ताज़ा खबर
 

पत्थरबाजों से कविता कृष्णन ने दिखाई हमदर्दी, कहा-पाकिस्तान नहीं, इंडियन आर्मी की वजह से पैदा होते हैं पत्थर फेंकने वाले नौजवान

कविता कृष्णन ने ट्वीट कर कहा है कि कश्मीर में पत्थर फेंकने वालों को पाकिस्तान पैदा नहीं करता है, इन्हें पैदा करते हैं घाटी में मौजूद भारतीय सेना के जवान।

कविता कृष्णन CPIML पोलित ब्यूरो की सदस्य हैं। (Source-Express photo)

सीपीआई(एमएल) नेता कविता कृष्णन अपने ट्वीट को लेकर एक बार फिर से विवादों में हैं। कविता कृष्णन ने ट्वीट कर कहा है कि कश्मीर में पत्थर फेंकने वालों को पाकिस्तान पैदा नहीं करता है, इन्हें पैदा करते हैं घाटी में मौजूद भारतीय सेना के जवान। कश्मीर की समस्या को अलग नजरिये से देखने वाली कविता कृष्णन ने पत्थरबाजों पर ही अपने एक पुराने ट्वीट को रीट्वीट करते हुए लिखा, ‘पत्थर फेंकने वाले कश्मीरी युवकों को पाकिस्तान जन्म नहीं देता है, ये कश्मीरी युवक कश्मीर में भारतीय सेना के सशस्त्र जवानों की मौजूदगी की वजह से पैदा होते हैं।’

कविता कृष्णन के इस ट्वीट पर लोगों ने गुस्से में प्रतिक्रिया दी है। बाला जी सुब्रमणियम नाम के एक यूजर ने लिखा है, तो अब हमें क्या करना चाहिए? कश्मीर से सेना को बुला लेनी चाहिए, कश्मीर पाकिस्तान को दे देना चाहिए, निश्चित रुप से आप इससे खुश होंगी।विशाल नाम के यूजर ने लिखा है, ‘ घाटी में जाकर ‘बेचारे कश्मीरियों’ के लिए मार्च निकालिए, कहां आप अपना समय व्यर्थ कर रही हैं भारत के बड़े-बड़े शहरों में रहकर।’ राजेन्द्र रैना नाम के एक शख्स ने लिखा है, ‘आपकी झूठ पर दया आती है, क्या आपको पता है कश्मीर में पत्थरबाजी 1953 से चल रही है, आप इस चलता है एटीट्यूड के साथ कैसे ट्वीट करती हैं।’

बता दें कि इससे पहले कविता कृष्णन ने आर्मी चीफ बिपिन रावत को खुली चिट्ठी लिखी थी और आर्मी चीफ द्वारा कश्मीरी नौजवानों को सेना के ऑपरेशन के दौरान दखल ना देने की चेतावनी की आलोचना की थी। कविता कृष्णन ने लिखा था कि वादी में भारतीय फौजों की मौजूदगी और उनका व्यवहार ही लोगों को सेना के खिलाफ कर देता है। कविता कृष्णन के मुताबिक भारत को कश्मीर समस्या का राजनीतिक समाधान निकालना चाहिए। और कश्मीर के लोगों का विश्वास जीतने के लिए सबसे पहले सेना को कश्मीर से वापस बुलाना चाहिए। कविता कृष्णन ने सेना में कुछ जवानों के सुसाइड करने पर भी सवाल उठाया था। बता दें कि कश्मीर में सेना के ऑपरेशन के दौरान स्थानीय लोग सेना पर पत्थर फेंकने लगते हैं इससे सेना को अपने ऑपरेशन को अंजाम तक ले जाने में परेशानी होती है।

हैक हुआ हिजबुल मुजाहिद्दीन का ट्वीटर अकाउंट; लिखा- "कश्मीर भारत का हिस्सा"

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App