ताज़ा खबर
 

असेंबली चुनाव लड़ रहे बीजेपी कैंडिडेट की संपत्ति 1223 करोड़ रुपए! पिछली सरकार में थे मंत्री, 18 महीने में 160 करोड़ बढ़ी इनकम

नागराज के चुनावी हलफनामे से सामने आया है कि बीते 18 महीनों में उनकी संपत्ति में 160 करोड़ रुपए की बढ़ोतरी हुई है।

Author Updated: November 16, 2019 9:53 PM
बीजेपी के उम्मीदवार एमटीबी नागराज। फोटो: PTI

कर्नाटक की होस्कोटे सीट से बीजेपी के उम्मीदवार एमटीबी नागराज ने चुनाव आयोग को अपनी कुल संपत्ति से जुड़ी जानकारी दी है। चुनावी हलफनामे में बीजेपी उम्मीदवार ने बताया है कि उनके पास 1223 करोड़ रुपए की संपत्ति है। कांग्रेस-जेडीएस के गठबंधन वाली सरकार में मंत्री रहे नागराज की पिछले 18 महीने में 160 करोड़ इनकम बढ़ी है।

नागराज के चुनावी हलफनामे से सामने आया है कि बीते 18 महीनों में उनकी संपत्ति में 160 करोड़ रुपए की बढ़ोतरी हुई है। हलफनामे के मुताबिक उनकी कुल संपत्ति अप्रैल 2018 तक 1,063 करोड़ रुपए थी। बता दें कि सुप्रीम कोर्ट से अयोग्य करार दिए जाने और चुनाव लड़ने की छूट मिलने के बाद वह पांच दिसंबर को होने वाले उप-चुनाव में एकबार फिर अपनी किस्मत आजमा रहे हैं।

बीजेपी प्रवक्ता मधु सूदना ने बताया, ‘नागराज देश के सबसे अमीर राजनेताओं में से एक हैं, वह जब-जब विधानसभा चुनाव लड़ें उन्होंने अपनी पत्नी और परिजनों की करोड़ों रुपये की संपत्ति का खुलासा किया है।’

66 वर्षीय नागराज, बेंगलुरू ग्रामीण जिले की प्रतिष्ठित विधानसभा सीट से तीन बार के विधायक हैं, जो टेक हब से लगभग 30 किलोमीटर दूर है। वह कांग्रेस-जेडीएस सरकार में हाउसिंग मिनिस्टर रह चुके हैं। दलबदल विरोधी कानून के तहत उन्हें कर्नाटक विधानसभा स्पीकर रमेश कुमार ने अयोग्य करार दिया था। नागराज उन 17 विधायकों में शामिल हैं, जिन्होंने कांग्रेस-जेडीएस सरकार से बगावत की थी, जिसके चलते गठबंधन की सरकार गिर गई थी।

चुनाव आयोग के एक अधिकारी ने बताया ‘नागराज ने अगस्त के पहले सप्ताह तक 53 बचत बैंक खातों में प्रत्येक में 90 लाख रुपए के हिसाब से 47.70 करोड़ रुपए जमा करने का खुलासा किया है और जुलाई में सावधि जमा के रूप में एक और 1.16 करोड़ रुपए की भी जानकारी दी है।’

मालूम हो कि कर्नाटक की 15 विधानसभा सीटों पर उपचुनाव होना है। हाल में सुप्रीम कोर्ट ने कांग्रेस-जेडीएस के 17 विधायकों को अयोग्य करार दे दिया था, जिसके चलते इन सीटों पर उपचुनाव होना है। बीजेपी द्वारा कांग्रेस-जद(एस) से आए नेताओं को टिकट देने को लेकर पार्टी के भीतर असंतोष पैदा हो गया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 डिबेट में मुस्लिम चांसलर से भिड़ गए मुसलमान नेता- बीच में टांग मत अड़ाओ, तुम्हारी हैसियत क्या है?
2 20 दिन तक प्रशांत किशोर की कंपनी ने किया था जगनमोहन रेड्डी का इलेक्शन मैनेजमेंट, YSRCP ने चुकाए 37.5 करोड़ रुपए!
3 राफेल सौदे में CRPC के तहत केस दर्ज क्यों नहीं करवाते बुद्धू शौरी और यशवंत सिन्हा? जैसा मैंने भी करवाया था, बीजेपी सांसद ने पूछा
जस्‍ट नाउ
X