ताज़ा खबर
 

24 घंटे में कृष्णा घाटी सेक्टर में दूसरी बार पाकिस्तानी सेना ने की अंधाधुंध फायरिंग, भारत दे रहा मुंहतोड़ जवाब

सोमवार को ही पाकिस्तान की ओर से दो जगह पर सीजफायर उल्लंघन किया गया। पाक रेंजर्स ने कृष्णा घाटी सेक्टर और नौशेरा में भारतीय चौकियों पर गोलियां बरसाईं।

Author नई दिल्ली। | June 12, 2017 21:43 pm
पाकिस्तान की ओर से सीजफायर उल्लंघन।(फाइल फोटो)

पाकिस्तान सेना की ओर से फिर सीजफायर उल्लंघन की खबरें आ रही है। एएनआई के मुताबिक पाकिस्तानी सेना से सोमवार शाम को एलओसी के कृष्णा घाटी सेक्टर में अंधाधुंध फायरिंग की। पड़ोसी देश की ओर से छोटे और ऑटोमैटिक हथियारों और मोर्टार द्वारा शाम 6:45 बजे फायरिंग की गई। रिपोर्ट के मुताबिक भारतीय सेना पाकिस्तान की ओर की जारी फायरिंग का मुंहतोड़ जवाब दे रही है। पाकिस्तान की ओर से कृष्णा घाटी सेक्टर में एक दिन में दूसरी बार सीजफायर का उल्लंघन की घटना सामने आई है। पाकिस्तानी सेना ने सोमवार सुबह भी भारतीय चौकियों पर गोलाबारी की थी।

वहीं, पाकिस्तान ने भारतीय उप उच्चायुक्त जे पी सिंह को कथित तौर पर सीमा पार से फायरिंग को लेकर समन जारी किया था। पीटीआई के मुताबिक पाकिस्तान ने नियंत्रण रेखा पर भारतीय सैनिकों द्वारा कथित गोलीबारी की निंदा की है और दावा किया है कि गोलीबारी में तीन पाकिस्तानी नागरिक मारे गए थे।

एक जून से अब तक 10 बार सीजफायर उल्लंघन 
सोमवार को ही पाकिस्तान की ओर से दो जगह पर सीजफायर उल्लंघन किया गया। पाक रेंजर्स ने कृष्णा घाटी सेक्टर और नौशेरा में भारतीय चौकियों पर गोलियां बरसाईं। सेना के प्रवक्ता ने बताया कि 1 जून से अब तक पाकिस्तानी सेना ने 9 बार और पिछले 72 घंटों में यह 6 बार सीजफायर तोड़ा है। ले.कर्नल मनीष मेहता ने कहा कि बीएसएफ पाकिस्तानी सेना को मुंहतोड़ जवाब दे रही है। प्रवक्ता ने कहा, हमारी सेना वहां प्रहार कर रही है, जहां उन्हें सबसे ज्यादा नुकसान होगा। रक्षा प्रवक्ता ने कहा कि पाकिस्तानी सेना ने भारी मोर्टार, आरपीजी और भारी ऑटोमैटिक हथियारों से हमला किया था। हमारी सेना ने भी उतनी ही मजबूती से जवाब दिया। उन्होंने कहा कि फिलहाल किसी के हताहत होने की जानकारी नहीं है।

 

पाकिस्तान ने भारतीय चौकियों पर बरसाई गोलियां, 8 दिन में तोड़ा आठ बार सीजफायर

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App