अपार्टमेंट से कूद इंजीनियरिंग छात्रा ने किया था सुसाइड, एक महीने तक पेरेंट्स ने घर में रखा शव, दोबारा होगा पोस्टमार्टम

19 वर्षीय इंजीनियरिंग रितू यादव ने कथित तौर पर 20 अप्रैल को अपार्टमेंट से कूदकर सुसाइड कर लिया था।

wife, daughter, DG, corporate matters, committed suicide
तस्वीर का इस्तेमाल प्रतिकात्मक तौर पर किया गया है।

ग्रेटर नोएडा के एक अपार्टमेंट से कूदकर कथित सुसाइड करने वाली लड़की के शव का दोबारा से पोस्टमार्टम कराने का आदेश कन्नौज के जिला प्रशासन ने मंगलवार को दिया। लड़की के परिवार वालों ने शव को अपने ही घर में तीस दिनों से रखा हुआ था। पुलिस ने शव को अपने कब्जे में लेकर दोबारा से पोस्टमार्टम के लिए मुर्दाघर भेज दिया। लड़की के पिता ने शव का अंतिम संस्कार नहीं किया था, वे दोबारा से पोस्टमार्टम कराने की मांग कर रहे थे। इसके साथ ही लड़की के पिता ने मांग की थी कि इसे सुसाइड ना समझकर हत्या का मामला दर्ज किया जाए।

कन्नौज के डीएम अनुज कुमार झा ने मंगलवार को बताया, ‘मैंने तीन डॉक्टरों के पैनल द्वारा पोस्टमार्टम किए जाने और पूरी प्रक्रिया की वीडियो बनाने का आदेश दिया है।’ साथ ही बताया कि लड़की का शव एसडीएम की मौजूदगी में अपने कब्जे में ले लिया गया है और पोस्टमार्टम बुधवार को होगा।

Read Also: Facebook पर डाला ‘सुसाइड नोट’, फिर ट्रेन के सामने कूदकर दे दी जान

19 वर्षीय इंजीनियरिंग रितू यादव ने कथित तौर पर 20 अप्रैल को अपार्टमेंट से कूदकर सुसाइड कर लिया था। छात्रा के पिता डॉ. विशम्भर सिंह ने गौतमबुद्ध नगर में हुए पहले पोस्टमार्टम पर सवाल उठाए थे। उन्होंने अपनी बेटी का शव अपने घर में केमिकल्स की मदद से कन्नौज के अपने पैतृक घर में रखा हुआ था। पिता की मांग थी कि रितू के साथ अपार्टमेंट में रहने वालीं चार लड़कियों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज किया जाए। अभी ये चारों लड़कियां आत्महत्या के लिए उकसाने के आरोप में जेल में हैं।

सिंह ने बताया कि दूसरी बार पोस्टामार्टम के बाद ही शव का अंतिम संस्कार किया जाएगा। साथ ही उन्होंने बताया कि पुलिस ने मुझे भरोसा दिलाया था कि वे घटना के वक्त फ्लैट में मौजूद विशाल के खिलाफ कार्रवाई करेंगे। विशाल का नाम सुसाइड नोट में लिखा हुआ था, रितू के साथ चार लड़कियों ने जब मारपीट की तो उस वक्त वह फ्लैट में मौजूद था।

Read Also: पंखे से लटककर फैशन डिजाइनर हिना ने दी जान, सुसाइड नोट में लिखा I Love You मम्मा और अब्बा

बिहार और झारखंड की रहने वालीं रिचा, विजया, प्रीति, समारा के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है। ये चारों रितू के साथ फ्लैट शेयर करती थीं। रितू के पिता को शक है कि उसकी बेटी की हत्या करके उसे इमारत से नीचे फेंका गया है। उन्होंने पहले हुए पोस्टमार्टम पर भी सवाल उठाए। जब गौतमबुद्ध नगर पुलिस ने दोबारा से पोस्टमार्टम कराए जाने की मांग पर कोई जवाब नहीं दिया तो उन्होंने शव का अंतिम संस्कार ना करने का फैसला किया। उन्होंने शव को एक गढ़ा खोदकर उसमें रखा और इसे एक लड़की के फट्टे से ढका हुआ था।

Read Also: 14 साल पहले पिता के लिए कर्ज को नहीं चुका पाया, किसान ने मां के साथ की सुसाइड

अपडेट