ताज़ा खबर
 

JNU का डीएनए एंटी इंडिया, अपने में सुधार करे यूनिवर्सिटी नहीं कर दो बंद- RSS विचारक गुरुमूर्ति बोले

JNU Protest: रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) के पूर्व निदेशक व आरएसएस विचारक स्वामी गुरूमुर्ति ने कहा है कि, "जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) का डीएनए देश के खिलाफ है।"

Author नई दिल्ली | Updated: January 16, 2020 8:31 AM
स्वामीनाथन गुरुमूर्ति, फोटो सोर्स- ANI

RSS Ideologue Gurumurthy: राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के विचारक स्वामीनाथन गुरुमूर्ति ने जेएनयू पर आरोप लगाते हुए कहा है कि “जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) का डीएनए देश के खिलाफ है।” इसे या तो सुधारा जाए, या फिर इसे फौरन बंद कर दिया जाए। बता दें कि गुरू मुर्ति रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) के अल्पकालिक निदेशक रह चुके है। उन्होंने यह बयान हाल ही में हुए जेएनयू कैंपस हिंसा को लेकर दिया है।

जेएनयू के गठन की पृष्ठभूमि ही भारत विरोधी रही है: बता दें कि गुरुमूर्ति ने मंगलवार (14 जनवरी) को चेन्नई स्थित तमिल भाषा की एक पत्रिका के 50 वें स्थापना दिवस पर आयोजित कार्यक्रम कहा है कि जेएनयू के गठन की पृष्ठभूमि ही भारत विरोधी रही है। इसका निर्माण देश के परंपराओं, आध्यात्मिकता और मूल्यों का विरोध करना था। 1969 में जब कांग्रेस विभाजित हुई और कम्युनिस्ट पार्टी ने इंदिरा गांधी का समर्थन किया, तो कम्युनिस्ट पार्टी ने उनसे शिक्षा विभाग की मांग की थी। जिसके बाद नूर हासन शिक्षा मंत्री बनाए गए थे। जेएनयू के निर्माण के पीछे उनका ही दिमाग था।

Hindi News Live Hindi Samachar 15 January 2020: देश-दुनिया की तमाम बड़ी खबरे पढ़ने के लिए यहां क्लिक करे

1982 में भी हुई थी ऐसी घटना: उन्होंने आगे कहा कि ” ऐसा नहीं है कि जेएनयू पहली बार सरकार के खिलाफ हुआ है और हिंसा हुई है। इससे पहले 1982 में भी ऐसी ही घटना हुई थी जब जेएनयू देश के खिलाफ खड़ा हुआ था। उस दौरान पुलिस को जेएनयू के अंदर भेजा गया था और छात्रों की पिटाई की गई थी। इस घटना के बाद 43 दिनों तक विश्वविद्यालय बंद रहा था।

 जेएनयू को बंद कर दिया जाना चाहिए: गुरुमूर्ति ने कहा कि जेएनयू का डीएनए इस देश के खिलाफ है और हर कोई इस बात को जानता है। जेएनयू एक ऐसी संस्था है, जिसे सुधारने की जरूरत है और अगर ऐसा नहीं किया जा सकता है, तो इसे बंद कर दिया जाना चाहिए। बता दें कि इस कार्यक्रम में फिल्म अभिनेता रजनीकांत भी मौजूद थे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 बढ़ा मोदी सरकार का सिरदर्द! CAA के बाद अब NIA को भी SC में चुनौती, छत्तीसगढ़ ने कहा- ये करता है संविधान का उल्लंघन
2 डेढ़ घंटे देर से शुरू हुई Amazon Summit, भड़के Infosys फाउंडर नारायण मूर्ति, 20 के बजाय 5 मिनट में खत्म की स्पीच; देखते रह गए जेफ बेजोस
3 शाहीन बाग: पुलिस की अपील बेअसर, हजारों प्रदर्शनकारी अब भी सड़क पर डटे; तैयार हुआ लंगर
ये पढ़ा क्‍या!
X