ताज़ा खबर
 

‘आतंकवादी’ के बाद BJP और RSS को ‘हिन्दू उग्रवादी’ करार दिया कांग्रेसी सीएम सिद्धारमैया ने

सिद्धारमैया ने बुधवार को कहा था कि भाजपा और आरएसएस आतंकवादी हैं जिसका भाजपा ने कड़ा विरोध किया था।

Author बेंगलुरु | Published on: January 11, 2018 9:20 PM
Karnataka exit polls, exit polls, Chief Minister Siddaramaiah, Siddaramaiah, karnataka assembly election results, karnataka assembly election exit polls, karnataka exit poll results 2018, exit poll karnataka election 2018, bjp, congress, yeddyurappa, rahul gandhi, narendra modi, bharatiya janata party, hindi news, news in Hindi, jansattaकर्नाटक के मुख्यमंत्री सिद्धारमैया। (File Photo)

कर्नाटक के मुख्यमंत्री सिद्धारमैया ने भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (आरएसएस) पर निशाना साधते हुए उन्हें ‘हिन्दू उग्रवादी’ कहा। हालांकि भाजपा ने इस पर तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि वह कांग्रेस ही है जिसने अलगाववादियों का समर्थन किया। भाजपा ने उनके नेताओं के साथ-साथ आरएसएस नेताओं की गिरफ्तारी करने की सिद्धारमैया को चुनौती भी दी। सिद्धारमैया ने बुधवार को कहा था कि भाजपा और आरएसएस ‘आतंकवादी’ हैं जिसका भाजपा ने कड़ा विरोध किया था। सिद्धारमैया ने गुरुवार को उन्हें ‘हिन्दू उग्रवादी’ कहा। जब मुख्यमंत्री से बुधवार के उनके बयान के बारे में पूछा गया तो उन्होंने चामराजनगर में पत्रकारों से कहा, ‘‘मैंने हिन्दुत्व उग्रवादी’’ कहा था। इसके बाद सिद्धारमैया ने मैसूर में पत्रकारों से कहा, ‘‘मैंने कहा था कि वे हिन्दुत्व आतंकवादी हैं। मैं भी हिन्दू हूं लेकिन मैं मानवता के साथ हिन्दू हूं, वे मानवता के बिना हिन्दू हैं। मेरे और उनमें यहीं अंतर है।’’

इस बीच भाजपा सांसद शोभा करंदलाजे ने अटल बिहारी वाजपेयी द्वारा बनाई गई पार्टी को आतंकवादियों से जोड़ने के लिए सिद्धारमैया को गैर जिम्मेदार बताते हुए गुरुवार को आरोप लगाया, ‘‘देश में यदि आज आतंकवाद है तो इसका मुख्य कारण कांग्रेस है बल्कि कश्मीर की हालत के लिए भी वहीं जिम्मेदार है।’’ करंदलाजे ने कांग्रेस पर खालिस्तान आंदोलन को समर्थन देने और बढ़ावा देने का भी आरोप लगाया और कहा, ‘‘हमें इसके कारण कई अधिकारियों, सैनिकों, नेताओं और प्रधानमंत्री तक को खोना पड़ा।’’ करंदलाजे ने यह भी आरोप लगाया कि कांग्रेस ने लिट्टे और उसके नेता प्रभाकरण को शरण दी, वित्तीय मदद की और प्रशिक्षित किया।’’

सिद्धारमैया ने बुधवार को आरोप लगाया था कि भाजपा, आरएसएस और बजरंग दल संगठनों के भीतर आतंकवादी हैं। भाजपा ने इस आरोप को खारिज किया है। सिद्धारमैया के इस बयान पर कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए भाजपा की राज्य इकाई ने उन पर भाजपा-आरएसएस को आतंकवादी संगठन कहकर सांप्रदायिक आधार पर चुनावों का ध्रुवीकरण करने का आरोप लगाया। प्रदेश भाजपा के वरिष्ठ नेता और विधायक सुरेश कुमार ने पूछा कि उन्हें कब गिरफ्तार किया जाएगा क्योंकि वह आरएसएस से है। कुमार ने कन्नड़ में एक ट्वीट में कहा, ‘‘मुझे कब गिरफ्तार किया जाएगा। मुख्यमंत्री ने मेरा नाम एक आतंकवादी के रूप में लिया है क्योंकि मैं आरएसएस से हूं।’’ उन्होंने एक अन्य ट्वीट में कहा, ‘‘मैं भी आरएसएस हूं, मुझे भी गिरफ्तार किया जाए।’’

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 तीन तलाक पर राजीव गांधी कैबिनेट से इस्तीफा देने वाले बुजुर्ग नेता ने कहा- मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के इशारे पर चल रही कांग्रेस
2 शिवसेना का अनुरोध- राष्ट्रवाद पर अपना रुख साफ करे आरएसएस और ‘भक्त’
3 2जी घोटाला: ए राजा ने मनमोहन सिंह की चुप्पी पर उठाए सवाल, किताब में लिखा- सीएजी विनोद राय थे सूत्रधार