ताज़ा खबर
 

कर्नाटक: सेंध लगने का डर? बीजेपी ने विधायकों के लिए होटल में बुक किए 30 कमरे

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने आरोप लगाया है कि भाजपा और केन्द्र सरकार राज्य सरकार को अस्थिर करने की कोशिश कर रही है।

karnataka bjpकर्नाटक भाजपा अध्यक्ष बीएस येदियुरेप्पा। (pti/file)

कर्नाटक में कांग्रेस-जेडीएस सरकार के 13 विधायकों के विधानसभा से इस्तीफा देने के बाद राजनैतिक रस्साकशी का दौर शुरु हो गया है। कांग्रेस मौजूदा संकट के लिए भाजपा और केन्द्र सरकार पर आरोप लगा रही है। वहीं भाजपा, कांग्रेस के आरोपों से इंकार कर रही है। इसी बीच सूत्रों के अनुसार, भाजपा की राज्य ईकाई ने भी अपने विधायकों के लिए होटल में 30 कमरे बुक कराए हैं। माना जा रहा है कि मौजूदा राजनैतिक खींचतान के चलते भाजपा को भी अपने किले में सेंध लगने का डर है। जिसके चलते ही भाजपा अपने विधायकों को एकजुट रखने का प्रयास कर रही है। खबर के अनुसार, भाजपा ने बेंगलुरु के डोड्डाबल्लापुर रोड पर स्थित रमादा होटल में 30 कमरे बुक किए हैं। इसी बीच खबर आयी है कि कर्नाटक सरकार के 21 कांग्रेसी मंत्रियों ने स्वेच्छा से मंत्री पद छोड़ दिया है। पूर्व सीएम और कांग्रेसी नेता सिद्धारमैया ने यह जानकारी दी है। ऐसी खबरें हैं कि बागी विधायकों को मंत्री बनाने की पेशकश की जा सकती है।

बता दें कि कांग्रेस के कई नेता भाजपा पर कर्नाटक की गठबंधन सरकार को अस्थिर करने का आरोप लगा चुके हैं। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने आरोप लगाया है कि भाजपा और केन्द्र सरकार राज्य सरकार को अस्थिर करने की कोशिश कर रही है। खड़गे ने बताया कि ‘कुछ विधायक मुंबई में हैं और वह बहुत ज्यादा दबाव में हैं, उन्होंने बहुत सी बातें बतायी हैं। केन्द्र सरकार की मदद से राज्य ईकाई भी सक्रिय हो गई है।’ हालांकि भाजपा नेताओं ने कांग्रेस के आरोपों से इंकार किया है और राज्य के मौजूदा हालात में पार्टी की किसी तरह की भूमिका होने से इंकार कर दिया है।

वहीं केन्द्रीय मंत्री प्रह्लाद जोशी ने अपने एक बयान में कर्नाटक में जारी उठा-पटक के लिए खुद कांग्रेस को जिम्मेदार ठहराया है। जोशी के अनुसार, कुमारस्वामी को दरकिनार करने के लिए यह कांग्रेस का गेम प्लान है। उल्लेखनीय है कि कुछ विधायकों ने सिद्धारमैया को सीएम बनाने की मांग की है। साथ ही वरिष्ठ कांग्रेस नेता रामलिंगा रेड्डी को भी सीएम बनाने की मांग उठ रही है। रेड्डी के समर्थकों ने उनकी सीएम बनाए जाने की मांग करते हुए कई जगह पोस्टर लगा दिए हैं। वहीं कांग्रेस अध्यक्ष पद के लिए ज्योतिरादित्य सिंधिया के समर्थकों ने भी माहौल बनाना शुरु कर दिया है। भोपाल स्थित प्रदेश कांग्रेस कमेटी के ऑफिस के बाहर एक पोस्टर लगा है, जिस पर सिंधिया को राष्ट्रीय नेतृत्व सौंपने की अपील की गई है।

बता दें कि कर्नाटक में 224 विधानसभा सीटें हैं। बीते विधानसभा चुनावों में भाजपा सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी थी, लेकिन वह बहुमत के आंकड़े 113 को नहीं छू पायी थी। जिस पर दूसरे नंबर की पार्टी कांग्रेस ने तीसरे नंबर की जेडीएस को समर्थन देकर सरकार बना ली थी। दोनों पार्टियों के बीच हुए गठबंधन के तहत सीएम पद जेडीएस के एचडी कुमारस्वामी को मिली थी। चूंकि भाजपा को बहुमत में आने के लिए कुछ सीटों की ही जरुरत है और वहीं कांग्रेस और जेडीएस गठबंधन में कथित तौर पर सबकुछ सही नहीं चल रहा है, ऐसे में राज्य में सरकार बनने के बाद से ही राजनैतिक उठापटक का दौर चल रहा है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 कर्नाटक में सरकार स्थिर, संविधान का चीरहरण कर रही है बीजेपी, आपात बैठक कर बोली कांग्रेस