ताज़ा खबर
 

लोकसभा में भाजपा पर भड़के ज्योतिरादित्य सिंधिया, बोले- बीजेपी मुझे दलित विरोधी साबित कर दे तो संसद से दे दूंगा इस्तीफा

बीजेपी की मध्यप्रदेश इकाई के अध्यक्ष नंद कुमार सिंह चौहान ने अशोक नगर में ट्रॉमा सेंटर का दलित विधायक गोपीलाल जाटव द्वारा लोकार्पण किए जाने के बाद कथित तौर पर गंगाजल से धुलवाने के मामले में कांग्रेस सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया की कड़ी निंदा की थी।

Jyotiraditya Scindia, Lok sabhaकांग्रेस सांसद और पूर्व केन्द्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया। (FILE Photo-PTI)

मध्य प्रदेश के गुना संसदीय क्षेत्र से कांग्रेस सांसद और पूर्व केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने मंगलवार को बीजेपी पर जबरदस्त निशाना साधा। उन्होंने कहा कि बीजेपी अगर साबित करे दें कि वह दलित विरोधी हैं तो मैं सदन की सदस्यता से इस्तीफा दे दूंगा। उन्होंने मध्य प्रदेश में एक घटना पर आपत्तिजनक टिप्पणी करने के आरोपों में भाजपा के दो सांसदों के खिलाफ विशेषाधिकार प्रस्ताव भी दायर किया। सोमवार को प्रश्नकाल के दौरान बीजेपी सांसद विरेंद्र कुमार तथा मनोहर उतवल ने इस मामले को उठाते हुए दावा किया कि सिंधिया ने संवेदनशील टिप्पणियां का प्रयोग किया और मध्य प्रदेश में ट्रॉमा सेंटर का उद्घाटन में दलित विरोधी गतिविधियों में शामिल होने का दावा किया।

अपने ऊपर लगे आरोपों को खारिज करते हुए सिंधिया ने कहा कि उनके ऊपर लगे आरोपों को आधारहीन और गलत बताते हुए कहा कि यह सदन के सम्मानित सदस्य की गरिमा का अपमान है। विशेषाधिकार प्रस्ताव में सिंधिया ने कहा कि यह आरोप सदन के अन्य सदस्यों और देश भर में टेलीविजन पर लोकसभा की कार्यवाही को देखने वाले लाखों लोगों को निर्दयतापूर्वक गुमराह कर रहे हैं। बीजेपी ने दावा किया था कि कांग्रेस ने दलित बीजेपी विधायक गोपीलाल जाटव द्वारा लोकार्पण किए जाने के बाद ट्रॉमा सेंटर को कथित तौर पर गंगाजल से धुलवाया था। इस मामले को लेकर मध्य प्रदेश विधानसभा में भी सोमवार को इस मुद्दे को लेकर जमकर हंगामा हुआ।

बीजेपी की मध्यप्रदेश इकाई के अध्यक्ष नंद कुमार सिंह चौहान ने अशोक नगर में ट्रॉमा सेंटर का दलित विधायक गोपीलाल जाटव द्वारा लोकार्पण किए जाने के बाद कथित तौर पर गंगाजल से धुलवाने के मामले में कांग्रेस सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया की कड़ी निंदा की थी। चौहान ने कहा, “यह सिंधिया की सामंती मानसिकता का प्रतीक है। भाजपा दलित समाज के किसी भी व्यक्ति का अपमान बर्दाश्त नहीं करेगी। विधायक गोपीलाल जाटव के रूप में यह किसी व्यक्ति का नहीं संपूर्ण भारत के दलित समाज का अपमान किया गया है। सिंधिया के जिस सांसद प्रतिनिधि ने गंगा जल से धोने की बात की है वह उनके इशारे के बिना हो नहीं सकती। भाजपा के लिए समाज के सभी वर्ग समान है, इसलिए हम प्रत्येक वर्ग के सम्मान की सुरक्षा में अपना जी जान लगा देंगे।” चौहान ने आगे कहा, “सिंधिया को सांसद कहलवाना अच्छा नहीं लगता, जब तक उन्हें कोई महाराज कहकर संबोधित नहीं करता, तब तक तसल्ली नहीं होती। सांसद सिंधिया लोकतंत्र में अभी भी बड़ी गफलत पाले बैठे हैं।”

ट्रॉमा सेंटर का 22 जुलाई को सिंधिया को लोकार्पण करना था, मगर एक दिन पहले भाजपा विधायक जाटव ने लोकार्पण कर दिया। इस पर सिंधिया के सांसद प्रतिनिधि कथित तौर पर गंगाजल से ट्रॉमा सेंटर को गंगाजल से धुलवाने का बयान दिया। इसे भाजपा ने मुद्दा बना लिया। सांसद प्रतिनिधि को पद से हटाने के साथ कांग्रेस से निष्कासित किया जा चुका है। इस मामले में सिंधिया ने नंद कुमार चौहान को कानूनी नोटिस भी भेजा है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 काम ना करके दिखाने वाले 381 अधिकारियों को मिली सजा, मोदी को दी गई जानकारी
2 कैग की रिपोर्ट पर अरुण जेटली का जवाब, भारतीय सशस्त्र बल देश की रक्षा के लिए पूरी तरह से है सक्षम
3 डोकलाम विवाद: इंडियन आर्मी के वाइस चीफ ऑफ स्टाफ का बड़ा बयान- हिमालय के बावजूद भारत के लिए खतरा है चीन
यह पढ़ा क्या?
X