scorecardresearch

शिव-पार्वती’ को सिगरेट पीते दिखाने के बाद मणिमेकलई का BJP पर तंज -भारत कभी हिंदू राष्ट्र नहीं बन सकता

काली के पोस्टर पर छिड़े विवाद के बीच लेखिका तसलीमा नसरीन ने कहा कि हिंसा ‘फ्रीडम ऑफ एक्सप्रेशन’ नहीं है। किसी के सिर पर इनाम रखना और लोगों की जान लेने के लिए कहना ‘फ्रीडम ऑफ एक्सप्रेशन’ नहीं है।

शिव-पार्वती’ को सिगरेट पीते दिखाने के बाद मणिमेकलई का BJP पर तंज -भारत कभी हिंदू राष्ट्र नहीं बन सकता
लीना मणिमेकलाई ने शेयर की फोटो (Photo Source- twitter/ @LeenaManimekali

अपनी डॉक्यूमेंट्री ‘काली’ को लेकर छिड़े विवाद के बीच डायरेक्‍टर लीना मणिमेकलई लगातार ऐसे ट्वीट कर रही हैं जिससे यह विवाद और बढ़ता जा रहा है। अब लीना ने BJP पर तंज कसते हुए कहा है कि भारत कभी हिंदू राष्ट्र नहीं बन सकता है।

लीना मणिमेकलई ने बीजेपी पर निशाना साधते हुए ट्वीट किया, ‘बीजेपी पेरोल ट्रोल आर्मी को पता नहीं है कि लोक थिएटर कलाकार अपने प्रदर्शन के बाद कैसे खुद को शांत करते हैं। यह मेरी फिल्म से नहीं है। यह रोजमर्रा के ग्रामीण भारत से है जिसे ये संघ परिवार अपनी अथक नफरत और धार्मिक कट्टरता से नष्ट करना चाहते हैं। हिंदुत्व कभी भारत नहीं बन सकता।”

मैं कहीं भी सुरक्षित महसूस नहीं करती: इससे पहले लीना मणिमेकलई ने ब्रिटिश अखबार ‘द गार्जियन’ को को दिए इंटरव्यू को शेयर करते हुए ट्विटर पर लिखा था, ‘‘ऐसा लगता है कि पूरा देश- जो अब सबसे बड़े लोकतंत्र से सबसे बड़ी नफरत की मशीन बन गया है, मुझे सेंसर करना चाहता है। मैं इस समय कहीं भी सुरक्षित महसूस नहीं कर रही।’’ दरअसल, उनकी डॉक्यूमेंट्री ‘काली’ के पोस्टर में देवी को धूम्रपान करते और LGBTQ का झंडा पकड़े हुए दिखाए जाने के बाद डायरेक्‍टर लीना के खिलाफ कई जगहों पर मामला दर्ज किया गया है।

मिल रही ऑनलाइन धमकियां: इससे पहले लीना ने बताया था कि पिछले हफ्ते विवाद शुरू होने के बाद से उन्हें, उनके परिवार और सहयोगियों को दो लाख से ज्यादा ऑनलाइन अकाउंट से धमकियां मिली हैं। डायरेक्टर ने इन ऑनलाइन धमकियों को दक्षिणपंथी हिंदू समूहों द्वारा मॉब लिंचिंग की घटनाओं के समान बताया। यह मजेदार है।

उन्होंने ट्वीट कर लिखा, “क्या ट्विटर इंडिया 2,00,000 नफरत फैलाने वालों के ट्वीट्स को रोकेगा? इन लो लाइफ ट्रोलर्स ने ट्वीट कर वही पोस्टर फैलाया जो उन्हें आपत्तिजनक लगता था। काली की हत्या नहीं की जा सकती। काली का बलात्कार नहीं हो सकता। काली का नाश नहीं हो सकता। वह मृत्यु की देवी हैं।”

वहीं, इस मामले में लीना मणिमेकलई के खिलाफ दिल्ली और उत्तर प्रदेश में दो अलग-अलग FIR दर्ज की गई है। बुधवार (6 जुलाई) को उनके खिलाफ भोपाल और रतलाम में दो और मामले दर्ज किए गए। इस विवाद के बाद तृणमूल कांग्रेस की सांसद महुआ मोइत्रा के खिलाफ भी धार्मिक भावनाओं को आहत करने के आरोप में FIR दर्ज की गई है। दरअसल, महुआ मोइत्रा ने कहा था, “ये आपके ऊपर है कि आप मां काली को किस रूप में लेते हैं। मेरे लिए तो मां काली मांसाहारी और शराब पीने वाली देवी हैं। मुझे इस फिल्म के पोस्टर से कोई आपत्ति नहीं है।”

पढें राष्ट्रीय (National News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

First published on: 07-07-2022 at 07:45:01 pm
अपडेट