ताज़ा खबर
 

पाक जिंदाबाद का नारा लगानेवाली युवती के घर पर हिन्दूवादी संगठन के लोगों ने फेंके पत्थर, की तोड़फोड़; सीएम बोले नक्सलियों से है संबंध

अमूल्या लियोना ने तीन बार ‘पाकिस्तान जिंदाबाद’ के नारे लगाए थे। ‘संविधान बचाओ’ बैनर के तहत लियोना को सभा को संबोधित करने के लिए बुलाया गया था, इस दौरान ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी भी मौजूद थे।

BS Yediyurappa, AIMIM,बीएस येदियुरप्पा ने कहा कि पाकिस्तान समर्थित नारे लगाने वाली लड़की का नक्सलियों से संबंध है।

ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुसलमीन (AIMIM) चीफ असदुद्दीन ओवैसी की रैली पाक समर्थित नारे लगाने वाली अमूल्या लियोना के  चिकमंगलूर स्थित घर पर कुछ हिंदूवादी संगठन के कार्यकर्ताओं ने पत्थरबाजी  और  तोड़फोड़ की। पुलिस का कहना है कि इस मामले में केस दर्ज किया गया है और जांच की जा रही है।

अमूल्या के घर सुरक्षा बढ़ा दी गई है। वहीं दूसरी ओर, कर्नाटक के मुख्यमंत्री बी एस येदियुरप्पा ने शुक्रवार को कहा कि संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) के विरोध में आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान पाकिस्तान के समर्थन में नारे लगाने वाली युवती का संबंध पूर्व में नक्सलियों से रह चुका है।

येदियुरप्पा ने कहा, ‘‘ महत्वपूर्ण यह है कि अमूल्या के पीछे कौन से संगठन हैं और उसे कौन पोषित कर रहे हैं, अगर हमने उन संगठनों के खिलाफ कार्रवाई नहीं की तो चीजें रूकेंगी नहीं। प्राथमिक तौर पर यह स्पष्ट है कि इस तरह की घटनाओं के माध्यम से कानून -व्यवस्था को बाधित करने का षडयंत्र हैं।

मैसुरू में संवाददाताओं से बात करते हुए उन्होंने कहा, ‘‘ जो संगठन उसके पीछे है, उसकी जांच की जाए तो चीजें सामने आएगी। यह स्पष्ट है कि पूर्व में उसका नक्सलियों से संबंध रह चुका है। इसके बाद उसे सजा मिलनी चाहिए और संगठनों के खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए जो उसके पीछें हैं।’’ मुख्यमंत्री ने कहा कि अमूल्या के पिता ने कहा है कि उसे सजा मिलनी चाहिए और जमानत नहीं मिलनी चाहिए और वह उसका बचाव नहीं करेंगे।

अमूल्या के पिता वाजी ने कहा कि उनकी बेटी के खिलाफ कानून के तहत कार्रवाई होनी चाहिए ताकि वह खुद को सुधार सके।उन्होंने कहा, ‘‘ यह गलती माफी के काबिल नहीं है। उसने भारतीय लोगों का काफी ठेस पहुंचाया है। मैं बेहद परेशान हूं…कानून के अनुसार उसके खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए, वह करीब 19 साल की है। हमें यह पता लगाना होगा कि उसने ऐसा क्यों कहा और कौन इसके पीछे है।’’

गौरतलब है ‘संविधान बचाओ’ बैनर के तहत लियोना को सभा को संबोधित करने के लिए बुलाया गया था। अमूल्या लियोना ने तीन बार ‘पाकिस्तान जिंदाबाद’ के नारे लगाए थे। इस दौरान ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी भी मौजूद थे।
अमूल्या को नारे लगाने के तुरंत बाद हिरासत में ले लिया गया और उसे न्यायिक मजिस्ट्रेट के समक्ष पेश किया गया जिसके बाद उसे 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया। अमूल्या के खिलाफ राजद्रोह का मामला भी दर्ज हुआ है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 OBC क्रीमीलेयर की सीमा बढ़ाकर 11 लाख करने पर विचार कर रही सरकार, पर नए नियम से कई हो जाएंगे आरक्षण दायरे से बाहर
2 CAA के खिलाफ बेंगलुरू में दूसरे दिन भी बवालः ‘कश्मीर मुक्ति’, ‘दलित मुक्ति’ का पोस्टर थामने वाली महिला ली गई हिरासत में
3 Ayodhya Ram Temple: VHP के तीन दशक पुराने मॉडल में होगा बदलाव, ऊंचाई बढ़ाकर होगा राम मंदिर निर्माण
IPL 2020 LIVE
X