Jharkhand Unlock: सोरेन सरकार ने दी दुर्गा पूजा की अनुमति, जानें और कहां-कहां मिली छूट

कोरोना के मामलों में कमी को देखते हुए झारखंड सरकार ने भी राज्य में छूट बढ़ा दी है। मंगलवार को जारी आदेश में कहा गया है कि अब बैद्यनाथ धाम समेत राज्य के धार्मिक स्थानों पर श्रद्धालु जा सकते हैं। इसके अलावा राज्य में दुर्गापूजा पांडाल लगाने की भी अनुमति दे दी गई है। इसके […]

तस्वीर का सांकेतिक इस्तेमाल किया गया है। फोटो- एक्सप्रेस आर्काइव

कोरोना के मामलों में कमी को देखते हुए झारखंड सरकार ने भी राज्य में छूट बढ़ा दी है। मंगलवार को जारी आदेश में कहा गया है कि अब बैद्यनाथ धाम समेत राज्य के धार्मिक स्थानों पर श्रद्धालु जा सकते हैं। इसके अलावा राज्य में दुर्गापूजा पांडाल लगाने की भी अनुमति दे दी गई है। इसके अलावा कॉलेज में अंडरग्रैजुएट और पोस्टग्रैजुएट ऑफलाइन कक्षाएं चलाने को छूट दे दी है।

स्कूलों की बात करें तो कक्षा 6 से 8 तक ऑफलाइन क्लास चलाने को कहा गया है। खेल गतिविधियों को भी छूट दी गई है लेकिन यहां दर्शकों को अनुमति नहीं दी जाएगी।

रात 11 तक खुल सकेंगे बार और रेस्तरां
नए आदेश के मुताबिक रात में 11 बजे तक बार और रेस्तरां खोले जा सकेंगे। मंगलवार को झारखंड स्टेट डिजास्टर मैनेजमेंट अथॉरिटी की बैठक में ये फैसले लिए गए हैं। यह बैठक मुख्यमंत्री हेमंत सोरेने की अध्यक्षता में हुई। इसके बाद जारी आदेश में कहा गया है, ‘सभी धार्मिक स्थानों पर श्रद्धालुओं को जाने की अनुमति दी जाती है। हालांकि धार्मिक स्थल पर मौजूद संबंधित व्यक्ति (पुजारी, मौलवी, पंजा, इमाम, पादरी) के लिए कोरोना वैक्सीन की एक डोज अनिवार्य है।’

सरकार की तरफ से दी गई जानकारी के मुताबिक एक घंटे में धार्मिक स्थल के अंदर केवल 100 लोगों को जाने की अनुमति होगी। इसके अलावा उनको ईपास की भी जरूरत होगी। एक जगह पर 50 से ज्यादा लोग नहीं इकट्ठा हो सकेंगे। 18 साल से कम उम्र वालों को धार्मिक स्थलों में जाने कि अनुमति अभी नहीं दी गई है।

सभी के लिए कोविड प्रोटोकॉल का पालन करना जैसे कि मास्क पहनना और दो गज की दूरी बनाए रखा जरूरी है। दुर्गा पूजा पांडाल लगाने की अनुमति तो दी गई है लेकिन वहां श्रद्धालुओं की एंट्री पर कुछ रोक लगाई गई है। पांडाल के अंदर 50 प्रतिशत की कपैसिटी या फिर 25 से ज्यादा लोग नहीं इकट्ठा हो सकेंगे। मूर्ति की ज्यादा से ज्यादा ऊंचाई 5 फीट ही रखी जा सकती है। किसी भी तरह के मेले के आयोजन पर रोक रहेगी। पांडाल तीन तरफ से ही कवर होना चाहिए और प्रसाद बांटने की अनुमति नहीं होगी।

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट