ताज़ा खबर
 

कर्नाटक संकट: बीजेपी सांसद राजीव चंद्रशेखर ने विवाद में रतन टाटा को घसीटा, दे डाली यह दलील

सांसद ने कहा अगर एक प्लेन से यात्रा करने से सरकारें गिर जाती तो सभी प्लेन का इस्तेमाल करते। यह एक चार्टेड प्लेन था जिसका इस्तेमाल कांग्रेस नेता पहले भी करते आए हैं। प्लेन को दोष देने से अच्छा है आप अपने गठबंधन की अस्थिरता को दोष दें

Author नई दिल्ली | July 10, 2019 4:09 PM
राजीव चंद्रशेखर। फोटो: Twitter/ Rajeev Chandrasekhar

कर्नाटक में चल रहा राजनीतिक संकट हर एक नए दिन के साथ और गहराता जा रहा है। इस बीच कांग्रेस और जेडीएस लगातार बीजेपी पर हमलावर हैं। बीजेपी के राज्यसभा सांसद राजीव चंद्रशेखर ने बुधवार को इस विवाद में बिजनेसमैन रतन टाटा को घसीट दिया। उन्होंने कहा कि अगर बागी विधायक विस्तारा फ्लाइट का सफर करते तो क्या आप रतन टाटा को इसका जिम्मेदार मानते?

उन्होंने कहा ‘अगर एक प्लेन से यात्रा करने से सरकारें गिर जाती तो सभी प्लेन का इस्तेमाल करते। यह एक चार्टेड प्लेन था जिसका इस्तेमाल कांग्रेस नेता पहले भी करते आए हैं। प्लेन को दोष देने से अच्छा है आप अपने गठबंधन की अस्थिरता को दोष दें।’

दरअसल कांग्रेस और जेडीएस ने आरोप लगाया है कि जिस प्लेन में बागी विधायकों को बेंगलूरू से मुंबई ले जाया गया वह राजीव चंद्रशेखर की कंपनी का है। फिलहाल ये विधायक मुंबई के एक लग्जरी पवई इलाके के रिनेसन्स होटल में रह रहे हैं। इस होटल के समीप धारा 144 लागू कर दी गई है। कांग्रेस नेता और कर्नाटक के मंत्री डी के शिवकुमार को होटल में प्रवेश करने से रोक दिया गया। हालांकि वह कांग्रेस-जेडीएस सरकार को गिराने से रोकने की कवायद के तौर पर बागी विधायकों से मुलाकात करने पर अड़े रहे। इसके बाद विधायकों ने अपनी जान को खतरा बताते हुए सुरक्षा की मांग की है।

वहीं बागी विधायकों ने शीर्ष अदालत में एक याचिका दायर की है। इन विधायकों ने याचिका में विधानसभा अध्यक्ष पर जानबूझ कर उनके इस्तीफे स्वीकार नहीं करने का आरोप लगाया है। बता दें कि प्लेन जुपिटर कैपिटल प्राइवेट लिमिटेड का है और राजीव चंद्रशेखर इसके फाउंडर और चेयरमैन हैं। इसी को आधार मानते हुए कांग्रेस ने बीजेपी पर आरोप लगाया है कि वह गठबंधन सरकार को गिराने के लिए षड्यंत्र रच रही है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 NRC लिस्‍‍‍ट में नाम नहीं: पिता थे स्‍वतंत्रता सेनानी, खुद असम आंदोलन में रहे थे शामिल, अब सरकार मान रही ‘विदेशी’
2 सही काम न करने वाले अधिकारियों को बाहर करने के लिए मोदी सरकार ने अब जारी किया यह आदेश
3 Kerala Akshaya Lottery AK-403 Results: परिणाम घोषित, इन लकी विजेताओं ने जीते लाखों रुपए