसूस करता हूं।… यह (केरल भवन) राज्य सरकार की संपत्ति है जो ठीक उसी तरह है जैसे भारत में किसी दूसरे देश का दूतावास होता है। मैं भारत सरकार के अधिकार को चुनौती नहीं दे रहा हूं। परंतु जो यहां हुआ वह पूरी तरह निंदनीय है। मुझे संदेह है कि इसके पीछे कुछ राजनीतिक मंसूबा हो सकता है।’’

माकपा सांसद ने केरल सरकार से कहा कि वह व्यंजन सूची में भैंस का मांस फिर से शामिल करे। इस बीच, केरल भवन की कैंटीन में नियमित तौर पर पहुंचने वालों ने भैंस का मांस नहीं परोसे जाने पर निराशा जताई है।

केरल की निवासी और इन दिनों में दिल्ली में रह रही अनु कहती हैं, ‘‘मैं भैंस का मांस खाने के लिए हफ्ते में एक बार इस रेस्तरां में जाती हूं।…परंतु अब मैं निराश हूं कि व्यंजन सूची से भैंस का मांस हटा दिया गया है।’’

सोमवार को किसी ने पुलिस पीसीआर को कॉल करके बताया था कि यहां जंतर-मंतर स्थित केरल भवन में गोमांस परोसा जा रहा है। उसके बाद पुलिस की एक टीम को वहां भेजा गया था ताकि किसी ‘अप्रिय घटना’ को रोका जा सके।

पुलिस के पास यह फोन सोमवार को शाम करीब 4.15 बजे आया और फोन करने वाले ने दावा किया कि वह एक कट्टर दक्षिणपंथी संगठन से जुड़ा हुआ है।

लगातार ब्रेकिंग न्‍यूज, अपडेट्स, एनालिसिस, ब्‍लॉग पढ़ने के लिए आप हमारा फेसबुक पेज लाइक करेंगूगल प्लस पर हमसे जुड़ें  और ट्विटर पर भी हमें फॉलो करें

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App