ताज़ा खबर
 

कन्हैया को नहीं मिली हैदराबाद यूनिवर्सिटी में जाने की इजाजत, गेट के बाहर ही मीडिया से की बात

कन्हैया कुमार ने कहा, ‘‘सरकार ने रोहित वेमुला के मुद्दे को दबाने के लिए जेएनयू मुद्दे का इस्तेमाल किया।
Author हैदराबाद | March 23, 2016 21:25 pm
जेएनयू छात्रसंघ अध्यक्ष कन्हैया कुमार। (पीटीआई फाइल फोटो)

जेएनयू छात्र संघ के नेता कन्हैया कुमार को बुधवार (23 मार्च) को विश्वविद्यालय कैंपस में प्रवेश करने की इजाजत नहीं दी गई। वे वहां छात्रों को संबोधित करने पहुंचे थे। इससे पहले कन्हैया केंद्र सरकार पर आरोप लगाया कि रोहित वेमुला के आत्महत्या मुद्दे और इसके बाद के घटनाक्रमों से लोगों का ध्यान हटाने के जेएनयू के मुद्दे को हवा दी गई। विमान से बुधवार (23 मार्च) को दोपहर यहां आने के बाद एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए कुमार ने कहा कि संघर्ष तब तक जारी रहेगा जब तक केंद्र सरकार ‘रोहित कानून’ नहीं लाती है। उनके साथ में माकपा के स्थानीय नेता भी थे।

उन्होंने कहा, ‘‘सरकार ने रोहित वेमुला के मुद्दे को दबाने के लिए जेएनयू मुद्दे का इस्तेमाल किया। लेकिन हम सब जानते हैं कि अगर हम अलग भी हों तो जब देश में इंसाफ की बारी आती है तो हम एक हैं। यही कारण है कि जैसे ही मैं जेल से बाहर आया जेएनयूएसयू की ओर से मैंने सोचा कि हैदराबाद जाउंगा। दिल्ली के बाहर मेरी पहली यात्रा हैदराबाद की होगी।’’

उन्होंने कहा कि मौजूदा परिस्थितियों में वेमुला की मां भगत सिंह की मां की तरह हैं। सामाजिक न्याय के लिए संयुक्त कार्रवाई समिति के आमंत्रण पर कुमार को कैंपस में एक बैठक को संबोधित करना था।

वहीं दूसरी ओर हैदराबाद केंद्रीय विश्वविद्यालय (एचसीयू) के 25 छात्रों और दो संकाय सदस्यों को कुलपति अप्पा राव पोडिले के आवास में तोड़फोड़ करने और पुलिसकर्मियों पर पथराव करने की घटनाओं के सिलसिले में बुधवार (23 मार्च) को गिरफ्तार कर लिया गया।

गचीबोअली पुलिस निरीक्षक जे रमेश के मुताबिक सरकारी संपत्ति को नुकसान पहुंचाने, अनाधिकार प्रवेश करने, सरकारी अधिकारियों को अपना कर्तव्य निभाने से रोकने और मंगलवार (22 मार्च) की घटना के सिलसिले में आईपीसी की अन्य संबद्ध धाराओं के तहत अब तक दो मामले दर्ज किए गए हैं।

Read Also:

हैदराबाद यूनिवर्सिटी हिंसा में 25 छात्र गिरफ्तार, सरकार पर कैंपस में ‘गंदी राजनीति’ करने का आरोप

कन्हैया का हैदराबाद यूनिवर्सिटी दौरा: कक्षाएं 4 दिन के लिए स्थगित, किसी बाहरी को कैंपस जाने की मनाही

हैदराबाद पहुंचे कन्हैया कुमार ने कहा- यूनिवर्सिटी जाने की इजाजत नहीं मिली तो कैंपस के बाहर बोलूंगा

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. L
    linuxgig
    Mar 23, 2016 at 9:18 pm
    इसे गद्दार को कोई ये समझो की रोहित ने आतम हत्या की थी और भकत सिंह देश के लिए कुर्बान हुए थे. ये तो हमारे ग्रंथो में भी लिखा है की आत्म हत्या सबसे बड़ा पाप है और जो प्रेशर में आकर आत्म हत्या कर ले वो हमारा देश का हीरो कभी नहीं हो सकता ..जय हिन्द
    (0)(0)
    Reply