ताज़ा खबर
 

CAA पर बोले भाजपायी मंत्री- बिरयानी नहीं बुलेट मार देनी चाहिए देशद्रोहियों को, फिर किया अनुराग ठाकुर का बचाव

कर्नाटक के पर्यटन मंत्री ने कहा कि जो केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर पर उनके बयान के लिए हमला कर रहे हैं वह देशद्रोही हैं। वे लोग ही आतंकी अजमल कसाब और याकूब मेमन की फांसी का विरोध भी करते हैं।

Karnataka minister, CT Ravi, anti national, bullet not biryani, BJP MP, Anuragh Thakur, Tukde-Tukde Gang, delhi election 2020, election news, india news, Hindi news, news in Hindi, latest news, today news in Hindiकर्नाटक के पर्यटन मंत्री ने केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर के बचाव में बयान दिया। (फोटोःएएनआई)

कर्नाटक में भाजपा सरकार के मंत्री ने केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर का समर्थन करते हुए कहा है कि देशद्रोहियों को बिरयानी नहीं बल्कि बुलेट मार देना चाहिए। एक ट्वीट में कर्नाटक के पर्यटन मंत्री सीटी रवि ने लिखा कि जो लोग वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर पर उनके बयान के लिए हमला कर रहे हैं वह देशद्रोही हैं।

उन्होंने लिखा कि  ऐसे लोग ही आतंकी अजमल कसाब और याकूब मेमन की फांसी का विरोध भी करते हैं। ये लोग ही देश में टुकड़े-टुकड़े गैंग का समर्थन भी कर रहे हैं। इतना ही नहीं ये लोग ही नागरिकता संशोधित कानून के खिलाफ भी झूठ फैला रहे हैं। उन्होंने #IStandWithAnuraghThakur के साथ ट्वीट कर लिखा कि राष्ट्र विरोधियों को बिरयानी नहीं बल्कि गोली देनी चाहिए।

मालूम हो कि वित्त राज्यमंत्री अनुराग ठाकुर ने 27 जनवरी को दिल्ली के रिठाला में एक चुनावी सभा के दौरान ‘देश के गद्दारों को, गोली मारों @#@# को’ का कई बार नारा लगवाया था। चुनाव आयोग ने केंद्रीय मंत्री के इस बयान पर कड़ा संज्ञान लिया। आयोग ने केंद्रीय मंत्री को कारण बताओ नोटिस जारी करते हुए 30 जनवरी दोपहर 12 बजे तक जवाब मांगा था।

हालांकि, अनुराग ठाकुर ने अपने इस बयान का बचाव किया था। अनुराग का कहना था कि हमें यह देखना चाहिए कि इस मामले को जनता किस तरह से देखती है। यदि चुनाव आयोग की तरफ से अनुराग ठाकुर को इस मामले में दोषी पाया जाता है तो वह आयोग की तरफ से कार्रवाई का सामना करने वाले भाजपा के दूसरे नेता होंगे।

इससे पहले 25 जनवरी को चुनाव आयोग की तरफ से भाजपा के उम्मीदवार कपिल मिश्रा पर भड़काउ बयानबाजी करने के मामले में कार्रवाई की गई थी। आयोग ने कपिल मिश्रा के चुनाव प्रचार करने पर 48 घंटे की रोक लगा दी थी। आयोग ने मिश्रा को प्रचार के दौरान चुनावी आचार संहिता तोड़ने का दोषी पाया था।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 SC, ST, OBC छात्रों के हॉस्टल पर नौ महीने में 10% रकम भी खर्च न कर सकी मोदी सरकार, RTI से सामने आया आंकड़ा
2 अभी भी हॉल जाकर सिनेमा देखते हैं 92 के आडवाणी, The Sky is Pink के बाद अगली मूवी का भी बन रहा प्लान
3 अब 24 हफ्ते में भी हो सकेगा गर्भपात! अविवाहित महिलाएं भी करा सकेंगी, जानें- क्या होगा नया कानून