जिग्‍नेश मेवानी बोले- अगर स्‍मृति ईरानी अपनी येल यूनिवर्सिटी की फर्जी डिग्री से एचआरडी मंत्री बन सकती हैं तो…

इस मामले पर दिल्ली सरकार का कहना है कि मोदी सरकार आतिशी मार्लेना को इसलिए टारगेट कर रही है, क्योंकि वे देश की राजधानी में शिक्षा व्यवस्था में सुधार ला रही हैं। आतिशी मार्लेना उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया की सलाहकार थीं।

jignesh mevani
गुजरात के वडगाम से विधायक जिग्नेश मेवानी। (फाइल फोटो)

गुजरात के विधायक और दलित नेता जिग्नेश मेवानी ने एक बार फिर केंद्र सरकार पर निशाना साधा है। अपने ट्विटर हैंडल पर जिग्नेश मेवानी ने लिखा, “अगर स्मृति ईरानी अपनी येल यूनिवर्सिटी की फर्जी डिग्री से एचआरडी मंत्री बन सकती हैं तो एक असली रोड्स स्कॉलर आतिशी मार्लेना से बीजेपी को इतना डर क्यों है? असली डिग्री के साथ वो शिक्षा में असली काम कर रही थीं, इसलिए?” आपको बता दें कि जिग्नेश मेवानी ने यह बात उस समय कही है, जब केंद्र सरकार द्वारा हाल ही में दिल्ली सरकार के नौ सलाहकारों की नियुक्ति को रद्द कर दिया गया है।

वहीं, इस मामले पर दिल्ली सरकार का कहना है कि मोदी सरकार आतिशी मार्लेना को इसलिए टारगेट कर रही है, क्योंकि वे देश की राजधानी में शिक्षा व्यवस्था में सुधार ला रही थीं। मंगलवार को दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा, “इस आदेश के पीछे का मकसद केवल आतिशी मार्लेना को निशाना बनाना है, क्योंकि वे दिल्ली की शिक्षा व्यवस्था में सुधार ला रही थीं। मैं बीजेपी को चुनौती देता हूं कि वे एक भी ऐसा राज्य ढूंढ दें, जहां पर एक भी सरकारी स्कूल बंद नहीं किए गए और हम यहां दिल्ली में शिक्षा व्यवस्था में सुधार ला रहे हैं।” आतिशी मार्लेना उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया की सलाहकार थीं।

बता दें कि गृह मंत्रालय ने इस विषय में कहा था कि ये नियुक्तियां बिना केंद्र सरकार की मंजूरी के की गई थीं और इसके लिए मंजूरी देना दिल्ली सरकार के अधिकार क्षेत्र के दायरे के अंदर नहीं आता। उपराज्यपाल अनिल बैजल के अधीन काम करने वाले सामान्य प्रशासन विभाग द्वारा जिन नौ सालहकारों की नियुक्ति को रद्द किया गया है, उनमें अमरदीप तिवारी, अरुणोदय प्रकाश, राघव चड्ढा, आतिशी मार्लेना, दिनकर आदिब, राम कुमार झा, समीर मल्होत्रा और प्रशांत सक्सेना शामिल हैं। इस मामले के बाद एक बार फिर उपराज्यपाल और दिल्ली सरकार के बीच टकराव की स्थिति पैदा हो गई है।

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।