scorecardresearch

बीजेपी विधायक और पूर्व मंत्री का दावा- 36000 मंदिरों को तोड़कर बनाई गईं मस्जिद, कानूनी लड़ाई लड़कर सबको वापस लेंगे

पूर्व मंत्री केएस ईश्वरप्पा ने कहा कि अभी तक छात्रों ने सिर्फ आक्रांताओं और देश की संस्कृति को नष्ट करने वालों के महिमामंडन को पढ़ा है। ऐसे में ये सरकार का कर्तव्य है कि भावी युवा पीढ़ी को सही इतिहास पढ़ाया जाए।

ks eshwarappa| temple| mosque
भाजपा विधायक केएस ईश्वरप्पा (Photo Source- ANI)

वाराणसी में ज्ञानवापी मस्जिद और मथुरा में शाही ईदगाह मस्जिद को लेकर चल रहे विवाद के बीच कर्नाटक के भाजपा विधायक केएस ईश्वरप्पा ने शुक्रवार को 36,000 मंदिरों को वापस हासिल करने का आह्वान किया। बोम्मई सरकार में पूर्व मंत्री ने कहा कि हम उन्हें अपने मंदिरों पर मस्जिद बनाने की इजाजत नहीं दे सकते।

न्यूज़ एजेंसी एएनआई की रिपोर्ट के अनुसार, भारतीय जनता पार्टी के नेता ने दावा किया कि 36,000 मंदिरों को नष्ट कर दिया गया और उन पर मस्जिदों का निर्माण किया गया था। विधायक ईश्वरप्पा ने कहा कि उन्हें कहीं और मस्जिदें बनाने दें और नमाज अदा करने दें। लेकिन हम उन्हें अपने मंदिरों पर मस्जिद बनाने की अनुमति नहीं दे सकते। सभी 36,000 मंदिरों को हिंदू कानूनी रूप से दोबारा हासिल किया जाएगा।

जिन्ना पर पाठ क्यों? इसके अलावा उन्होंने जिन्ना के भाषण को स्कूल के पाठ्यक्रम का हिस्सा बनाए जाने पर सवाल उठाया। उन्होंने कहा कि क्या आरएसएस के संस्थापक केबी हेडगेवार के भाषण पर एक पाठ के बजाय जिन्ना पर एक पाठ को पाठ्यक्रम में शामिल किया जाना चाहिए था? हेडगेवार का जो भाषण स्कूली पाठ्यपुस्तकों में शामिल किया गया था, उसका उद्देश्य संस्कृति और देशभक्ति का परिचय देना था।

वहीं, दूसरी ओर कर्नाटक के बीदर जिले में एक ताजा मंदिर-मस्जिद विवाद सामने आया है। जहां विश्व हिंदू परिषद (VHP) ने दावा किया कि बसवकल्याण में एक दरगाह वास्तव में एक बासवन्ना मंदिर थी। विहिप ने मांग की है कि सरकार इस विवाद में हस्तक्षेप करे और बासवन्ना के अनुयायियों को न्याय दिलाए। वीएचपी ने दावा किया कि इस बात के स्पष्ट सबूत हैं कि दरगाह ऐतिहासिक रूप से एक मंदिर थी।

तेलंगाना भाजपा प्रमुख की ओवैसी को चुनौती: इससे पहले तेलंगाना भाजपा प्रमुख बंदी संजय ने एआईएमआईएम अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी को चुनौती दी थी कि वह राज्य में सभी मस्जिदों की खुदाई करें ताकि उनके नीचे क्या है पता किया जा सके। बंदी संजय कुमार ने कहा था कि अगर शिवलिंग मिल जाते हैं तो मुसलमानों को मस्जिदें हिंदुओं को देनी होंगी और अगर शव मिले तो मुसलमान उन पर दावा कर सकते हैं। उन्होंने तेलंगाना में भाजपा के सत्ता में आने पर उर्दू भाषा पर प्रतिबंध लगाने और अल्पसंख्यक आरक्षण को खत्म करने का संकल्प लिया।

पढें राष्ट्रीय (National News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.