ताज़ा खबर
 

Hostel Fees को लेकर JNU छात्रों का बवाल जारी, आज संसद भवन तक होगा मार्च, दिल्ली पुलिस ने यूं कसी कमर

जेएनयू के कुलपति जगदीश कुमार ने विरोध कर रहे छात्रों से रविवार को अपील की कि वे अपनी कक्षाओं में लौट आएं, क्योंकि परीक्षाएं नजदीक हैं। एक वीडियो संदेश में उन्होंने कहा कि उन्हें चिंतित अभिभावकों और छात्रों के ई-मेल आ रहे हैं।

Author नई दिल्ली | Published on: November 18, 2019 9:47 AM
फीस बढ़ोतरी के खिलाफ जेएनयू में प्रदर्शन करते छात्र (फोटो सोर्स – ANI)

जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय छात्र संघ (JNUSU) ने अन्य विश्वविद्यालयों के छात्रों से छात्रावास शुल्क वृद्धि (Hostel Fees Hike) और उच्च शिक्षा को प्रभावित करने वाले अन्य मुद्दों के विरोध में सोमवार (18 नवंबर) को संसद तक निकाले जाने वाले मार्च में शामिल होने की अपील की है। छात्र संघ सोमवार को जेएनयू से संसद की ओर मार्च करेगा। संसद का शीतकालीन सत्र (Parliament Winter Session) भी शुरू हो गया है।

छात्रसंघ ने की आंदोलन की अपीलः जेएनयू छात्रसंघ ने कहा, ‘ऐसे समय में जब देश में शुल्क वृद्धि बहुत अधिक पैमाने पर हो रही है, तो समग्र शिक्षा के लिए छात्र आगे आए हैं। हम संसद के शीतकालीन सत्र के पहले दिन जेएनयू से संसद तक निकाले जाने वाले मार्च में शामिल होने के लिए सभी छात्रों को आमंत्रित करते हैं।’ छात्र संघ ने दिल्ली के बाहर के छात्रों से 18 नवंबर को आंदोलन आयोजित करने की अपील की।

कुलपति ने की हड़ताल खत्म करने की अपीलः इसी बीच जेएनयू के कुलपति जगदीश कुमार ने विरोध कर रहे छात्रों से रविवार को अपील की कि वे अपनी कक्षाओं में लौट आएं, क्योंकि परीक्षाएं नजदीक हैं। विश्वविद्यालय की वेबसाइट पर जारी एक वीडियो संदेश में उन्होंने कहा कि उन्हें चिंतित अभिभावकों और छात्रों के ई-मेल आ रहे हैं। उन्होंने कहा, ‘यदि हम अभी भी हड़ताल पर अड़े रहे तो इससे हजारों छात्रों के भविष्य पर असर होगा। मैं छात्रों से अनुरोध करता हूं कि आप कक्षाओं में वापस आइए और अपने शोध कार्यों को आगे बढ़ाइए। 12 दिसंबर से सेमेस्टर परीक्षाएं शुरू होंगी और अगर आप कक्षाओं में नहीं जाएंगे तो इससे आपके भविष्य के लक्ष्य प्रभावित होंगे।’

Hindi News Today, 18 November 2019 LIVE Updates: देश-दुनिया की बड़ी खबरों के लिए क्लिक करें

सुरक्षा व्यवस्था चाक चौबंदः पुलिस ने बताया कि मार्च के मार्ग के आसपास सुरक्षा के पर्याप्त प्रबंध किए गए हैं। पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि दक्षिण-पश्चिम जिले से शुरू होने वाले सभी संभावित मार्गों से संसद की ओर जाने वाले सभी प्रवेश बिंदुओं पर पुलिसकर्मी तैनात किए जाएंगे। उन्होंने कहा, ‘हमने संसद के शीतकालीन सत्र के लिए संसद के आसपास पूरे क्षेत्र की सुरक्षा कड़ी की है। किसी भी अप्रिय स्थिति को टालने के लिए अन्य जिलों से भी अतिरिक्त पुलिसकर्मी तैनात किये जाएंगे।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 RSS के कार्यक्रम में पहुंचे गुजरात के गवर्नर, संघ नेता दत्तोपंत ठेंगड़ी को बताया ‘महापुरुष’
2 सीजीआई बने जस्टिस बोबडे, किसानों के लिए लड़ी थी लड़ाई, बाल ठाकरे की भी कर चुके हैं पैरवी!
3 Ayodhya Verdict पर रिव्यू पीटिशन नहीं लगाएगा सुन्नी सेंट्रल वक्फ बोर्ड, लखनऊ मीटिंग में यूं दोफाड़ हुआ मुस्लिम पक्ष
जस्‍ट नाउ
X