ताज़ा खबर
 

कठुआ, उन्‍नाव पर ”संक्षिप्‍त बयान”, पीएम बनने से पहले रेप पर क्‍या और कितना बोले थे नरेंद्र मोदी, जानिए

जम्मू-कश्मीर के कठुआ और उत्तर प्रदेश के उन्नाव में हुई गैंगरेप की घटनाओं और देशभर में हो रहे विरोध-प्रदर्शनों के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पहली बार 13 अप्रैल को अपनी चुप्पी तोड़ी और दोषियों को सख्त सजा दिलाने का वादा किया।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी। (फाइल फोटो)

जम्मू-कश्मीर के कठुआ और उत्तर प्रदेश के उन्नाव में हुई गैंगरेप की घटनाओं और देशभर में हो रहे विरोध-प्रदर्शनों के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पहली बार 13 अप्रैल को अपनी चुप्पी तोड़ी और दोषियों को सख्त सजा दिलाने का वादा किया। डॉ. भीमराव आंबेडकर की 127वीं जयंती से एक दिन पहले नई दिल्ली में डॉक्टर आंबेडकर फाउंडेशन में आयोजित नेशनल मेमोरियल समारोह में उन्होंने कहा, “गुनहगारों को सख्त से सख्त सजा हो ये हम सबकी जिम्मेदारी है और भारत सरकार इस जिम्मेदारी को पूरा करने में कोई कोताही नहीं होने देगी, ये मैं देशवासियों को विश्वास दिलाता हूं।”

प्रधानमंत्री ने इसके अलावा कहा, “पिछले दो दिनों से जो घटनाएं चर्चा में हैं वो किसी भी सभ्य समाज में शोभा नहीं देती हैं, ये शर्मनाक हैं। एक समाज के रूप में, एक देश के रूप में हम सब इसके लिए शर्मसार हैं। देश के किसी भी राज्य में, किसी भी क्षेत्र में होने वाली ऐसी वारदातें, हमारी मानवीय संवेदनाओं को झकझोर देती हैं पर मैं देश को विश्वास दिलाना चाहता हूं कि कोई अपराधी नहीं बचेगा, न्याय होगा और पूरा होगा। हमारी बेटियों को न्याय मिलकर रहेगा।”

इससे पहले भी मोदी जब गुजरात के मुख्यमंत्री और 2014 में पीएम पद के उम्मीदवार थे, तब भी रेप के खिलाफ बोलते थे। 2014 के चुनाव प्रचार के दौरान उन्होंने एक टीवी चैनल पर कहा था, जब हम किसी पीड़िता की जगह खुद को रखकर या उसके सगे-संबंधी बनकर सोचते हैं तो रुह कांप जाती है। उन्होंने कहा था कि देश की कोई भी लड़की हमारी बेटी की तरह है। हमलोग 21वीं सदी में हैं बावजूद इसके आए दिन बलात्कार से जुड़ी दिल दहला देने वाली खबरें सुनते हैं। छत्तीसगढ़ में भी एक चुनावी सभा को संबोधित करते हुए मोदी ने केंद्र की कांग्रेस की अगुवाई वाली यूपीए सरकार पर हमला बोला था और कहा था कि जब भी आप टीवी खोलते हैं तो अक्सर रेप की खबरें दिखाई देती हैं। उन्होंने कहा था कि कांग्रेस की सरकार में कानून-व्यवस्था चरमरा चुकी है।


2014 के चुनाव से पहले दिल्ली यूनिवर्सिटी में छात्रों को संबोधित करते हुए भी मोदी ने निर्भया कांड की चर्चा की थी और केंद्र सरकार पर निशाना साधा था। पीएम बनने के बाद यूपी विधानसभा चुनाव के दौरान पिछले साल फरवरी में भी पीएम मोदी ने सपा नेता और मंत्री गायत्री प्रजापति के बहाने अखिलेश सरकार पर निशाना साधा था और कहा था कि आपका काम नहीं कारनामा बोलता है, कारनामा। बता दें कि गायत्री प्रजापति पर रेप के आरोप लगे थे। पीएम बनने के बाद लाल किला से पहले संबोधन में भी पीए मोदी ने कहा था, “जब कभी हम दुष्कर्म की घटनाओं के बारे में सुनते हैं, हमारा सिर शर्म से झुक जाता है। उन्होंने कहा कि माता-पिता बेटियों पर बंधन डालते हैं लेकिन उन्हें अपने बेटों से भी घर से बाहर निकलने पर पूछना चाहिए कि वे कहां जा रहे हैं।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App