दिल्लीः वकील बनकर आए हमलावरों ने रोहिणी कोर्ट में चलाईं ताबड़तोड़ गोलियां, गैंगस्टर जितेंद्र गोगी समेत चार की मौत

दिल्ली के रोहिणी कोर्ट में दिनदहाड़े हुई गोलीबारी में कम से कम चार लोगों की मौत हो गई. इसमें गैंगस्टर जितेंद्र मान गोगी भी शामिल है।

रोहिणी कोर्ट में गोलीबारी में गैंगस्टर गोगी की मौत।

दिल्ली के रोहिणी कोर्ट में गैंगवॉर के बाद हड़कंप मच गया है। यहां गैंगस्टर जितेंद्र सिंह गोगी को सुनवाई के लिए लाया गया था तभी वकील की ड्रेस में पहुंचे हमलावरों ने ताबड़तोड़ फायरिंग शुरू कर दी। इस हमले में कई लोग घायल हो गए वहीं बताया जा रहा है कि जितेंद्र मान गोगी की मौत हो गई। जवाबी कार्रवाई में दो हमलावरों को भी मार गिराया गया।

जानकारी के मुताबिक सुनील मान उर्फ टिल्लू ताजपुरी गैंग के हमलावर गोगी के विरोधी थे और उन्होंने ही इस घटना को अंजाम दिया है। हमलावर काला कोट पहने हुए थे इसलिए कोर्ट में उन्हें आसानी से प्रवेश भी मिल गया। गोलीबारी शुरू होने के बाद तुरंत पुलिस ने भी जवाबी कार्रवाई शुरू की और दो हमलावरों को मार गिराया गया। वहीं एक वकील के भी पैर में चोट आने की खबर है।

यह भी पढ़ेंः जब तिहाड़ जेल से फोन कर पैसे मांगने लगा गैंगस्टर

यह घटना रोहिणी कोर्ट में कोर्ट नंबर 206 के सामने हुई। कोर्ट परिसर में लगभग 35-40 राउंड फायरिंग हुई। वहां मौजूद लोगों के मुताबिक दो हमलावरों ने सीधा गोगी पर ही हमला किया और इसके बाद सुरक्षाबल भी हरकत में आ गए और जवाबी फायरिंग शुरू हो गई। मौके पर ही दोनों हमलावर ढेर कर दिए गए।

दिल्ली पुलिस कमिश्नर राकेश अस्थाना के बयान के मुताबिक हमलावर मार गिराए गए और इस मामले में जांच के भी आदेश दे दिए गए हैं।

बता दें कि मार्च में एक एनकाउंटर के बाद दिल्ली पुलिस की इंटेलिजेंस यूनिट ने गोगी और उसके तीन साथियों को गिरफ्तार किया था। गोगी के साथियों की पहचान कुलदीप मान उर्फ फज्जा, रोहित मोई और कपिल के तौर पर हुई थी। उन्हें गुड़गांव से गिरफ्तार किया गया था। बाद में कुलदीप मान की मौत एक एनकाउंटर में हो गई।

कौन था जितेंद्र मान गोगी?
जितेंद्र मान गोगी नामी गैंगस्टर था और कई राज्यों की पुलिस उसे लंबे समय से ढू्ढ रही थी। आखिरकार 2016 में वह पुलिस के हत्थे चढ़ गया था लेकिन जब उसे अस्पताल ले जाया जा रहा था तभी वह फरार हो गया था। बाद में फिर से दिल्ली पुलिस ने उसे गिरफ्तार किया। वह दिल्ली के अलीपुर का रहने वाला था और उसपर हत्या, जमीन कब्जाने, वसूली, लूट समेत कई मामले दर्ज थे। बताया जाता है कि कॉलेज के समय से ही टिल्लू ताजपुरी औऱ जितेंद्र गोगी की दुश्मनी थी। वे दोनों श्रद्धानंद कॉलेज में साथ ही पढ़ते थे।

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

Next Story
विनोद राय ने मनमोहन सिंह पर बोला हमला, कहा- ‘कांग्रेसी नेताओं ने बनाया था दबाव’