ताज़ा खबर
 

Kannauj Accident: ट्रक-बस की टक्कर के बाद लगी भीषण आग, जिंदा जल गए 20 से ज्यादा यात्री; DNA टेस्ट से होगी मृतकों की पहचान

Kannauj Bus Accident: आईजी (कानपुर रेंज) मोहित अग्रवाल ने कहा कि बस में लगभग 45 लोग सवार थे। 25 लोगों को बचाया गया, जिनमें से 12 को मेडिकल कॉलेज तिर्वा में और 11 को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। बस पूरी तरह जलकर खाक हो गई।

कन्नौज में भीषण सड़क हादसा फोटो- एएनआई

Kannauj Bus Accident: उत्तर प्रदेश के कन्नौज (Kannauj) में शुक्रवार देर रात भीषण सड़क हादसे (Road Accident) से हड़कंप मच गया। जहां जीटी रोड हाइवे पर लग्जरी स्लीपर बस और एक ट्रक में जबरदस्त भिड़ंत हो गई, जिससे बस में आग लग गई। इस हादसे में अभी तक करीब 15-20 लोगों के मरने की खबर सामने आई है। वहीं, 18- 20 लोग मिसिंग हैं और कई लोग बुरी तरह घायल बताए जा रहे हैं। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, बस में तकरीबन 45 सवारियां मौजूद थीं। फिलहाल मृतकों का सटीक आंकड़ा सामने नहीं आ सका है।

पुलिस का बयान: आईजी (कानपुर रेंज) मोहित अग्रवाल के मुताबिक, “शव बुरी तरह से जल चुके हैं, उनकी हड्डियां बिखरी हुई हैं, इसलिए केवल डीएनए टेस्ट से ही मौत का आंकड़ा तय किया जा सकेगा। प्रथमदृष्टया बस में आठ से लोगों के जिंदा जलने की आशंका है। लेकिन नुकसान इतना व्यापक है कि हताहतों की संख्या केवल डीएनए परीक्षण के माध्यम से निर्धारित की जा सकती है।”

सड़क हादसे के बाद जलती बस। (फोटोः जनसत्ता)

भीषण हादसे में कई जिंदा जले: आईजी मोहित अग्रवाल ने बताया कि बस में लगभग 45 लोग सवार थे। 25 लोगों को बचाया गया, जिनमें से 12 लोगों को मेडिकल कॉलेज तिर्वा में और 11 लोगों को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। 2 लोग पूरी तरह से सुरक्षित थे और उन्हें घर भेज दिया गया था। 18-20 लापता हैं, हो सकता है कि वे मर गए लेकिन यह अभी तक निश्चित नहीं है।

मुआवजे का एलान: सीएम योगी आदित्यनाथ ने इस हादसे में मृतकों के परिजनों को 2 लाख और घायलों को 50-50 हजार देने की घोषणा की है।  इसके अलावा कैबिनेट मंत्री रामनरेश अग्निहोत्री, विधायक अर्चना पांडेय और आईजी (कानपुर रेंज) को को घटनास्थल पर जाने का तत्काल निर्देश दिया। सीएम ने पूरे मामले की कन्नौज डीएम से विस्तृत रिपोर्ट मांगी है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App। जनसत्‍ता टेलीग्राम पर भी है, जुड़ने के ल‍िए क्‍ल‍िक करें।

Next Stories
1 Delhi Gangrape Case: अंतिम इच्छा पूछने जैसी कोई प्रक्रिया नहीं, कैदियों के परिजनों को दी जा चुकी है सूचना
2 Delhi Assembly Polls 2020: दिल्ली में ‘दिल की बात कांग्रेस के साथ’ संवाद शुरू
3 Delhi Assembly Polls 2020: केंद्र सरकार ने दिल्ली के फंसे हुए काम पूरे किए: नड्डा
ये पढ़ा क्या?
X