ताज़ा खबर
 

जम्मू कश्मीर MLA का आरोप: सर्जिकल स्ट्राइक के सबूत देने के लिए सेना कर रही फर्जी वीडियोग्राफी

लांगेट के विधायक राशिद ने दावा किया कि पिछले तीन दिनों से सेना उनके विधानसभा क्षेत्र में लीपा घाटी में फर्जी हमले की फुटेज बनवा रही है।

Author श्रीनगर | October 5, 2016 8:12 PM
निर्दलीय विधायक शेख अब्दुल राशिद। (Photo-PTI/File)

पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (पोओके) में आतंकी ठिकानों पर भारत के हालिया सर्जिकल स्ट्राइक के सबूत सार्वजनिक किए जाने की बढ़ती मांग के बीच विवादित निर्दलीय विधायक शेख अब्दुल राशिद ने बुधवार को आरोप लगाया कि सेना सबूत पेश करने के लिए नियंत्रण रेखा के पास लीपा घाटी में ‘फर्जी कार्रवाई’ की वीडियोग्राफी कर रही है। कश्मीर में कुपवाड़ा जिले के लांगेट के विधायक राशिद ने दावा किया कि पिछले तीन दिनों से सेना उनके विधानसभा क्षेत्र में लीपा घाटी में फर्जी हमले की फुटेज बनवा रही है ताकि उन्हें लक्षित हमले के सबूत के तौर पर दिखा सके।

उन्होंने दावा किया, ‘फर्जी निशाने बनाए जा रहे हैं और मैं पूरी दुनिया को कहना चाहता हूं कि यदि वे कुछ सबूत पेश करें, तो यह लीपा का होगा और यह फर्जी है जिसे हम साबित कर सकते हैं।’ उन्होंने आरोप लगाया कि पांच में दो स्थानों पर कोई गोलीबारी नहीं हुई जहां सेना ने अपने हमले करने का दावा किया है। विधायक ने कहा कि उन्होंने क्षेत्र के लोगों से जानने की कोशिश की और उनकी जानकारी के मुताबिक पिछले 20 दिनों में वहां कोई गोलीबारी नहीं हुई। सर्जिकल स्ट्राइक एक नाटक था ताकि कश्मीर से ध्यान भटकाया जा सके जहां तीन महीने से हिंसा हो रही थी।

वीडियो में देखें-सर्जिकल स्ट्राइक: पहली बार एलओसी के प्रत्यक्षदर्शियों ने बताई आंखों देखी, तड़के ट्रकों में भर कर ले जाई गई थी लाशें

राशिद ने सेना से नेताओं के हाथों इस्तेमाल नहीं होने को कहा। विधायक ने कहा कि पाकिस्तान अंतरराष्ट्रीय मीडिया को नियंत्रण रेखा पर ले गया ताकि वह उन्हें दिखा सकते कि ऐसा कोई हमला नहीं हुआ है। उन्होंने कहा कि यदि भारत अपने दावों को लेकर सच्चा है तो वह भी ऐसा करता। दोनों देशों से अपने निहित हितों को लेकर कश्मीर को रणभूमि नहीं बनाने को भी कहा।

Read Also: सर्जिकल स्ट्राइक: पहली बार एलओसी के प्रत्यक्षदर्शियों ने बताई आंखों देखी, तड़के ट्रकों में भर कर ले जाई गई थी लाशें

भारतीय सेना का दावा है कि उसके जवानों ने एलओसी पार कर पीओके में सर्जिकल स्ट्राइक किए हैं। इस दौरान उन्होंने पीओके स्थित आतंकी ठिकानों को ध्वस्त किया है। वहीं पाकिस्तानी सेना भारतीय सेना के इन दावों को खारिज कर रही है। पाकिस्तानी सेना का कहना है कि भारतीय सेना ने कोई सर्जिकल स्ट्राइक नहीं किए। सीमा पर दोनों पक्षों में फायरिंग हुई थी, जिसमें पाकिस्तानी सेना के दो जवान मारे गए।

Read Also: एलओसी पार कर भारत में हमला करने को तैयार खड़े हैं 100 आतंकी, पीएम नरेंद्र मोदी को दी गई जानकारी

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App