ताज़ा खबर
 

झारखंड चुनाव: 13 सीटों के लिए चुनाव प्रचार समाप्त

झारखंड विधानसभा के लिए हो रहे चुनावों के प्रथम चरण में कल 13 सीटों पर मतदान होना है और इन सीटों के लिए चुनाव प्रचार थम गया है। अधिकतर सीटों पर बहुकोणीय मुकाबला है। रविवार की शाम पलामू मंडल, लातेहार और गुमला की कुल 13 नक्सल प्रभावित विधानसभा सीटों के लिए चुनाव प्रचार थम गया […]

Author November 24, 2014 4:50 PM
झारखंड विधानसभा चुनाव नतीजों के बाद मैंने रांची में रहने वाले पत्रकारों से अनुरोध किया कि वे अपने प्रदेश के प्रमुख शहरों के नाम बताएं। (फाइल फ़ोटो)

झारखंड विधानसभा के लिए हो रहे चुनावों के प्रथम चरण में कल 13 सीटों पर मतदान होना है और इन सीटों के लिए चुनाव प्रचार थम गया है। अधिकतर सीटों पर बहुकोणीय मुकाबला है। रविवार की शाम पलामू मंडल, लातेहार और गुमला की कुल 13 नक्सल प्रभावित विधानसभा सीटों के लिए चुनाव प्रचार थम गया है। इन सीटों पर मतदान कल होगा जिसके लिए सुरक्षा के व्यापक इंतजाम किये गये हैं।

डाल्टनगंज और लातेहार के चंदवा में 21 नवंबर को अपनी चुनावी सभाओं में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सत्ताधारी झारखंड मुक्ति मोर्चा की ‘बाप-बेटे की राजनीति’ और कांग्रेस के ‘परिवारवाद’ पर हमला बोलकर यहां प्रचार अभियान में गर्मी ला दी थी।

इसके जवाब में कल कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने डाल्टनगंज और गुमला में अपनी सभाओं में मोदी को ‘सिर्फ शब्दों का बाजीगर’ बताते हुए आरोप लगाया कि वास्तव में भाजपा सरकार ने ही झारखंड को बर्बाद किया और केंद्र में सरकार बनने के बाद जनहित के कोई कार्य नहीं किये।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने चुनाव प्रचार के दौरान झारखंड की खनिज संपदा की तुलना ऑस्ट्रेलिया की प्राकृतिक संपदाओं से की और कहा कि इतनी अकूत संपदा होने के बावजूद यदि झारखंड आज पिछड़ा है तो उसका कारण यहां की राजनीतिक अस्थिरता है। पलामू में जहां कांग्रेस अपने तेजतर्रार नेता और विधायक कृष्णानंद त्रिपाठी की छवि तथा परिश्रम पर भरोसा कर रही है वहीं भाजपा मोदी की लहर के भरोसे है।

पहले दौर के लिए चुनाव प्रचार में कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने जहां प्रधानमंत्री मोदी पर लोगों के हाथ में विकास के नाम पर झाड़ू पकड़ाने का आरोप लगाया वहीं राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव ने भाजपा पर सांप्रदायिकता फैलाने का आरोप लगाया। इस दौरान नक्सलियों ने भी कुछ नेताओं के प्रचार वाहनों में आग लगाकर अपनी उपस्थिति दर्ज करायी।

विधानसभा चुनाव के प्रथम चरण में कल जिन 13 सीटों पर मतदान होना है वहां कुल 199 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं। इनमें लोहरदग्गा से प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सुखदेव भगत, हुसैनाबाद से पूर्व मंत्री और भ्रष्टाचार के आरोपों में जेल जा चुके कमलेश सिंह, डाल्टनगंज से पूर्व विधानसभाध्यक्ष इंदर सिंह नामधारी के बेटे दिलीप सिंह नामधारी शामिल हैं। छतरपुर (सु) से भाजपा ने कांग्रेस से आये राधाकृष्ण किशोर को राजद के मनोज सिंह के खिलाफ चुनाव मैदान में उतारा है।

छतरपुर से ही जदयू के टिकट पर सुधा चौधरी और सपा के टिकट पर पूर्व नक्सली तथा पूर्व सांसद कामेश्वर बैठा चुनाव मैदान में अपना भाग्य आजमा रहे हैं। गढ़वा में राजद के प्रदेश अध्यक्ष गिरिनाथ सिंह का मुकाबला भाजपा के सत्येंद्र नाथ तिवारी से है जो झाविमो से आए हैं। लातेहार (सु) सीट से भाजपा ने पूर्व सांसद ब्रजमोहन राम को झाविमो के पूर्व विधायक प्रकाशराम और झामुमो के मोहन गंजू के खिलाफ उतारा है।

पांकी में कांग्रेस के विदेश सिंह और भाजपा के अमित कुमार तिवारी आमने सामने हैं। मनिका (सु) सीट पर भाजपा ने अपने निवर्तमान विधायक हरिकृष्ण सिंह को मैदान में उतारा है जबकि वहां से झामुमो ने शिल्पा कुमार और कांग्रेस ने मुनेश्वर उरांव को टिकट दिया है।

पूर्व विधानसभा अध्यक्ष सीपी सिंह ने दावा किया कि पूरे देश की तरह ही झारखंड में भी भाजपा की लहर है और नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में, प्रथम चरण की तेरह सीटों में से अधिकतर सीटें उनकी पार्टी जीतेगी। दूसरी तरफ कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष सुखदेव भगत और झामुमो के नेता एवं प्रदेश के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने अपनी अपनी पार्टियों की बहुमत से जीत का दावा किया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App