ताज़ा खबर
 

अमेरिकी ड्रोन हमले में मार गया अलकायदा आतंकी

नजीर अहमद डार ने दावा किया कि उसका भाई मोहम्मद अशरफ डार ड्रोन हमले में मारे गए छह अलकायदा आतंकवादियों में एक था।

Author श्रीनगर | November 23, 2015 2:01 AM
(File Pic)

दक्षिण कश्मीर के अनंतनाग जिले के एक परिवार ने दावा किया है कि अलकायदा के प्रचार वाले वीडियो में नजर आने वाला उनका बेटा इस साल जनवरी में पाकिस्तान के वजीरिस्तान में अमेरिकी ड्रोन हमले में मारा गया। नजीर अहमद डार ने दावा किया कि उसका भाई मोहम्मद अशरफ डार ड्रोन हमले में मारे गए छह अलकायदा आतंकवादियों में एक था। यह शायद पहली ऐसी घटना है। अशरफ उर्फ उमर कश्मीरी के बारे में उसके परिवार वालों ने 2001 में लापता होने की रिपोर्ट दर्ज कराई थी। वह इस सप्ताह भारतीय उपमहाद्वीप में अलकायदा (एक्यूआइएस) की मीडिया शाखा अस साहब के जिहादी नेटवर्क पर जारी वीडियो में नजर आया था। अलकायदा ने अपने शहीदों के महिमामंडन के तौर पर ‘जिहादी मेमोरीज’ के तहत यह वीडियो जारी किया था।

अनंतनाग जिले में कोकरनाग इलाके के नगाम गांव में डार ने कहा, ‘वीडियो में दिखने वाला व्यक्ति मेरा भाई मोहम्मद अशरफ है।’ साढेÞ तीन मिनट के इस वीडियो में दावा किया गया है कि अशरफ ‘कश्मीर के इस्लामाबाद’ का निवासी है, ‘कश्मीर के इस्लामाबाद’ का तात्पर्य अनंतनाग जिले से है। गुलाम अहमद डार का बेटा अशरफ 13 अगस्त, 2001 को लापता हो गया था, उस वक्त उसकी उम्र 15 साल थी। परिवार ने दावा किया कि उसे स्थानीय हिज्बुल मुजाहिदीन कमांडर नूर-उल-हक ने सूचना दी कि अशरफ हथियार चलाने का प्रशिक्षण लेने नियंत्रण रेखा पार गया। यह एक ऐसा तथ्य था जिसकी पुष्टि तीन साल बाद टेलीफोन कॉल के जरिए इस आतंकवादी (अशरफ ने) ने की थी।

परिवार ने यह भी दावा किया कि अशरफ पिछले साल दिसंबर तक फोन पर उसके निरंतर संपर्क में था और उसने अपनी बातचीत में ‘जिहाद’ और अफगानिस्तान का जिक्र किया। डार ने कहा कि परिवार ने अशरफ को घर वापस लौट आने के वास्ते मनाने की ढेर सारी कोशिशें की लेकिन वह नहीं माना। वीडियो में अशरफ अपने साथियों के साथ बैठे और अपने माता-पित व परिवार के बारे में बातें करता नजर आ रहा है। उसे नमाज पढ़ते भी देखा जा रहा है। लेकिन यह वीडियो अब वेब पर उपलब्ध नहीं है।

एक्यूआइएस ने कहा कि अशरफ अफगान मामलों के संगठन प्रभारी कारी इमरान के साथ पांच जनवरी को अमेरिकी ड्रोन हमले में मारा गया। वैसे खुफिया अधिकारियों ने इस बात की पुष्टि की है कि अशरफ के बारे में 14 साल से लापता होने की रिपोर्ट है।

वह हथियार चलाने का प्रशिक्षण लेने पाकिस्तान गया था लेकिन पुलिस अधिकारियों ने परिवार के दावे पर कुछ कहने से इनकार कर दिया। एक खुफिया अधिकारी ने कहा, ‘हमें यह पक्का यकीन तो नहीं है कि अशरफ मारा ही गया लेकिन हथियार प्रशिक्षण के वास्ते उसके सीमापार जाने की रिपोर्ट है।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App