ताज़ा खबर
 

JNU स्टूडेंट्स का बड़ा आरोप- प्रदर्शन कर रहे छात्रों के घर भेजे जा रहे लोकल इंटेलिजेंस यूनिट के लोग, जानें क्यों

जेएनयूएसयू के जनरल सेक्रेटरी सतीश चंद्र और वाइस प्रेसिडेंट साकेत मून का कहना है कि उनके घर पहुंच कर लोकल इंटेलिजेंस यूनिट (LIU) के लोगों ने पूछताछ की है।

फिस बढ़ने से नाराज छात्र प्रर्दशन करते हुए, फोटो सोर्स- एक्सप्रेस फोटो: प्रवीण खन्ना

JNU: जवाहर लाल नेहरु विश्वविद्यालय के छात्र संघ ने आरोप लगाया है कि फीस बढ़ोतरी को लेकर चल रहे विरोध प्रदर्शन को रोकने के लिए उनके घर लोकल इंटेलिजेंस यूनिट (LIU) के लोग भेजे जा रहे हैं। आंदोलन कर रहे छात्रों का नेतृत्व करने वाले छात्र नेताओं को निशाना बनाया जा रहा है, ताकि इनके परिवार पर दबाव बनाकर आंदोलन को खत्म कराया जा सके। साथ ही लोकल इंटेलिजेंस यूनिट के लोग गैरजरुरी सवाल कर परिवार वालों को डराने की कोशिश कर रहे हैं।

लोकल इंटेलिजेंस यूनिट ने पूछताछ की: दरअसल, जेएनयू स्टूडेंट्स पिछले महीने से हॉस्टल फीस बढ़ोत्तरी के खिलाफ आंदोलन पर हैं। यूनिवर्सिटी में पढ़ाई के साथ-साथ एकेडमिक काम भी ठप पड़ा हुआ है। जेएनयूएसयू के जनरल सेक्रेटरी सतीश चंद्र और वाइस प्रेसिडेंट साकेत मून का कहना है कि उनके घर पहुंच कर लोकल इंटेलिजेंस यूनिट (LIU) के लोगों ने पूछताछ की है।

Hindi News Today, 28 November 2019 LIVE Updates: देश-दुनिया की हर खबर पढ़ने के लिए यहां करें क्लिक

जेएनयूएसयू के जनरल सेक्रेटरी सतीश चंद्र  का बयान: उत्तर प्रदेश के महाराजगंज से आने वाले सतीश चंद्र ने बताया कि महाराजगंज जिले में स्थित मेरे गांव में दो लोग पहुंचे और मेरे घर पर मेरी मां, बहन से कई सवाल किए। इसके बाद उन्होंने एक फोन नंबर दिया और मेरे बारे में हर जानकरी फोन कर देते रहने को कहा। जब मैने इस नंबर पर कॉल किया तो काफी देर पूछताछ करने के बाद उन्होंने बताया कि वह एलआईयू से हैं।

बापसा से जुड़े छात्र के घर पहुंची पुलिस: जेएनयू छात्र यूनियन ने मीडिया को बताया है कि इससे पहले बापसा से जुड़े स्टूडेंट लीडर जितेंद्र  के घर पर भी दो बार ओडिशा पुलिस की टीम पहुंची है। जितेंद्र ने बताया कि 23 और 27 नवंबर को पुलिस वाले घर पहुंचे और परिवार से कई सवाल किए। पुलिस वालों ने उनके परिवार से जेएनयू पहुंचने के बारे पूछताछ की थी। पुलिसवालों ने यह बताया था कि पूछताछ करने के आदेश उन्हें ऊपर से मिले है।

छात्र संघ पर दबाव बनाने की कोशिश: यूनियन की ओर से बताया गया है कि 25 नवंबर को जेएनयूएसयू वाइस प्रेसिडेंट साकेत मून के घर नागपुर भी एलआईयू की टीम पहुंची थी। स्टूडेंट्स के परिवार वालों पर दबाव बनाया जा रहा है ताकि वे डर में स्टूडेंट्स को इस आंदोलन से पीछे हटने के लिए मजबूर किया जा सके।

कनॉट प्लेस में ह्यूमन चेन बनाकर किया विरोध: बता दें कि ‘अच्छी पढ़ाई, सस्ती पढ़ाई’ के नारे के साथ दिल्ली के स्टूडेंट्स ने कनॉट प्लेस में ह्यूमन चेन बनाकर फीस बढ़ोतरी का विरोध किया है। जेएनयू स्टूडेंट्स यूनियन की अपील पर हुए इस प्रदर्शन में डीयू, एम्स, जामिया मिल्लिया इस्लामिया, समेत कई इंस्टिट्यूट के स्टूडेंट्स शामिल हुए थे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 संबित पात्रा ने लिखा, “शकुनि” is not “चाणक्य”, यूजर्स बोले- पुरी हार गए तो अमित शाह को शकुनि बना दिया
2 गोडसे को देशभक्त मानना तो छोड़िए, उस सोच की भी निंदा करते हैं, संसद में बोले रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह
3 ‘ये सलाखों के पीछे बंद मासूम पी चिदंबरम नहीं हैं, बाहर निकले तो कर देंगे गडमड’, जमानत का विरोध करते SC में बोले SG
ये पढ़ा क्या?
X
Testing git commit