ताज़ा खबर
 

Tabrez Ansari हत्याकांड में 6 आरोपियों को हाईकोर्ट से मिली जमानत, चोरी के शक में हुई थी पीट-पीटकर हत्या

तबरेज अंसारी हत्या मामले में बचाव पश्र की ओर से आरोपियों की जमानत का विरोध किया गया और कहा गया कि मारपीट की घटना में सभी लोग शामिल थे। झारखंड उच्च न्यायालय के जज ने दोनों पक्षों को सुनने के बाद फैसले के रुप में छह आरोपियों को जमानत दे दी।

Author रांची | Updated: December 11, 2019 11:56 AM
JHARKHAND ELECTION, TABREZ ANSARI 1झारखंड: तबरेज अंसारी फोटो- सोशल मीडिया

झारखंड में हुए तबरेज अंसारी हत्या मामले में उच्च न्यायालय ने छह आरोपियों को जमानत दे दी है। बता दें कि सरायकेला में चोरी के आरोप में भीड़ द्वारा पीट-पीट मारे गए तबरेज अंसारी की हत्या मामले में छह आरोपियों को मंगलवार (10 दिसंबर) को उच्च न्यायालय से जमानत मिल गई। झारखंड उच्च न्यायालय के जज आर मुखोपाध्याय की पीठ ने भीमसेन मंडल, चामू नायक, महेश महली, सत्यनारायण नायक, मदन नायक, विक्रम मंडल को इस मामले में छह माह बाद जमानत दी है। इससे पहले सभी आरोपियों ने उच्च न्यायालय में जमानत की याचिका दाखिल की थी। बता दें कि आरोपियों के वकील ने तबरेज की हत्या में इन्हें बेगुनाह साबित किया इसलिए इनकी जमानत हुई है।

आरोपियों के नाम नहीं होने पर भी जेल में थे बंदः सुनवाई के दौरान इनके वकील ए.के.साहनी ने पीठ को बताया कि तबरेज अंसारी मामले में इनका नाम प्राथमिकी में नहीं है। इसके साथ साहनी ने यह भी कहा कि नामजद आरोपित पप्पू मंडल ने पुलिस को दिए अपने बयान में इनका नाम नहीं लिया है। इस सब के बावजूद सभी आरोपी लगभग छह माह से जेल में बंद हैं। कोर्ट ने इस तर्क पर सुनवाई करते हुए आरोपियों को जमानत दी है।

Hindi News Today, 11 December 2019 LIVE Updates: देश-दुनिया की हर खबर पढ़ने के लिए यहां करें क्लिक

आरोपियों के वकील ने रखा पक्षः आरोपियों के वकील द्वारा पीठ को बताया गया कि 18 जून 2019 को चोरी के आरोप में तबरेज अंसारी को पुलिस ने गिरफ्तार किया था। इसके बाद सीजेएम कोर्ट ने उसे जेल भेज दिया था। 22 जून को उसकी तबीयत खराब हुई और इलाज के दौरान सरायकेला के सदर अस्पताल में तबरेज की मौत हो गई थी। ऐसे में यह हिरासत में हुई मौत का मामला है। इसलिए इनको जमानत मिलनी चाहिए।

बचाव पश्र ने जमानत का किया विरोधः इस दौरान बचाव पश्र की ओर से इनकी जमानत का विरोध किया गया और कहा गया कि मारपीट की घटना में सभी लोग शामिल थे। दोनों पक्षों को सुनने के बाद अदालत ने छह आरोपियों को जमानत दे दी है। बता दें कि भीड़ हिंसा के इस मामले में तबरेज की पत्नी एस परवीन ने एफआईआर दर्ज कराई जिसमें आरोप है कि तबरेज को भीड़ ने एक खंभे से बांध कर उसकी पिटाई की थी। इसकी वजह से उसकी मौत हो गई। इस मामले में पुलिस ने सभी आरोपियों को गिरफ्तार किया था।

Next Stories
1 बगावत के सुरों के बीच BJP ने बुलाई बैठक लेकिन नहीं आईं पंकजा मुंडे, पार्टी बोली- इजाजत ली है
2 जावेद अख्तर, नसीरुद्दीन, नंदिता और अपर्णा सेन समेत 700 हस्तियों ने जताया CAB का विरोध, सरकार को लिखा खुला खत
3 Citizenship Amendment Bill पर भड़के राहुल गांधी, कहा- मोदी और शाह सरकार की पूर्वोत्तर के नस्लीय सफाए की कोशिश
चुनावी चैलेंज
X