ताज़ा खबर
 

JNU छात्रसंघ ने VC समेत प्रशासन पर लगाया बड़ा आरोप, कहा ‘फर्जी प्रॉक्टर जांच’ के जरिए 300 छात्रों का रोका गया रजिस्ट्रेशन

छात्रसंघ की अध्यक्ष आइशी घोष ने कहा, 'आज कुलपति ने पहले फीस भरने वाला पोर्टल ब्लॉक किया, फिर ट्यूशन फीस भरने वाला पोर्टल भी ब्लॉक कर दिया। यह स्पष्ट है कि कुलपति स्पष्ट झूठ बोल रहे थे कि छात्र रजिस्ट्रेशन कराना चाहते हैं लेकिन प्रदर्शनकारी उन्हें ऐसा करने नहीं दे रहे।'

Author नई दिल्ली | Published on: January 13, 2020 1:45 PM
जवाहरलाल नेहरु विश्वविद्यालय में हिंसा के विरोध में प्रदर्शन करते छात्र। (Photo: REUTERS)

जवाहरलाल नेहरु विश्वविद्यालय (जेएनयू) छात्र संघ ने आरोप लगाया है कि विश्वविद्यालय प्रशासन ने ‘फर्जी प्रॉक्टर जांच’ का हवाला देकर 300 छात्रों का रजिस्ट्रेशन रोक दिया है। इस मामले में छात्र संघ ने यह भी आरोप लगाया है कि वीसी इस मुद्दे पर झूठ बोल रहे हैं। वहीं छात्र संघ ने शनिवार (11 जनवरी) को विश्वविद्यालय के छात्रों से कहा था कि वे अपने पाठ्यक्रम की फीस भर दें लेकिन छात्रावास की बढ़ी हुई फीस ना भरें। बता दें कि पिछले कई दिनों से जेएनयू विरोध प्रदर्शन और हिंसा का जगह बना हुआ है। ऐसे में जेएनयू छात्र संघ का यह आरोप विश्वविद्यालय प्रशासन के लिए बड़ी मुसिबत बन सकती है।

छात्र संघ का वीसी पर आरोपः जेएनयू छात्रसंघ की अध्यक्ष आइशी घोष ने कहा, ‘आज कुलपति ने पहले फीस भरने वाला पोर्टल ब्लॉक किया, फिर ट्यूशन फीस भरने वाला पोर्टल भी ब्लॉक कर दिया। यह स्पष्ट है कि कुलपति स्पष्ट झूठ बोल रहे थे कि छात्र रजिस्ट्रेशन कराना चाहते हैं लेकिन प्रदर्शनकारी उन्हें ऐसा करने नहीं दे रहे। उन्होंने यह भी कहा कि कुलपति ने ऐसे ‘फर्जी प्रॉक्टर जांच’ को आधार बनाकर 300 छात्रों का रजिस्ट्रेशन रोक दिया है जो अभी तक पूरी भी नहीं हुई है।

Hindi News Live Updates 13 January 2020: देश की बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करें

छात्रसंघ की अध्यक्ष- रजिस्ट्रेशन नहीं करने दे रही प्रशासनः मामले में आइशी घोष ने कहा, ‘सच तो यह है कि प्रशासन चाहता ही नहीं है कि छात्र रजिस्ट्रेशन कराएं और उनका रजिस्ट्रेशन रोक रहा है।’ छात्र संघ के उपाध्यक्ष साकेत मून ने कहा कि मानव संसाधन विकास मंत्रालय के साथ हुई बैठक में यह तय हुआ था कि प्रशासन प्रदर्शन में शामिल हुए छात्रों के प्रति नरम रवैया रखेगा और उन्हें सजा नहीं देगा।

रजिस्ट्रेशन की तारीख 15 जनवरी तक बढीः इस पर छात्र संघ के उपाध्यक्ष ने प्रशासन पर आरोप लगाते हुए कहा, कई छात्रों ने जब रजिस्ट्रेशन के लिए पोर्टल खोला तो देखा कि उन्हें या तो निलंबित कर दिया गया है या फिर वे रजिस्ट्रेशन नहीं करा सकते हैं। गौरतलब है कि जेएनयू प्रशासन ने सर्दियों वाले सत्र के लिए रजिस्ट्रेशन की तारीख रविवार को बढ़ाकर 15 जनवरी कर दी।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 शाहीन बाग की तरह प्रयागराज में भी महिलाओं का विरोध प्रदर्शन, “दिल्ली में बैठ सकती हैं तो हम क्यों नहीं”
2 ‘हूं गुजरात छूं, जुमलों की असलियत हूं’, मोदी के ‘गुजरात मॉडल’ पर INC नेता का ट्वीट; ट्रोल्स बोले- आप विकास हैं, 70 साल में मुस्लिम-दलितों को तार दिया
3 Delhi Election 2020: चुनाव से ठीक पहले कांग्रेस को बड़ा झटका, विनय मिश्रा और राम सिंह AAP में शामिल
ये पढ़ा क्या...
X