ताज़ा खबर
 

मांझी को हटाना जेडीयू के लिए आत्महत्या साबित होगा

जदयू के वरिष्ठ नेता और बिहार के कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह ने शुक्रवार को कहा कि मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी को उनके पद से हटाने की कोशिश जदयू के लिए आत्महत्या साबित होगी। सिंह का यह बयान ऐसे समय आया है जब पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष शरद यादव ने कल पार्टी विधायक दल की एक […]
Author February 6, 2015 17:08 pm
जीतन राम मांझी पर जदयू के निर्णय का समर्थन करेंगे : लालू यादव (फाइल फोटो)

जदयू के वरिष्ठ नेता और बिहार के कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह ने शुक्रवार को कहा कि मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी को उनके पद से हटाने की कोशिश जदयू के लिए आत्महत्या साबित होगी। सिंह का यह बयान ऐसे समय आया है जब पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष शरद यादव ने कल पार्टी विधायक दल की एक बैठक बुलाई है और ऐसा समझा जाता है कि इस बैठक में मांझी को उनके पद से हटाए जाने के संबंध में निर्णय लिया जाना है।

नरेंद्र सिंह ने आज यहां पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा कि महादलित मुख्यमंत्री को उनके बचे हुए कार्यकाल के पूर्व हटाया जाना जदयू के लिए आत्महत्या साबित होगा और यह बिहार की जनता के साथ विश्वासघात होगा। सिंह काफी पहले से ही मांझी का पक्ष लेते रहे हैं। उन्होंने कहा कि उन्हें समझ में नहीं आ रहा है कि जदयू ऐसा कदम क्यों उठाना चाहेगा और अगर ऐसा होता है तो यह पार्टी के लिए आत्मघाती होगा।

उन्होंने पार्टी अध्यक्ष शरद यादव द्वारा कल बुलायी गयी जदयू विधायक दल की बैठक को मुख्यमंत्री द्वारा अनधिकृत बताए जाने का बचाव किया और मांझी की इस बात को सही ठहराया कि अगामी 20 फरवरी को विधायक दल की बैठक बुलाने का अधिकार उन्हें है।

उन्होंने कहा कि विधायक दल के सभी सदस्य मांझी द्वारा बुलायी गयी बैठक में भाग लेंगे। सिंह ने शिक्षा मंत्री वृषिण पटेल और ग्रामीण विकास मंत्री नीतीश मिश्र के कल बुलायी गयी बैठक में शामिल नहीं होने के निर्णय का पक्ष लेते हुए जदयू महासचिव के सी त्यागी पर हमला किया और कहा कि वह भाजपा की भाषा बोल रहे जिससे जदयू कमजोर होगी। त्यागी ने कहा था कि पार्टी विधायक दल ने मांझी को नेता नहीं चुना बल्कि वे एक मनोनीत मुख्यमंत्री हैं।

इस बीच, अपने पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार जमुई पहुंचने पर मांझी ने मीडिया के किसी भी प्रश्न का जवाब नहीं दिया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.