ताज़ा खबर
 

JNU Protest: परीक्षा का बहिष्कार करेंगे जेएनयू के स्टूडेंट्स, कहा- रोलबैक करें फीस बढ़ोतरी का आदेश

JNU Exam: जेएनयू के विभिन्न स्कूल और केंद्रों के छात्र प्रतिनिधियों की बैठक हुई जिसमें गुरुवार (5 दिसंबर) की सुबह सभी शैक्षणिक गतिविधियों का बहिष्कार करने का फैसला किया गया।

Author नई दिल्ली | Updated: December 5, 2019 12:14 PM
जेएनयू विरोध (सोर्स: इंडियन एक्सप्रेस फाइल फोटो)

Delhi JNU: जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (JNU) के विभिन्न स्कूलों और केंद्रों के छात्र प्रतिनिधियों ने ऐलान किया है कि छात्रावास शुल्क वृद्धि के विरोध में स्टूडेंट्स परीक्षा का बहिष्कार करेंगे। बुधवार को जेएनयू के विभिन्न स्कूल और केंद्रों के छात्र प्रतिनिधियों की बैठक हुई जिसमें गुरुवार (5 दिसंबर) की सुबह सभी शैक्षणिक गतिविधियों का बहिष्कार करने का फैसला किया गया। बता दें कि छात्र शुल्क वृद्धि पूरी तरह से वापस लेने की मांग कर रहे हैं।

विश्वविद्यालय प्रशासन का आदेश: जेएनयू में फीस वृद्धि के विरोध में छात्र संघ 12 दिसंबर से होने वाली परीक्षाओं का बहिष्कार करने का ऐलान कर चुके हैं। छात्र हॉस्टल फीस वृद्धि का विरोध कर रहे हैं। जबकि बहिष्कार करने वाले छात्रों को विश्वविद्यालय प्रशासन ने कहा है कि परीक्षा में न बैठने वाले विवि के छात्र नहीं रहेंगे।

Karnataka Bypolls Live Updates: कर्नाटक उपचुनाव की खबरों के लिए यहां करें क्लिक

कल भी हुआ था हंगामा: जेएनयू में बुधवार को हंगामा, प्रदर्शन और हड़ताल के चलते कक्षाएं बाधित रही। विश्वविद्यालय के शिक्षक हॉस्टल मैनुअल रोलबैक, कुलपति को पद से हटाने और कमेटी की रिपोर्ट सार्वजनिक करने समेत एडहॉक शिक्षकों को नियमित करने जैसी कई मांगों के लेकर एचआरडी से हस्तक्षेप की मांग कर रहे हैं। वहीं जेएनयू स्टूडेंट्स हॉस्टल की बढ़ी फीस को लेकर कई दिनों से प्रदर्शन कर रहे हैं।

Hindi News Today, 05 December 2019 LIVE Updates: देश-दुनिया की हर खबर पढ़ने के लिए यहां करें क्लिक

हड़ताल खत्म करें छात्र: जेएनयू प्रशासन ने स्टूडेंट से अपील की है कि वे अपनी हड़ताल जल्द से जल्द खत्म करें। इसके लिए एक सर्कुलर जारी कर कहा गया है कि हड़ताल की वजह से कई स्टूडेंट्स परेशान हैं और प्रशासन को लेटर भेज रहे हैं। प्रशासन का कहना है कि इन पत्रों के माध्यम से स्टूडेंट्स ने उन स्टूडेंट्स के खिलाफ एक्शन लेने की भी मांग की है जो हड़ताल करवा रहे हैं। दूसरी ओर स्टूडेंट्स यूनियन का कहना है कि यह आंदोलन नहीं झुकेगा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 महाराष्ट्र में बदला मंत्रिमंडल विस्तार का फार्मुला, अब सिर्फ NCP से होगा डिप्टी सीएम, 16 मंत्री भी!
2 ‘सीतारमण को गरीबी से कोई फर्क नहीं पड़ता क्योंकि वो गरीब नहीं’, प्याज वाले बयान पर वित्त मंत्री को ट्रोल कर रहे लोग
3 Parliament Winter Session: वित्त मंत्री बोलीं- हम पर एलीट होने का आरोप लगाना गलत; चिदंबरम बोले- क्या आप एवोकैडो खाती हैं
ये पढ़ा क्या?
X