ताज़ा खबर
 

वीडियो: कश्‍मीर यूनिवर्सिटी में आतंकियों के पोस्‍टर लेकर उतरे छात्र, लगाए आजादी के नारे

कश्मीर के शाटगुंड इलाके में हुई मुठभेड़ में आतंकी वानी के अलावा उसका एक साथी भी मारा गया था। आतंकियों के समर्थन में कश्मीर यूनिवर्सिटी के स्टूडेंट्स का एक वीडियो सामने आया है।

आतंकी मन्नान वानी को सुरक्षाबलों ने मुठभेड़ में मार गिराया था। (फोटो सोर्स : Indian Express)

अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय में पढ़ने वाले कश्मीरी छात्रों द्वारा सुरक्षा बलों के हाथों मारे गए हिज्बुल मुजाहिदीन के आतंकवादी मन्नान बशीर वानी के लिए नमाज-ए-जनाजा पढ़े जाने और देश विरोधी नारे लगाने के आरोप के बाद कुछ छात्रों पर देशद्रोह का मुकदमा दर्ज कर निलंबित कर दिया गया था। हालांकि छात्रों की चेतावनी के बाद विश्वविद्यालय प्रशासन ने निलंबन वापस ले लिया। अब एएमयू के इन्हीं छात्रों और आतंकियों के समर्थन में कश्मीर यूनिवर्सिटी के स्टूडेंट्स का एक चौंका देने वाला वीडिया सामने आया है।

कश्मीर यूनिवर्सिटी के कैंपस में यह छात्र आतंकियों का पोस्टर लेकर आज़ादी के नारे लगा रहे हैं। यह वीडियो बीते मंगलवार का बताया जा रहा है। जिसमें अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के कश्मीरी छात्रों के समर्थन के नाम पर आतंकी जाकिर मूसा से लेकर रियाज नायकू, बुरहान वानी और मन्नान वानी के नारे लगाए गए। आतंकी मन्नान वानी के लिए यहां भी नमाजे जनाजा किया गया। वीडियो में आतंकियों की महानता का गुणगान किया गया।

अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी (एएमयू) में पढ़ने वाले कश्मीरी छात्रों ने बशीर वानी को शहीद घोषित कर यूनिवर्सिटी में नामज ए जनाजा पढ़ने की कोशिश की थी। सीनियर छात्रों के समझाने के बाद कुछ कश्मीरी छात्र तो सहमत हो गए, लेकिन छात्रों का एक गुट फिर भी अपनी जिद पर अड़ा रहा। इसके बाद दो छात्रों के खिलाफ राजद्रोह का मुकदमा दर्ज कर लियान गया। इसके एक दिन बाद छात्रों ने धमकी दी कि अगर दोनों छात्रों के खिलाफ आरोप वापस नहीं लिए गए तो वह 17 अक्टूबर को कैंपस छोड़ देंगे।

आपको बता दें कि हिजबुल मुजाहिदीन का आतंकवादी मन्नान बशीर वानी गुरुवार को कश्मीर के हंदवाड़ा में सुरक्षाबलों से मुठभेड़ में मारा गया था। वह एएमयू में पीएचडी स्कॉलर था। कश्मीर के शाटगुंड इलाके में हुई इस मुठभेड़ में उसका एक साथी भी मारा गया। पिछली जनवरी में उसने सोशल मीडिया पर एके-47 रायफल के साथ अपनी तस्वीर डाली थी, जिसके बाद उसे विश्वविद्यालय से निष्कासित दिया गया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App