ताज़ा खबर
 

महाराष्‍ट्र में कश्‍मीरी छात्रों का दर्द- हमसे कहा वंदे मातरम बोलो और खूब पीटा, आदित्‍य ठाकरे बोले- पाकिस्‍तान को सबक सिखाना जरूरी

Jammu and Kashmir Pulwama Awantipora Terror Attack Updates: छात्रों ने बताया कि उनसे वंदे मातरम बोलने को कहा गया और जमकर पिटाई की गई। कालोनी के कुछ सदस्यों ने हस्तक्षेप कर उन्हें बचाया।

Author Updated: February 22, 2019 9:42 AM
kashmir, kashmir terrorकश्मीरियों की समस्याओं को इस्लामी कट्टरवाद द्वारा हथियाया जा रहा है। (AP Photo)

Jammu and Kashmir Pulwama Awantipora Terror Attack Updates: जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में आतंकी हमले के बाद कश्मीरी छात्रों से मारपीट की एक नई घटना सामने आयी है। महाराष्ट्र के नागपुर में कथित तौर पर शिव सेना की युवा इकाई युवा सेना के सदस्यों ने यवतमाल में एक कॉलेज में पढ़ रहे कश्मीरी छात्रों पर हमला किया और उन्हें धमकी दी। पुलिस ने बृहस्पतिवार को बताया कि हमला बुधवार की रात हुआ। छात्रों को धमकी भी दी गयी। छात्रों ने बताया कि उनसे वंदे मातरम बोलने को कहा गया और जमकर पिटाई की गई।

घटना के बाद प्रतिक्रिया देते हुए शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे के बेटे आदित्य ठाकरे ने कहा कि पाकिस्तान को सबक सिखाना जरूरी है। हालांकि, शिवसेना की युवा सेना महाराष्ट्र कश्मीरी युवकों पर हमले की निंदा करते हुए एक प्रेस नोट जारी किया है। एएनआई के अनुसार, युवा सेना ने कहा, “अगर हमलावर युवा सेना के कार्यकर्ता थे, तो जिम्मेदार लोगों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।”

पुलिस ने बताया कि सोशल मीडिया पर घटना का एक वीडियो वायरल हुआ है और यवतमाल थाने में एक मामला दर्ज किया गया है। रात में करीब दस बजे वाघापुर रोड पर किराये के मकान के बाहर छात्रों पर हमला हुआ। उन्होंने बताया कि छात्र दयाभाई पटेल फिजिकल एजुकेशन कॉलेज के थे। यवतमाल के एसपी एम राजकुमार ने पीटीआई को बताया कि युवा सेना के कार्यकर्ताओं ने लोहारा थाना अंतर्गत वैभव नगर में रहने वाले कुछ कश्मीरी छात्रों पर हमला किया और उन्हें धमकी दी।

राजकुमार ने बताया, ‘‘खाना खाने के बाद जब कश्मीरी छात्र वापस लौट रहे थे तभी युवा सेना के कार्यकर्ताओं ने उन्हें रोक लिया और थप्पड़ मारे। घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर आया है। पीड़ितों ने बृहस्पतिवार को लोहारा थाने में शिकायत दर्ज करायी। पुलिस ने आरोपियों की पहचान कर ली है और घटना के मुख्य आरोपी को पकड़ लिया है।’’

एक पीड़ित छात्र ने कहा, ‘‘हमसे कहा गया कि यहां रहना है तो वंदे मातरम कहना होगा। बुधवार शाम जब हम बाजार से लौट रहे थे तो उन्होंने थप्पड़ मारे और हमसे बदसलूकी की।’’ छात्र ने कहा कि “हमलावरों ने हमसे कमरे खाली कर चार दिनों के भीतर कश्मीर लौट जाने को कहा। हमे चेतावनी दी गई कि यदि इस दौरान हम वापस नहीं गये तो वे हमें मार डालेंगे।” छात्र ने कहा कि कालोनी के कुछ सदस्यों ने हस्तक्षेप कर हमे बचाया।

घटना पर बयान के बारे में पूछे जाने पर युवा सेना के प्रमुख आदित्य ठाकरे ने कहा पुलवामा आतंकी हमले पर देश भर में आक्रोश है। उन्होंने कहा कि यवतमाल में मारपीट की घटना की वह जांच करवाएंगे और सच सामने आने पर आवश्यक कार्रवाई करेंगे। उन्होंने भारतीयों के बीच एकता का आह्नवा किया।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 IRCTC Train Ticket Booking Online: मोबाइल से बुक करें अनारक्षित रेलवे टिकट, ऐसे करें ‘UTS एप’ का इस्तेमाल
2 गठजोड़ के दो दिन बाद ही भाजपा पर शिव सेना का वार- पुलवामा हमले में कार्रवाई के लिए क्या चुनाव तक करोगे इंतजार?
3 पुलवामा आतंकी हमले के बाद फिर उठी जवानों को ‘शहीद’ का दर्जा देने की मांग, जानिए सरकार ऐसा क्‍यों नहीं कर सकती