ताज़ा खबर
 

झारखंड के मंत्री बोले- 40 साल से जानता हूं, फ्रॉड है स्वामी अग्निवेश, खुद पर चलवाए लात-जूते

यहां के पाकुड़ में मंगलवार (17 जुलाई) को सामाजिक कार्यकर्ता अग्निवेश पर भीड़ ने हमला कर दिया था। आरोप था कि भारतीय जनता पार्टी युवा मोर्चा के कार्यकर्ताओं ने उस दौरान उनके साथ बदसलूकी और धक्का-मुक्की की थी।

अग्निवेश की कथित तौर पर कुछ भाजयुमो कार्यकर्ताओं ने बुरी तरह पिटाई की थी। हालांकि, झारखंड के मंत्री सीपी सिंह (दाएं) ने उन्हें फ्रॉड बताया था। सीपी सिंह ने कहा कि अग्निवेश इससे पहले अन्ना आंदोलन के दौरान भी पिटे थे। (फोटोः पीटीआई/फेसबुक)

झारखंड में भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के एक मंत्री ने कहा है कि स्वामी अग्निवेश फ्रॉड हैं। प्रचार पाने के लिए उन्होंने खुद पर लात-जूते चलवाए।मंत्री का दावा है कि यह बात वह इसलिए कह रहे हैं, क्योंकि अग्निवेश को वह 40 साल से जानते हैं। आपको बता दें कि यहां के पाकुड़ में मंगलवार (17 जुलाई) को सामाजिक कार्यकर्ता अग्निवेश पर भीड़ ने हमला कर दिया था। आरोप था कि भारतीय जनता युवा मोर्चा के कार्यकर्ताओं ने उस दौरान उनके साथ बदसलूकी और धक्का-मुक्की की थी।

नगर विकास मंत्री सीपी सिंह बुधवार (18 जुलाई) को इस बारे में पत्रकारों से बात कर रहे थे। यह सवाल पूछे जाने पर- आपको फिर से समझ आया कि अग्निवेश फ्रॉड हैं? बीजेपी मंत्री ने इस जवाब दिया, “आपको (मीडिया) समझ आया होगा, भाजपा को नहीं आया। भारतीय जनता युवा मोर्चा तो उस घटना में कहीं था ही नहीं। उन्होंने (अग्निवेश) खुद पर सब प्रायोजित कर के लात-जूते और घूंसे चलवाए। वह पुराने फ्रॉड हैं। आज से, इससे पहले वह अन्ना हजारे के आंदोलन को खत्म कराने गए थे। वहां भी उन्होंने लात-घूंसे खाए थे।”

धक्का-मुक्की के दौरान स्वामी अग्निवेश का कुछ ऐसा हाल हुआ था। (फोटोः पीटीआई)

अग्निवेश पर हमला बोले हुए सिंह ने बताया, “स्वामी का चोला ओढ़कर अग्निवेश समाज को विभाजित करने का काम कर रहे हैं। विदेशी फंड के सहारे भारत में उन्माद फैलाने की वह लगातार कोशिशें कर रहे हैं।” गौरतलब है कि अग्निवेश पर हमले के मामले करीब 20 लोगों को हिरासत में लिया गया था। घटना का संज्ञान लेते हुए मुख्यमंत्री रघुवर दास ने गृह सचिव को इस मामले की जांच कराने के लिए निर्देश दिए थे।

वहीं, अग्निवेश ने इस घटना को लेकर बताया था कि एक कार्यक्रम में जाने के लिए पहाड़िया समाज के लोग आए थे। वह उन्हीं के साथ होटल से आ रहे थे। अचानक युवा मोर्चा के कार्यकर्ता उन पर टूट पड़े। वे गालियां दे रहे थे और फिर लात-घूंसे मारने लगे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App