ताज़ा खबर
 

JNU विवाद: यूनिव‍र्सिटी की सफाई-अफजल गुरु विवाद से पहले ही इस्‍तीफा दे चुके थे चीफ प्रॉक्‍टर

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, कृष्ण कुमार को उन दस्तावेजों पर भी हस्ताक्षर करना पड़ा था, जिसमें कन्हैया कुमार, अनिर्बन, उमर खालिद, रामा नागा, आशुतोष समेत आठ छात्रों को बहिष्कृत करने के लिए कहा गया था।

Author नई दिल्‍ली | March 6, 2016 10:16 am
संसद पर हमले के आरोपी अफजल गुरु के समर्थन में नारेबाजी के मामले में जेएनयू स्‍टूडेंट यूनियन के अध्‍यक्ष कन्‍हैया कुमार पर राजद्रोह का मुकदमा दर्ज किया गया है।

जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय (JNU) के चीफ प्रॉक्टर कृष्ण कुमार के इस्‍तीफे की अटकलों पर जेएनयू प्रशासन ने सफाई दी है। जेएनयू ने कहा है कि विवाद शुरू होने से काफी पहले उन्होंने इस्तीफा दे दिया था। विश्वविद्यालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने पीटीआई को बताया, ‘‘कृष्ण कुमार ने व्यक्तिगत कारणों का हवाला देते हुए जनवरी में पद से इस्तीफा दे दिया था। नवनिर्वाचित कुलपति ने उनसे फरवरी के अंत तक पद पर बने रहने को कहा और इस बीच पद के लिए नियुक्ति को अंतिम रूप दिया गया। उनके इस्तीफे का वर्तमान विवाद से कोई लेना-देना नहीं है क्योंकि वह कार्यक्रम नौ फरवरी को हुआ था जबकि उन्होंने उससे काफी पहले इस्तीफा दे दिया था। दोनों घटनाओं को जोड़कर नहीं देखा जाना चाहिए।’’

Read Also: JNU Row: पप्पू यादव बोले- कन्‍हैया जब जेल में था तब कोई नहीं पहुंचा, लालू जैसे नेताओं को जहर दे दो

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, कृष्‍ण कुमार ने 29 फरवरी को इस्तीफा दिया और इसके अगले दिन ही एपी डिमरी को नया प्रॉक्टर बनाया गया। खबरों के मुताबिक, जेएनयू के एक दस्तावेज में सामने आया कि नारेबाजी की घटना सामने आने पर एक प्रॉक्टर जांच कमेटी का गठन किया गया था। लेकिन 11 फरवरी को ही इसके चार घंटे बाद एक उच्च स्तरीय जांच कमेटी का गठन कर दिया गया। जांच कमेटी का गठन वीसी ने किया था। इसके बाद कमेटी ने पहली जांच कमेटी की जगह ली थी। विश्वविद्यालय नियमों के मुताबिक प्रॉक्टर ही शिक्षकों से संबंधित मामलों को देखता है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, कृष्ण कुमार को उस दस्तावेज पर भी हस्ताक्षर करना पड़ा था, जिसमें कन्हैया कुमार, अनिर्बन, उमर खालिद, रामा नागा, आशुतोष समेत आठ छात्रों को बहिष्कृत करने के लिए कहा गया था।

Read Also: JNU विवाद: कन्‍हैया कुमार को गोली मारने पर 11 लाख इनाम के पोस्‍टर, दिल्‍ली पुलिस देगी सुरक्षा

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App