ताज़ा खबर
 

कर्नाटक के मुख्यमंत्री कुमारस्वामी का दर्द- सीएम नहीं, क्लर्क के तौर पर करना पड़ रहा काम

जेडीएस के विधायकों और विधान परिषद के सदस्यों की बैठक में भावुक कुमारस्वामी ने कहा कि वे हर क्षेत्र में कांग्रेस के लगातार हस्तक्षेप के कारण मुख्यमंत्री नहीं बल्कि एक कलर्क की तरह काम कर रहे हैं।

कर्नाटक के मुख्यमंत्री एडी कुमारस्वामी ने कहा है कि कांग्रेस के दबाव में उनकी हैसियत मुख्यमंत्री की नहीं बल्कि कलर्क की तरह है. (फोटो सोर्स: AP)

कर्नाटक में सत्तारूढ़ गठबंधन कांग्रेस और जेडीएस के बीच खाई बढ़ती जा रही है। आगामी लोकसभा चुनाव तक दोनों दलों के एक साथ टिके रहने की संभावना भी कम नजर आ रही है। दरअसल, इस बात का संकेत खुद प्रदेश की कमान संभाल रहे मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी ने दिया। जेडीएस के विधायकों और विधान परिषद के सदस्यों की बैठक में भावुक कुमार स्वामी ने कहा कि वे हर क्षेत्र में कांग्रेस के लगातार हस्तक्षेप के कारण मुख्यमंत्री नहीं बल्कि एक कलर्क की तरह काम कर रहे हैं।

जेडीएस के कुछ विधायकों के मुताबिक कुमारस्वामी ने उन्हें कांग्रेस से हाथ मिलने के बाद पार्टी के सामने आने वाली चुनौतियों का जिक्र किया। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के नेता उनसे हर कुछ अपने पक्ष में कराना चाहते हैं और उनके पास कांग्रेस के नेताओं की बातों को सुनने के अलावा कोई दूसरा विकल्प भी नहीं है। कर्नाटक के सीएम के चहरे पर यह बात कहते वक्त परेशानी की झलक साफ-साफ दिखाई दे रही थी। उन्होंने कहा कि वह बहुत ही दबाव में काम कर रहे हैं और कांग्रेस के नेता चाहते हैं कि मैं हमेशा उनके इशारों पर काम करूं।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक बैठक में मौजूद विधायकों कहना था कि मुख्यमंत्री बहुत आहत दिखाई दे रहे थे। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ‘बिग ब्रदर’ की तरह बर्ताव कर रही है। उन्हें सभी आदेशों पर हस्ताक्षर का दबाव बना रही है। जेडीएस के नेताओं का कहना है कि कांग्रेस मुख्यमंत्री कुमारस्वामी पर कैबिनेट विस्तार के लिए भी दबाव बना रही है। इसके अलावा राज्य के निगमों और दूसरे तमाम बोर्ड में बिना जेडीएस की सलाह के अपने चहेते लोगों को चेयरपर्सन नियुक्त कर दिया है। हालांकि, इस बैठक में जीएडएस सुप्रीमो और पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवगौड़ा भी मौजूद थे। उन्होंने विधायकों को आश्वासन दिया कि लोकसभा चुनाव तक वह गठबंधन के खिलाफ कोई कदम नहीं उठाएंगे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App