ताज़ा खबर
 

जज लोया मौत: कांग्रेस को घेरने का बीजेपी का प्लान लीक, पार्टी ने सांसदों को भेजा था ये ड्राफ्ट

पार्टी की तरफ से सभी सांसदों को यह भी कहा गया है कि केंद्रीय नेताओं द्वारा इस मामले में किए जा रहे ट्वीट्स को रिट्वीट करें। संभव हो तो उसे स्थानीय भाषाओं में सभी सांसद ट्वीट करें। सांसदों को सभी सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म और वॉट्सऐप और एसएमएस सुविधा का भी इस्तेमाल करने की नसीहत दी गई है।

बीजेपी की संसदीय दल की तरफ से बालासुब्रमण्यम कामरसू ने यह चिट्ठी सभी पार्टी सांसदों को लिखी है।

सोहराबुद्दीन शेख फर्जी मुठभेड़ मामले की सुनवाई करने वाले जज बी एच लोया की संदेहास्पद मौत के मामले में सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) कांग्रेस और खासकर राहुल गांधी पर आक्रामक हो गई है। पार्टी के प्रवक्ता गुरुवार (19 अप्रैल) से लगातार कांग्रेस पर हमला बोल रहे हैं और उनसे देश से माफी मांगने की मांग कर रहे हैं। इतना ही नहीं, पार्टी ने इस मुद्दे को देशव्यापी बनाने का प्लान बनाया है और सभी सांसदों को लिखित सलाह दी गई है कि उन्हें इस संदर्भ में क्या-क्या करना है, लेकिन बीजेपी का यह प्लान सोशल मीडिया में लीक हो गया है। बीजेपी की संसदीय दल की तरफ से बालासुब्रमण्यम कामरसू ने यह चिट्ठी सभी पार्टी सांसदों को लिखी है।

19 अप्रैल, 2018 यानी सुप्रीम कोर्ट के फैसले के तुरंत बाद पत्र में लिखा गया है कि सभी सांसद तुरंत लोकल टीवी चैनलों पर अपनी बात रखें और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से जज लोया की मौत के मामले में अमित शाह को बदनाम करने के लिए देश से माफी मांगने की बात कहें। पार्टी की तरफ से कहा गया है कि टीवी चैनलों को बाइट देने के अलावा प्रेस स्टेटमेंट भी जारी करें। प्रेस स्टेटमेंट में क्या लिखना है, इसका पूरा ड्राफ्ट सांसदों को ई-मेल से भेजा गया है। पार्टी ने सांसदों को इस बाबत प्रेस कॉन्फ्रेन्स करने की भी सलाह दी है। साथ ही, जजमेंट की कॉपी पढ़कर उसके फैसलों की व्याख्या किसी वकील की सहायता लेकर करने को कहा है।

पार्टी की तरफ से सभी सांसदों को यह भी कहा गया है कि केंद्रीय नेताओं द्वारा इस मामले में किए जा रहे ट्वीट्स को रिट्वीट करें। संभव हो तो उसे स्थानीय भाषाओं में सभी सांसद ट्वीट करें। सांसदों को सभी सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म और वॉट्सऐप और एसएमएस सुविधा का भी इस्तेमाल करने की नसीहत दी गई है। पार्टी ने एसएमएस में क्या लिखना है, इसका भी ड्राफ्ट भेजा है। चिट्ठी में एसएमएस, वॉट्सऐप और अन्य मैसेजेज प्लेटफॉर्म के लिए सात बिंदुओं में मामले से जुड़ा कंटेंट लिखकर दिया गया है।

ये रही बीजेपी की लीक हुई चिट्ठी:

चिट्ठी में एसएमएस, वॉट्सऐप और अन्य मैसेजेज प्लेटफॉर्म के लिए सात बिंदुओं में मामले से जुड़ा कंटेंट लिखकर दिया गया है।

बता दें कि गुरुवार को सुप्रीम कोर्ट ने जज लोया की मौत की जांच से जुड़ी जनहित याचिका खारिज करते हुए सख्त टिप्पणी की थी कि बिजनेस और राजनीतिक हित साधने के लिए जनहित याचिकाएं दाखिल की जा रही हैं। सुप्रीम कोर्ट ने मामले में याचिकाकर्ताओं के वकील दुष्यंत दवे, इंदिरा जयसिंह और प्रशांत भूषण को फटकार लगाई और कहा कि जिन मुद्दों को लेकर बाजार या चुनाव में लड़ाई करनी चाहिए, उन मुद्दों पर सुप्रीम कोर्ट को अखाड़ा नहीं बनाना चाहिए।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 गुजरात दंगाः नरोदा पाटिया दंगा मामले में पूर्व मंत्री माया कोडनानी निर्दोष, बाबू बजरंगी दोषी करार
2 केरल: सांप्रदायिक तनाव फैलाने की कोशिश, वॉट्सऐप पर वायरल किए तोड़फोड़ के वीडियो
3 10 समर स्पेशल ट्रेन चलाने जा रहा रेलवे, जानें स्टॉपेज, किराया और बाकी डिटेल्स
IPL 2020 LIVE
X