ताज़ा खबर
 

झारखंड में पांच महिलाओं की ‘डायन’ बताकर निर्मम हत्या, 27 गिरफ्तार

शहरी लोग भले ही अंधविश्वास जैसे धकोसलों से ऊपर उट गए हों लेकिन देश मे कई राज्यों में अभी भी ऐसे गांव हैं जहां पर अंधविश्वास के नाम लोगों की हत्या तक कर देते हैं।

Author August 8, 2015 6:50 PM
OMG अंधविश्वास के नाम 5 महिलाओं की धारदार हथियार से हत्या

झारखंड के रांची जिले के मांडर इलाके के कनीजिया गांव में कल देर रात ग्रामीणों ने ‘डायन’ बताकर लाठी-डंडे से पीट कर पांच महिलाओं की हत्या कर दी। इस मामले में पुलिस ने 27 लोगों को गिरफ्तार किया है।

रांची के पुलिस उपमहानिरीक्षक अरुण कुमार ने बताया कि कल देर रात राजधानी रांची से बीस किलोमीटर दूर मांडर इलाके में कनीजिया गांव में एक दिल दहला देने वाली घटना में ग्रामीणों ने ‘डायन’ बताकर लाठी-डंडे से पीट कर 32 से 50 वर्ष की उम्र की पांच महिलाओं की निर्मम हत्या कर दी। इसके बाद उनकी लाशों को बोरे में बांधकर गांव से बाहर फेंक दिया।

उन्होंने बताया कि पुलिस ने प्रारंभिक जांच के बाद नृशंस हत्या के इस मामले में लगभग पचास लोगों के खिलाफ हत्या की प्राथमिकी दर्ज की है और इनमें से 27 लोगों को गिरफ्तार भी कर लिया है।

इस बीच, मुख्यमंत्री रघुवर दास ने घटना पर क्षोभ व्यक्त करते हुए कहा, ‘‘ज्ञान और सूचना के इस युग में इस तरह की घटना से मानवता शर्मसार होती है।’’

उन्होंने समाज से जागने और ऐसी घटनाओं को रोकने के लिए लोगों में चेतना फैलाने को कहा है। उन्होंने पुलिस से इस घटना में शामिल लोगों के खिलाफ कठोर कार्रवाई करने को कहा है।

पुलिस उपमहानिरीक्षक ने बताया कि मारे गये लोगों के शवों का पोस्टमार्टम पुलिस ने करवा लिया है और सभी को मारे जाने का कारण उन पर लाठी डंडे से वार ही साबित हुआ है।

उन्होंने बताया कि वह स्वयं अभी भी मौका ए वारदात पर ही हैं और पूरे इलाके में बड़ी संख्या में पुलिस बल की तैनाती की गयी है। ग्रामीणों ने अंधविश्वास के चलते सबेरे पुलिस के गांव पहुंचकर लाश कब्जे में लेने का भी विरोध किया और गांव के कब्रगाह में उन्हें दफनाने का भी वह विरोध कर रहे हैं।

अरूण कुमार ने घटना का विवरण देते हुए बताया कि कुछ दिनों पहले गांव में दो तीन अधेड़ उम्र के लोगों की अज्ञात कारणों से मौत हो गयी जिसे कुछ लोगों ने ‘डायन’ के प्रभाव से हुई मौत बताकर लोगों में भ्रांति फैलाने का काम किया। इसके बाद अभी दो दिनों पूर्व मारी गयी महिलाओं में से एक के घर के पड़ोस में 18 वर्षीय युवक की पीलिया से मौत हो गयी।

पुलिस उपमहानिरीक्षक ने बताया कि ग्रामीणों ने मृत युवक के पड़ोस में रहने वाली एक कथित डायन महिला को पकड़कर पीटना प्रारंभ किया। पिटती महिलाओं ने चार अन्य महिलाओं का नाम लिया और गांव वालों ने उन्हें भी उनके घरों से निकालकर लाठी डंडे से पीटना प्रारंभ कर दिया, जिससे पांचों महिलाओं ने वहीं दम तोड़ दिया।

उन्होंने बताया कि राज्य सरकार और विशेषकर मुख्यमंत्री ने पूरी घटना को बहुत गंभीरता से लिया है और इसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जायेगी। फरार आरोपियों की पुलिस जोरशोर से तलाश कर रही है और रात तक सभी को गिरफ्तार कर लिये जाने की संभावना है।

दूसरी ओर, राज्य के नगर विकास मंत्री और रांची के विधायक सीपी सिंह ने इस घटना पर गहरा दुख प्रकट करते हुए लोगों से ऐसी कुरीतियों से दूर होने की अपील की। उन्होंने जन-जन में ऐसी कुरीतियों के खिलाफ चेतना लाने के कार्यक्रम चलाने की बात कही।

राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष महुआ मांझी ने भी घटना की निन्दा की और कहा कि वह अपनी टीम के साथ दो-तीन दिनों में घटनास्थल का दौरा करेंगी और इसका जायजा लेंगी।

उन्होंने कहा कि इस तरह की घटनाएं अधिकतर या तो भ्रांति के कारण अथवा अकेली महिलाओं की संपत्ति हड़पने की नियत से साजिश के तहत की जाती हैं। उन्होंने कहा कि ऐसी घटनाओं की पुनरावृत्ति रोकने के लिए उचित महिला नीति की आवश्यकता है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App