ताज़ा खबर
 

इमरजेंसी से पहले इंदिरा गांधी को संजय गांधी ने मारा था थप्‍पड़, अमेरिकी पत्रकार ने किया था दावा

इंदिरा गांधी ने 1975 में देश में आपातकाल लागू होने की घोषणा की थी। अाज संजय गांधी की पु‍ण्‍यतिथि है।

Author नई दिल्‍ली | June 23, 2016 3:40 PM
इमरजेंसी के दौरान तत्‍कालीन प्रधानमंत्री और उनके पुत्र संजय गांधी के बीच मनमुटाव की खबरें आती रही हैं। (Source: AP)

देश में आपातकाल लागू होने से ठीक पहले एक ऐसी घटना घटी थी जिसने तत्‍कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी को झकझोर कर रख दिया था। अमेरिका के वरिष्‍ठ पत्रकार लुइस एम सिंमस ने दावा किया था कि संजय गांधी ने एक डिनर पार्टी के दौरान तत्‍कालीन प्रधानमंत्री और अपनी मां इंदिरा गांधी को थप्‍पड़ मारा था। प्रतिष्ठित पुलित्‍जर पुरस्‍कार से सम्‍मानित पत्रकार लुइस एम सिमंस देश में इमरजेंसी घोषित होने के दाैरान Washington Post के दिल्‍ली संवाददाता थे। अपनी एक खबर में उन्‍होंने दावा किया था कि एक डिनर पार्टी में संजय गांधी ने इंदिरा गांधी को थप्‍पड़ मारा था।

SEE PHOTOS: 36वीं पुण्‍यतिथि: नसबंदी सहित कई मसलों पर विवाद पैदा करने के लिए मशहूर रहे संजय गांधी के RARE PHOTOS देखें

लुइस के अनुसार, थप्‍पड़ मारने की यह घटना इमरजेंसी लागू होने से पहले एक निजी डिनर पार्टी में हुई थी। लुइस का दावा था कि उन्‍हें यह जानकारी किसी अनाम सूत्र ने बातचीत के दौरान दी थी। लुइस ने उस वक्‍त खबर को लीक नहीं किया और इसे बाद में इस्‍तेमाल किया। लुइस ने बाद में बैंकॉक से यह खबर लिखी। वो कहते हैं कि उन्‍हें पांच घंटे के नोटिस पर भारत छोड़ने के आदेश दिए गए थे। लुइस के मुताबिक उन्‍हें गिरफ्तार दिल्‍ली से बाहर जाने वाले पहले प्‍लेन में बिठाकर भेज दिया गया था।

READ ALSO: रघुराम राजन के पिता को भी झेलनी पड़ी थी सरकार की बेरुखी, राजीव गांधी के चलते RAW प्रमुख नहीं बन पाए थे

लुइस का यह भी दावा था कि उनकी पत्‍नी और दो बेटियां दिल्‍ली में ही रह गई थीं जिनके साथ पुलिस अधिकारियों ने बेहद बुरा बर्ताव किया। सिमंस कहते हैं, ”खुद को दुनिया का सबसे बड़ा लोकतंत्र कहने वाले देश में अगर आपातकाल लग सकता है, तो यह अमेरिका क्‍या, पूरी दुनिया में कहीं भी हो सकता है।

इमरजेंसी खत्‍म होने के बाद गांधी ने एक बैठक के लिए सिमंस को बुलाया था जहां वे सोनिया गांधी और राजीव गांधी से मिले। लुइस कहते हैं कि संजय से कभी उनकी मुलाकात नहीं हुई।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories