पाकिस्तान की BAT टीम ने भारतीय सेना पर किया हमला, भारत ने दो को मार गिराया

बताया जा रहा है कि पाकिस्तानी सैनिक भारतीय सीमा में घुसने की कोशिश कर रहे थे।

सेना के जवानों को अब मिलेगा मॉर्डन हेलमेट। (Representative Image)

जम्मू एवं कश्मीर के बारामूला जिले में उड़ी सेक्टर में सेना ने शुक्रवार को नियंत्रण रेखा से सटे इलाके में भारतीय सीमा में घुसपैठ कर रहे दो आतंकवादियों को मार गिराया। रक्षा सूत्रों ने कहा कि मारे गए आतंकवादियों के शव बरामद नहीं किए जा सके हैं, क्योंकि वे नियंत्रण रेखा पर ‘नो-मैंस लैंड’ (नियंत्रण रेखा का वह क्षेत्र जहां दोनों तरफ की सेना किसी को जाने की इजाजत नहीं देती) में पड़े हैं। सूत्र ऐसे हमलों को नियंत्रण रेखा के पार से पाकिस्तान के बॉर्डर एक्शन टीम (बीएटी) की कायराना हरकत करार देते हैं, जो खासकर जम्मू क्षेत्र में सक्रिय हैं। उल्लेखनीय है कि जम्मू एवं कश्मीर के पुंछ जिले में एक मई को बीएटी के हमले में दो भारतीय जवान शहीद हो गए थे, जिसके बाद उनके शवों को क्षत-विक्षत कर दिया गया था। भारतीय सेना ने कहा है कि आतंकवादियों के समूहों द्वारा ऐसे हमले पाकिस्तानी सेना के निर्देश और उनके द्वारा कवर फायरिंग की आड़ में कराए जाते हैं।

बता दें कि 1 मई को पाकिस्तान की यही टीम भारतीय सीमा में 250 मीटर तक घुस आई थी और दो भारतीय सैनिकों के सिर कलम कर दिए थे। BAT टीम ने सैनिकों पर घात लगाकर हमला किया था। पहले पाकिस्तान की ओर से सीजफायर का उल्लंघन किया गया था और जब भारतीय सैनिक पेट्रोलिंग कर रहे थे तब घात लगाए बैठे पाकिस्तान ने हमारे सैनिकों को मार गिराया था।

बताया जाता है कि बैट टीम में पाकिस्तान रेंजर, लश्कर, जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी, कसाई की 10 से 12 सदस्यीय टीम होती है। यह कई महीनों तक एक क्षेत्र को टारगेट करती है। 10 से 15 मिनट के बीच टीम को अपनी कार्रवाई करनी होती है। वह 20 से 25 मीटर तक भारतीय सीमा में घुसती है और घात लगाकर हमला कर वापस चली जाती है।

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट