ताज़ा खबर
 

बिहार के जंगलराज में दिनदहाड़े हो रहीं हत्याएं, कहां गया नीतीश का जनता से किया वादा ‘मैं हूं ना’

पटना शहर में आज दिनदहाडे एक आभूषण व्यवसायी की हत्या के बाद भाजपा ने प्रदेश में कानून-व्यवस्था को लेकर नीतीश सरकार पर प्रहार किया और राज्यपाल रामनाथ कोविंद से हस्तक्षेप की मांग की।

Author पटना | January 17, 2016 12:19 AM
bihar law and order, nitish kumar, bihar police, bima bhartiकैबिनेट ने औद्योगिक निवेश प्रोत्साहन नियमावली 2016 को मंजूरी दे दी

पटना शहर में आज दिनदहाडे़ एक आभूषण व्यवसायी की हत्या के बाद भाजपा ने प्रदेश में कानून-व्यवस्था को लेकर नीतीश सरकार पर प्रहार किया और राज्यपाल रामनाथ कोविंद से हस्तक्षेप की मांग की। अपने सरकारी आवास पर पत्रकारों से बातचीत करते हुए भाजपा के वरिष्ठ नेता सुशील कुमार मोदी कहा कि विधानसभा में सीटों की संख्या के लिहाज से मजबूत लालू प्रसाद के प्रभाव में ऐसा लगता है कि नीतीश कुमार सरकार में अपराधियों के खिलाफ कदम उठाने की इच्छा खत्म हो गई है।

उन्होंने पटना शहर में आज एक आभूषण व्यवसायी की दिनदहाडे हत्या, गत 26 दिसंबर को दरभंगा जिले में दो अभियंताओं की हत्या और चिकित्सकों, अभियंताओं और व्यवसायियों से रंगदारी की मांग किए जाने की रिपोर्ट का जिक्र करते हुए कहा कि बिहार में ‘जंगलराज’ की वापसी की आशंका सही साबित हुई है। उन्होंने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से पूछा कि हाल में संपन्न बिहार विधानसभा चुनाव के दौरान उन्होंने जनता से ‘मैं हूंं ना’ का जो वादा किया था उसका क्या हुआ। उन्होंने कहा कि बहुत शीघ्र भाजपा का एक प्रतिनिधिमंडल राज्यपाल से मिल कर उन्हें एक ज्ञापन सौंपेगा, ताकि वे अपने स्तर से प्रदेश में कानून-व्यवस्था की स्थिति की समीक्षा करें।

सुशील मोदी की यह टिप्पणी आज पटना शहर के राजापुर इलाके में आभूषण व्यवसायी रविकांत की दिनदहाड़े गोली मारकर हत्या किए जाने की घटना के बाद आई है। पटना के वरीय पुलिस अधीक्षक मनु महाराज ने बताया कि मृतक के परिजन ने शिकायत की है कि कुख्यात अपराधी दुर्गेश शर्मा ने रविकांत से रंगदारी मांगी थी। उन्होंने बताया कि इस मामले में श्रीकृष्णापुरी थाने में प्राथमिकी दर्ज कर मामले की छानबीन शुरू कर दी गई है।

बिहार विधान परिषद में प्रतिपक्ष के नेता सुशील कुमार मोदी ने आरोप लगाया कि बिहार विधानसभा में संख्या बल (राजद के सबसे अधिक 80 विधायक) के आधार पर राजद प्रमुख लालू प्रसाद के हावी होने के कारण ऐसा प्रतीत होता है कि नीतीश कुमार सरकार में अपराधियों से लोहा लेने की क्षमता नहीं रही। उन्होंने पूछा कि प्रदेश में अपराधियों को सजा दिलाने का काम क्यों शिथिल पड़ गया। अपराधियों के बीच जो डर था, वह खत्म हो गया है। सुशील मोदी ने कहा कि प्रदेश में जब तक भाजपा-जदयू का गठबंधन रहा तब तक अपराध नियंत्रण में था और गठबंधन टूटने के बाद से अपराध का ग्राफ बढ़ गया और हाल में संपन्न बिहार विधानसभा चुनाव के बाद और भी बढ़ा है।

उन्होंने कहा कि सरकारी आंकड़े जो हों, पर बिहार के बारे में आमराय देश-दुनिया में यही बनी है कि अपराध का ग्राफ तेजी से बढ़ा है। सुशील मोदी ने बिहार में सत्ता के दो केंद्र एक नीतीश कुमार और दूसरा लालू प्रसाद होने का आरोप लगाते हुए कहा कि नीतीशजी पूरी तरह से लालूजी पर आश्रित हैं। जिस तरह से केंद्र की यूपीए सरकार के कार्यकाल के दौरान सलाहकार समिति का अध्यक्ष बनाकर सोनिया गांधी को कैबिनेट मंत्री का दर्जा दिया गया था, उसी प्रकार से लालू को वैसा ही दर्जा नीतीश कुमार दे दें ताकि वे वैधानिक तरीके से हस्तक्षेप कर सकें।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 मालदा हिंसा में को बचाकर वोट बैंक की राजनीति को बढ़ावा दे रहीं ममता बनर्जीः BJP
2 कांग्रेस के नेता ने ही खोला कांग्रेस के CM हरीश रावत के खिलाफ मोर्चा
3 सबसे ज्यादा अपराधी मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के जिले में हैः राजा भैया
राशिफल
X