ताज़ा खबर
 

JNU में भारत विरोधी नारे: देशद्रोह के आरोपी छात्र संघ अध्‍यक्ष को 3 दिन की पुलिस कस्‍टडी, कैंपस पहुंचे सीपीआई नेता डी राजा

सादे कपड़ों में गए दो पुलिसकर्मियों ने कन्‍हैया को पूछताछ के लिए बुलाया। बाद में उसे गिरफ्तार कर लिया गया।

Author नई दिल्‍ली | Updated: February 13, 2016 10:45 AM
जवाहर लाल नेहरु यूनिवर्सिटी में प्रदर्शन करते ABVP से जुड़े छात्र। (Photo: PTI)

संसद हमले के दोषी अफजल गुरु की फांसी की बरसी के मौके पर जेएनयू में कार्यक्रम अायोजित करने के मामले में पुलिस ने जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी(जेएनयू) के छात्रसंघ अध्‍यक्ष कन्‍हैया कुमार को शुक्रवार (12 फरवरी) को गिरफ्तार कर लिया। उन्‍हें तीन दिन की पुलिस हिरासत में भेजा गया है। दिल्‍ली के प्रेस क्‍लब में इसी तरह का कार्यक्रम आयोजित करने के मामले में पुलिस ने संसद पर हमले के आरोपी रहे दिल्ली यूनिवर्सिटी के पूर्व लेक्‍चरर एसएआर गिलानी के खिलाफ भी शुक्रवार को राष्‍ट्रद्रोह का मामला दर्ज किया। उधर, सीपीआई नेता डी. राजा शुक्रवार को जेएनयू कैंपस पहुंचे। उन्‍होंने छात्रों को संबोधित किया।

  कन्‍हैया कुमार को राष्‍ट्रद्रोह और आपराधिक षड़यंत्र की धाराओं के तहत गिरफ्तार किया गया है। यह मामला गुरुवार को वसंत कुंज (उत्‍तर) थाने में दर्ज किया गया था। वरिष्‍ठ पुलिस अधिकारी ने बताया, ‘कन्‍हैया कुमार को इस मामले में गिरफ्तार किया गया है।’ सूत्रों ने बताया कि सादे कपड़ों में गए दो पुलिसकर्मियों ने कन्‍हैया को पूछताछ के लिए बुलाया। बाद में उसे गिरफ्तार कर लिया गया।

मंगलवार को हुए कार्यक्रम के दौरान अफजल गुरु, कश्‍मीर की आजादी और पाकिस्‍तान के समर्थन में नारेबाजी भी हुई थी। इस घटना का वीडियो भी सोशल मीडिया पर सामने आया था। इस मामले में विश्‍वविद्यालय ने भी जांच कमिटी बैठा दी है। कमिटी को दो दिन में रिपोर्ट देने को कहा गया है। इस मामले के बारे में शुक्रवार को गृहमंत्री राजनाथ सिंह और एचआरडी मंत्री स्‍मृति ईरानी ने कहा कि देश विरोधी गतिविधियां बर्दाश्‍त नहीं की जाएगी। राजनाथ ने कहा,’देश की एकता और अखंडता को चुनौती देने वालों को बख्‍शा नहीं जाएगा। देश में अगर कोई भारत विरोधी नारे लगाता है तो उसे माफ नहीं किया जाएगा।’ वहीं स्‍मृति ईरानी ने कहा,’भारत मां का अपमान यह देश कभी सहन नहीं कर सकता।’

इसी बीच जेएनयू छात्रसंघ उपाध्‍यक्ष ने सरकार पर बदला लेने का आरोप लगाया। उपाध्‍यक्ष ने कहा,’जिस तरह से उन्‍होंने रोहित वेमुला को निशाना बनाया उसी तरह से हमें निशाना बनाया जा रहा है। वे चाहते हैं कि हम भी रोहित की तरह फांसी लगा लें।’ जेएनयू प्रशासन की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि, यूनिवर्सिटी देश और संविधान विरोधी गतिविधियों की निंदा करती है। हाई लेवल कमिटी का गठन किया गया है। रिपोर्ट आने पर कड़े कदम उठाए जाएंगे।

Read Also: BJP MP ने गृहमंत्री को लिखा खत, अफजल गुरु के समर्थन में नारे लगाने वालों पर राष्‍ट्रद्रोह का मामला दर्ज

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories