जज लोया केस: सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर बोले राहुल गांधी- भारतीय अमित शाह का सच जानते हैं

गांधी ने एक ट्वीट में कहा, ”भारतीय बहुत बुद्धिमान हैं। ज्‍यादातर भारतीय, जिनमें से कई भाजपा में भी हैं, अमित शाह का सच समझते हैं। उनके जैसे लोगों को पकड़ने का सच का अपना तरीका होता है।”

justice loya death, judge loya death case, rahul gandhi
कांग्रेस अध्‍यक्ष ने बिना मामले का जिक्र किए कहा कि ज्‍यादातर भारतीय अमित शाह की असलियत जानते हैं। (Photo: PTI)

सर्वोच्च न्यायालय ने गुरुवार (19 अप्रैल) को केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) के विशेष न्यायाधीश बीएच लोया की कथित रहस्मय मौत के मामले में विशेष जांच दल (एसआईटी) से जांच कराने की मांग वाली याचिका को खारिज कर दिया। न्यायाधीश लोया सोहराबुद्दीन शेख फर्जी मुठभेड़ मामले की सुनवाई कर रहे थे। याचिका में कोई दम न होने की बात कहते हुए प्रधान न्यायाधीश दीपक मिश्रा, न्यायमूर्ति ए.एम.खानविलकर व न्यायमूर्ति डी.वाई.चंद्रचूड़ की पीठ ने कहा कि न्यायाधीश लोया की मौत स्वाभाविक थी। न्यायमूर्ति चंद्रचूड़ ने फैसला सुनाते हुए जनहित याचिका दाखिल करने के तरीके और मामले की सुनवाई के दौरान बंबई उच्च न्यायालय के प्रशासकों की समिति और सर्वोच्च न्यायालय के न्यायाधीशों पर संदेह करने को लेकर नाराजगी जताई।

विपक्ष ने सीधे तौर पर फैसले पर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी, मगर कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी ने इशारों में भारतीय जनता पार्टी अध्‍यक्ष अमित शाह पर निशाना साधा। गांधी ने एक ट्वीट में कहा, ”भारतीय बहुत बुद्धिमान हैं। ज्‍यादातर भारतीय, जिनमें से कई भाजपा में भी हैं, अमित शाह का सच समझते हैं। उनके जैसे लोगों को पकड़ने का सच का अपना तरीका होता है।”

फैसला आने के बाद भाजपा की ओर से कई बयान आए। पार्टी ने कहा कि मामले में दायर याचिका के पीछे राहुल गांधी का ‘हाथ’ था। फैसला सुनाने के तुरंत बाद भाजपा के प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा, “याचिका को राजनैतिक एजेंडे के साथ दाखिल किया गया था।” उन्होंने कहा, “कुछ समय के लिए, कुछ लोगों ने न्यायपालिका का राजनीतिकरण करने की कोशिश की। अदालत ने न्यायाधीश लोया की मौत की एसआईटी जांच की मांग करने वालों को फटकार लगाई है।”

पात्रा ने प्रेस कॉन्‍फ्रंस में कहा, “12 जनवरी 2018 को किसने संवाददाता सम्मेलन किया था? वह राहुल गांधी थे। इस मामले में अदृश्य हाथ या अदृश्य निकाय, जिसके बारे में सर्वोच्च न्यायालय ने कहा है…वह और कोई नहीं राहुल गांधी और कांग्रेस है।”

बीजेपी प्रवक्‍ता ने कहा, “इस संबंध में सभी याचिका राजनीतिक रूप से प्रेरित है और अमित शाह की छवि बिगाड़ने का प्रयास है। आज उन्हें (राहुल गांधी को) सर्वोच्च न्यायालय से करारा जवाब मिल गया।”

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट