ताज़ा खबर
 

J&K: सोशल मीडिया का यूज करने पर FIR, पुलिस ने UAPA के तहत दर्ज किया केस, बताई ये वजह

बीमार हुर्रियत नेता सैयद अली गिलानी का वीडियो विभिन्न यूजर्स द्वारा सोशल मीडिया में अपलोड किए जाने के बाद ये कार्रवाई अमल में लाई गई है।

Author Translated By Ikram श्रीनगर | Updated: February 18, 2020 8:35 AM
तस्वीर का इस्तेमाल केवल प्रतीकात्मक रूप से किया गया है।

जम्मू-कश्मीर पुलिस ने प्रॉक्सी सर्वर के जरिए सोशल मीडिया का इस्तेमाल कर रहे लोगों के खिलाफ एफआईआर की है। सभी के खिलाफ कठोर गैरकानूनी गतिविधि (रोकथाम) अधिनियम (UAPA) के तहत केस दर्ज किया है। बीमार हुर्रियत नेता सैयद अली गिलानी का वीडियो विभिन्न यूजर्स द्वारा सोशल मीडिया में अपलोड किए जाने के बाद ये कार्रवाई अमल में लाई गई है।

पुलिस ने एक बयान जारी कर बताया, ‘सोशल मीडिया के दुरुपयोग पर गंभीरता से संज्ञान लेते हुए साइबर पुलिस स्टेशन (कश्मीर जोन, श्रीनगर) ने विभिन्न सोशल मीडिया यूजर्स के खिलाफ केस दर्ज किया है। इन लोगों ने सरकारी आदेश की अवहेलना की और सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म का दुरुपयोग किया।’

पुलिस बयान में आगे कहा गया, ‘अलग-अलग वीपीएन के इस्तेमाल से उपद्रवियों द्वारा सोशल मीडिया पोस्टों का संज्ञान लेते हुए एफआईआर दर्ज की गई है। ये लोग कश्मीर घाटी के वर्तमान सुरक्षा परिदृश्य के संबंध में अफवाह फैलाने, अलगाववादी विचारधारा का प्रचार करने और आतंकी कृत्यों/आतंकवादियों का महिमामंडन करने में शामिल हैं।’

वीपीएन उन मोबाइल एप्लीकेशन्स को कहते हैं जो आपके इंटरनेट का सर्वर बदलकर आपको किसी अन्य देश के सर्वर पर डाल देता है।

उल्लेखनीय है कि जम्मू-कश्मीर प्रशासन ने इंटरनेट पर छह महीने की पाबंदी के बाद घाटी में इंटरनेट सेवा बहाल की है। हालांकि श्वेतसूची वेबसाइटों ही एक्सेस की जा सकती है। प्रदेश में सरकार ने सोशल मीडिया और पीयर-टू-पीयर एप्लिकेशन के उपयोग पर भी प्रतिबंध लगा दिया है। 14 फरवरी को एक सरकारी आदेश में एक बार फिर सभी सोशल मीडिया साइटों पर प्रतिबंधों को बनाए रखा।

पुलिस बयान में आगे कहा गया, ‘उपद्रवियों द्वारा सोशल मीडिया साइटों के दुरुपयोग की लगातार खबरें मिली हैं कि वे अलगाववादी विचारधारा का प्रचार करते हैं और गैरकानूनी गतिविधियों को बढ़ावा देते हैं।’ इसमें कहा गया कि सोशल मीडिया एक पसंदीदा प्लेफॉर्म बना हुआ है जो यूजर्स को काफी हद तक गुमनामी प्रदान करता है और व्यापक पहुंच भी देता है। इस संबंध में बहुत सारी गैरकानूनी सामग्रियां बरामद की गई हैं।

Next Stories
1 लोग तो कहते ही थे अब मंत्रीजी ने भी कह दी ये बात- पुलिस की मिलीभगत के बिना खनन माफिया काम नहीं कर सकता; बताई ये वजह
2 गांधी जी स्वयं को कट्टर सनातनी हिंदू मानते थे : मोहन भागवत
3 AIIMS: ऑपरेशन से पहले पता चला फेफड़ा लगाने लायक नहीं
ये पढ़ा क्या?
X