ताज़ा खबर
 

जनता ने जताई लोकतंत्र में आस्था: मोदी

जम्मू कश्मीर में हो रहे इस बार के विधानसभा चुनावों को ऐतिहासिक करार देते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सनिवार को कहा कि राज्य की जनता ने बड़ी संख्या में मतदान में भाग लेकर भारतीय लोकतंत्र में विश्वास जताया है जिसे दुनिया करीब से देख रही है। उन्होंने कहा कि जम्मू कश्मीर की जनता ने […]

Author December 14, 2014 8:54 AM
प्रधानमंत्री ने ‘बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ’ कार्यक्रम की शुरुआत की। (फ़ोटो-पीटीआई)

जम्मू कश्मीर में हो रहे इस बार के विधानसभा चुनावों को ऐतिहासिक करार देते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सनिवार को कहा कि राज्य की जनता ने बड़ी संख्या में मतदान में भाग लेकर भारतीय लोकतंत्र में विश्वास जताया है जिसे दुनिया करीब से देख रही है। उन्होंने कहा कि जम्मू कश्मीर की जनता ने भारतीय लोकतंत्र में पूरी आस्था दिखाई है और दुनिया को मजबूत संदेश दिया है। इससे स्वतंत्र भारत में इतिहास रचा गया है। उन्होंने कहा कि भारत की अखंडता और संप्रभुता के लिए यह चुनाव बहुत महत्त्वपूर्ण हो गए हैं। उन्होंने (जम्मू कश्मीर की जनता ने) जम्मू कश्मीर चुनावों में बड़े स्तर पर मतदान करके भारतीय लोकतंत्र से दुनिया का परिचय कराया है। आपने महान कार्य किया है।

जम्मू कश्मीर की सभी समस्याओं के लिए केंद्र की पिछली सरकार को जिम्मेदार ठहराते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि नई दिल्ली में बैठीं सरकारें जो काम नहीं कर सकीं, आपने महज ईवीएम पर एक बटन दबाकर इसे कर दिखाया है। मोदी ने कहा कि इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन पर बटन दबाकर राज्य की जनता ने दुनिया को स्पष्ट संदेश दिया है कि ईवीएम की ताकत एके-47 से ज्यादा है। उन्होंने कहा कि पिछले दिनों लोकसभा चुनाव समेत कई चुनाव हुए हैं जिनमें मोदी की जीत हुई है। हाल ही में हरियाणा, झारखंड के विधानसभा चुनाव हुए। लेकिन पूरी दुनिया में जम्मू कश्मीर के चुनावों की चर्चा हो रही है। उन्होंने कहा- दुनियाभर में केवल जम्मू कश्मीर के चुनावों की चर्चा हो रही है। क्या वजह है? कारण है 70 फीसद से ज्यादा मतदान होना।

प्रदेश में विकास के लिए बहुमत के साथ भाजपा की सरकार बनाने के लिए जनता से वोट देने का आह्वान करते हुए मोदी ने कहा कि जम्मू कश्मीर की तकदीर केवल विकास से बदलेगी। जम्मू कश्मीर को स्कूल, सड़कें, पानी, बिजली और स्वास्थ्य सेवाएं चाहिए। इसके लिए हमें आपका समर्थन चाहिए। जम्मू कश्मीर में चुनाव के माहौल पर प्रधानमंत्री ने कहा कि ऐसा नजारा पहले कभी देखने को नहीं मिला। उन्होंने कहा कि जब मैं पहले प्रदेश में आता था तो मैं लोगों को बिना सपनों और उनके जीवन में बिना किसी उमंग के बात करते हुए देखता था। उनकी आंखों में कोई चमक नहीं होती थी और उनके चेहरे उदास होते थे। वे नाउम्मीदी के माहौल में रह रहे थे।

मोदी ने कहा कि तीस साल तक नाउम्मीदी और निराशा के माहौल के बाद आज लोगों के सपने एक बार फिर जिंदा हो गए हैं और इनसे उन्हें बहुत खुशी हो रही है। उन्होंने कहा कि अपनी खुशी और सपनों को जिंदा रखिए। अपने सपनों को मरने मत दीजिए। मेरा नसीब है कि मैं अपने सामने लाखों लोगों को देख रहा हूं जो अभी तक किसी नेता या पार्टी ने नहीं देखा। उन्होंने कहा कि इससे पहले जम्मू कश्मीर की जनता ने किसी अन्य राजनेता को इस तरह से आशीर्वाद नहीं दिया। आपने जो प्यार और स्नेह मुझे दिया है, मैं विकास करके उसे ब्याज समेत लौटाऊंगा।

कठुआ की जनता से अपनापन दिखाने का प्रयास करते हुए प्रधानमंत्री ने प्रजा परिषद और जनसंघ के दिनों को याद किया जिसने जम्मू कश्मीर को भारतीय संघ में मिलाने के लिए आंदोलन किया था। प्रधानमंत्री ने कहा कि यह प्रजा परिषद की भूमि है। इसी जमीन से जनसंघ ने अपना झंडा फहराया था जहां प्रजा परिषद आंदोलन के संस्थापक बलदेव ठाकुर ने अपने प्राण न्योछावर कर दिए थे। आज जब मैं रैली स्थल पर इतनी भारी भीड़ देखता हूं तो आपके सामने, इस पवित्र धरती के लोगों के सामने सिर झुकाने का मन करता है।

टीवी चैनलों पर चुनाव पूर्व सर्वेक्षणों की आलोचना करते हुए मोदी ने कहा कि चुनावी सर्वेक्षण के नतीजे अधिकतर गलत साबित होते हैं और राजनीतिक विश्लेषकों को जमीन पर आने के बाद ही वास्तविक परिदृश्य का पता चलेगा। अंतरराष्ट्रीय सीमा से लगे होने की वजह से कठुआ में पाकिस्तान की ओर से गोलीबारी और गोलाबारी की समस्या पर मोदी ने कहा कि जिले की जनता बहादुरी से गोलियों का सामना करती है और बिना वर्दी पहने देश की सरहद की रक्षा करती है। उन्होंने सेना में आरक्षण की लोगों की मांग पूरा करने का वादा किया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App