ताज़ा खबर
 

कांग्रेस सांसद कमलनाथ ने राहुल गांधी को लिखा खत, ओबीसी नेता की पुण्य तिथि में शामिल होने के गिनाए फायदे

मध्यप्रदेश में ओबीसी की जनसंख्या काफी ज्यादा है और ऐसी उम्मीद है कि बड़ी संख्या में यह लोग इस कार्यक्रम में हिस्सा लेंगे। पार्टी चुनाव प्रचार मोड में है और निमाद माल्वा क्षेत्र के 61 विधानसभा क्षेत्रों के लिए यह जरूरी कार्यक्रम है।

Author Published on: June 1, 2018 6:14 PM
कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और पार्टी नेता कमलनाथ

कांग्रेस नेता कमलनाथ ने पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी को एक ख़त लिखा है। इस खत में उन्होंने राहुल गांधी से मध्यप्रदेश में एक ओबीसी नेता की पुण्यतिथि में आने की अपील की है और इस कार्यक्रम में शामिल होने के फायदे उन्हे गिनाए हैं। कमलनाथ के ऑफिसियल लेटर पैड पर लिखे गए इस ख़त में लिखा गया है कि-

‘स्वर्गीय श्री सुभाष यादव मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और ओबीसी के एक बड़े नेता थे। 26 जून 2018 को उनकी पुण्यतिथि है। खरगोन जिले के कसरावत में इस दिन दोपहर 12 बजे एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया है। मध्यप्रदेश में ओबीसी की जनसंख्या काफी ज्यादा है और ऐसी उम्मीद है कि बड़ी संख्या में यह लोग इस कार्यक्रम में हिस्सा लेंगे। पार्टी चुनाव प्रचार मोड में है और निमाद माल्वा क्षेत्र के 61 विधानसभा क्षेत्रों के लिए यह जरूरी कार्यक्रम है।
मैं आपसे निवेदन करता हूं कि आप इस कार्यक्रम में जरूर शामिल हों, इसका नाम संविधान बचाओ-देश बचाओ कार्यक्रम होगा। मैं आपको ध्यान दिलाना चाहता हूं कि इस कार्यक्रम में आपका शामिल होना जरूरी है’।

आपका विश्वासी,
कमलनाथ

आपको बता दें कि 6 जून को मध्य प्रदेश के मंदसौर में राहुल गांधी एक रैली को संबोधित करने वाले हैं। दरअसल पिछले साल 6 जून को ही मंदसौर में किसान रैली के दौरान पुलिस फायरिंग में 5 किसानों की मौत हो गई थी। मध्यप्रदेश में इसी साल के अंत में विधानसभा चुनाव होने हैं। विधानसभा चुनाव को देखते हुए सभी पार्टियां अभी से ही तैयारियों में जुट गई हैं। यहां कांग्रेस और बीजेपी के बीच जोरदार मुकाबले की पूरी उम्मीद है।

इस बीच एक खबर यह भी आई है कि कांग्रेस इस चुनाव में बसपा सुप्रीमो मायावती से गठबंधन कर सकती है। दरअसल यूपी से सटे मध्यप्रदेश के कुछ इलाकों में बसपा की पकड़ अच्छी मानी जाती है। लिहाजा कांग्रेस नेता कमलनाथ जल्द ही मायावती से मिलकर चुनाव पूर्व गठबंधन को लेकर चर्चा कर सकते हैं। निश्चित तौर पर अगर मध्यप्रदेश में बसपा और कांग्रेस गठबंधन बीजेपी के खिलाफ हुंकार भरता है तो राज्य की शिवराज सिंह चौहान सरकार के लिए मुश्किल खड़ी होगी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 कैराना हारे तो क्या हुआ…इंडोनेशिया, मलेशिया तो जीत रहे हैं मोदी- उपचुनाव नतीजों पर यशवंत सिन्हा का तंज
2 मोदी को हराने आप और कांग्रेस में गठबंधन के आसार? केजरीवाल ने दिया ये ऑफर
3 पीएम बनने का कितना प्रेशर, नरेंद्र मोदी ने दिया यह जवाब