ताज़ा खबर
 

जब प्रशांत किशोर से पूछी गई मोदी की खूबी, बताया- बहुत अच्छे श्रोता हैं

करण थापर ने उनसे एक दूसरा सवाल पूछते हुए कहा कि नरेंद्र मोदी कमजोरियां क्या हैं? प्रशांत किशोर ने इस सवाल के जवाब में कहा कि मेरे जैसा छोटा व्यक्ति उनकी कमजोरियों के बारे में नहीं बता सकता है।

चुनाव रणनीतिकार प्रशांत किशोर (एक्सप्रेस आर्काइव फोटो)

एक इंटरव्यू के दौरान प्रशांत किशोर से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बारे में कई सवाल किये गए। जब उनसे एंकर ने पूछा कि क्या नरेंद्र मोदी से आसानी से बात की जा सकती है। इसका जवाब देते हुए प्रशांत किशोर ने कहा कि वह बहुत अच्छे श्रोता है।

पत्रकार करन थापर प्रशांत किशोर से नरेंद्र मोदी के व्यक्तित्व के विषय पर सवाल कर रहे थे। इसी इंटरव्यू के दौरान उन्होंने पूछा कि लोग कहते है कि नरेंद्र मोदी को भारतीय लोगों की अच्छी समझ है? वह अच्छे से इस बात का अनुमान लगा लेते हैं कि लोग क्या महसूस करते हैं? प्रशांत किशोर ने उनके इस सवाल का जवाब देते हुए बताया कि यह सब उनके अनुभव की वजह से है। अगर आप किसी एक चीज़ में 40 वर्ष बिताते हो, तो निश्चित रूप से आप होशियार और बुद्धिमान होंगे। यह सब उनके अनुभव का ही परिणाम है।

आगे उन्होंने यह भी कहा कि वह सहज व्यक्ति भी हैं। मुझे लगता है कि सहजता भी अनुभव से ही आती है। करण थापर ने उनसे एक दूसरा सवाल पूछते हुए कहा कि नरेंद्र मोदी कमजोरियां क्या हैं? प्रशांत किशोर ने इस सवाल के जवाब में कहा कि मेरे जैसा छोटा व्यक्ति उनकी कमजोरियों के बारे में नहीं बता सकता है। उनके इस जवाब पर करन थापर ने पूछा कि उनके साथ आपने एक विश्लेषक के रूप में काम किया है। उस आधार पर आप क्या जानते हैं? प्रशांत किशोर ने कहा कि अगर मुझे प्रश्न का उत्तर देने के लिए मजबूर किया जाता है तो मैं थोड़ा अलग तरीके से इसका जवाब दूंगा।

उन्होंने कहा, एक नेता के रूप में वह थोड़ा उदार व्यक्ति है। आगे उन्होंने कहा कि हो सकता है कि यह उनकी कमजोरी हो। मैं इस बात में नहीं पड़ना चाहता कि उनकी कमजोरी क्या है। लेकिन मुझे लगता है कि कुछ ऐसे क्षेत्र है जहां वह शायद और बेहतर कर सकते हैं।

अपने सवाल जवाब का सिलसिला बढ़ाते हुए करन थापर ने उनसे पूछा कि मोदी जी किसी से नाराज़ होते है तो क्या उसके ख़िलाफ़ हो जाते है? क्या वह बातचीत के दौरान बातों को ध्यान से सुनते है? प्रशांत किशोर ने उनके इस सवाल पर कहा कि वह एक बहुत अच्छे श्रोता है। उनके इस जवाब पर करन थापर ने उनको टोकते हुए पूछा कि क्या वह बातचीत को रोकने का प्रयास नहीं करते? इसका जवाब देते हुए प्रशांत किशोर ने कहा कि आप उनसे जब बात कर रहे होते है या उनके साथ काम कर रहे होते है तो वह पूरे मन और आत्मा से बातों को सुनते हैं।

Next Stories
1 किसान आंदोलन को लेकर ममता बनर्जी से मिलेंगे राकेश टिकैत, चुनाव के समय भी गए थे कोलकाता
2 यूपी के प्रयागराज में शुरू हुई ऑनलाइन श्राद्ध की योजना, लाइव दिखाया जाएगा अस्थि विसर्जन
3 कांग्रेस प्रवक्ता बोले- बीच में फुटबॉल न बनो तो हाथ जोड़ संबित पात्रा ने कहा- गलती हो गई
ये पढ़ा क्या?
X