चुनाव आता है, तब प्रियंका “राधे मां” बन घूमती हैं- बोले BJP प्रवक्ता, BSP नेता ने यूं किया पलटवार

प्रवक्ता ने इस पर जवाब देते हुए बताया कि वैश्विक महामारी के चलते हम चुनाव से छह महीने पहले राष्ट्रीय चैनल पर जाति की राजनीति पर लड़ रहे हैं और मुख्य मुद्दों से हट रहे हैं।

Priyanka Gandhi, Congress, India News
यूपी के सुल्तानपुर में एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा। (एक्सप्रेस आर्काइव फोटोः अभिनव साहा)

बीजेपी प्रवक्ता केके शर्मा ने शुक्रवार को कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी की तुलना राधे मां से करा दी। उन्होंने हिंदी न्यूज चैनल आज तक पर एक टीवी डिबेट में कांग्रेस पर धर्म के नाम पर राजनीति करने का आरोप लगाया। साथ ही कहा कि जब चुनाव आता है, तब प्रियंका राधे मां बन चादर ओढ़ कर घूमती हैं।

शर्मा के मुताबिक, “यह एक बात नहीं बता सकते कि कांग्रेस ने यूपी की जनता के लिए क्या किया था? अब मैं बताता हूं कि अब इनको क्यों मंदिर की आवश्यकता पड़ रही है। मैं आपको बताना चाहता हूं कि इनको चुनाव के वक़्त मंदिर और मस्जिद इसलिए याद आते हैं…याद दिलाना चाहता हूं पिछले बार भी 2017 और 2019 में यही प्रियंका गांधी, राधे मां बनकर चादर ओढ़ घूम रहीं थीं। यही राहुल गांधी मंदिर-मंदिर घूम रहे थे। जब चुनाव आता है तो ये मंदिर पहुंच जाते हैं।”

बीजेपी प्रवक्ता ने इसके अलावा मायावती के नेतृत्व वाली बसपा पर मंदिर, धर्म और जाति की राजनीति करने का आरोप लगाया। बसपा के सतीश चंद्र मिश्रा ने दावा किया कि 13% ब्राह्मण, 23% दलित के मेल जोल से यूपी में सरकार बनेगी।

इस पर एंकर ने आंकड़े सुनाते हुए सवाल एसपी के प्रवक्ता आशुतोष वर्मा से पूछा, “मायावती ने 15 ब्राह्मण को मंत्री बनाया। 35 चेयरमैन, 15 एमएलसी, 2200 सरकारी वकील, पहला चीफ सेक्रेटरी, जबकि BJP ब्राह्मण को सिर्फ गुलगस्ता भेंट करने के लिए रखा जाता है।” इस चुनाव, को ब्रह्मण से जोड़ने के लिए आपकी क्या कोशिश है?

प्रवक्ता ने इस पर जवाब देते हुए बताया कि वैश्विक महामारी के चलते हम चुनाव से छह महीने पहले राष्ट्रीय चैनल पर जाति की राजनीति पर लड़ रहे हैं और मुख्य मुद्दों से हट रहे हैं। वहीं, BJP प्रवक्ता के बयान “हमे सभी धर्म सभी जाति सभी समुदाय का वोट मिला है” पर कांग्रेस प्रवक्ता सुधींद्र भदौरिया बोले- वोट मिला नहीं, वोट ठगा है।

वहीं, कांग्रेस प्रवक्ता राजेश मिश्रा से एंकर ने सवाल किया, “यूपी को सबसे ज्यादा ब्राह्मण मुख्यमंत्री देने वाली कांग्रेस पार्टी अबकी बार इतना पीछे क्यों है?” राकेश मिश्रा बोले कि ब्राह्मण को वोट मशीन बना रखा है और वहीं कांग्रेस प्रवक्ता ये भी बोले कि “हम ज़मीन पर रहते हैं। 24 घंटे घूमते हैं तो हमारा यह अनुमान है कि 2022 के बाद 30 साल तक भाजपा का सूबे में कोई नाम भी नहीं लेगा।”

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट