JDU के केसी त्यागी के बेटे अमरीश त्यागी हुए BJP में शामिल, संभाल चुके हैं डोनाल्ड ट्रंप का चुनाव मैनेजमेंट

अमरीश के पिता केसी त्यागी जेडीयू में हैं। केसी त्यागी को नीतीश का करीबी माना जाता है। अमरीश का कहना है कि एक परिवार के सदस्य अलग-अलग पार्टी में जुड़ने के लिए स्वतंत्र हैं। उन्होंने पीएम मोदी और सीएम योगी के नेतृत्व से प्रभावित होकर बीजेपी से जुड़ने का फैसला लिया है।

JDU KC Tyagi, Son Amrish Tyagi, Amrish joins BJP, Donald Trump, Trump election management
जनता दल यूनाइटेड (जदयू) के राष्ट्रीय महासचिव केसी त्यागी के बेटे अमरीश त्यागी। (फोटोः ट्विटर@zamaan_qureshi)

जनता दल यूनाइटेड (जदयू) के राष्ट्रीय महासचिव केसी त्यागी के बेटे अमरीश त्यागी ने बीजेपी का दामन थाम लिया है। यूपी के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्या की मौजूदगी में रविवार को लखनऊ में उन्हें पार्टी की सदस्यता दिलाई गई। बिहार के सीएम नीतीश कुमार और अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के लिए अमरीश काम चुके हैं। वह इन दोनों के लिए चुनावी रणनीति तैयार करने का काम करके सुर्खियों में आए थे।

अमरीश के पिता केसी त्यागी जेडीयू में हैं। केसी त्यागी को नीतीश का करीबी माना जाता है। अमरीश का कहना है कि एक परिवार के सदस्य अलग-अलग पार्टी में जुड़ने के लिए स्वतंत्र हैं। उन्होंने पीएम मोदी और सीएम योगी के नेतृत्व से प्रभावित होकर बीजेपी से जुड़ने का फैसला लिया है। उनका कहना है कि बीजेपी के सामने उत्तर प्रदेश में कोई पार्टी नहीं है। हालांकि, वह खुद यूपी चुनाव में उतरेंगे या नहीं इसका फैसला अमरीश त्यागी ने पार्टी पर छोड़ दिया है। उन्होंने कहा कि उनके पिता केसी त्यागी NDA के घटक दल के नेता हैं, इसलिए हमेशा ही भाजपा के साथ जुड़ाव रहा है।

अमरीश त्यागी ओवलीनो बिजनेस इंटेलिजेंस प्रा. लि. के प्रबंध निदेशक हैं। उनकी कंपनी राजनीतिक पार्टियों की रणनीति, मीडिया प्रबंधन के साथ सलाहकार का काम करती है। अमरीश त्यागी की कंपनी ने अमेरिकी चुनाव में तब के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के चुनाव के लिए काम किया था। कंपनी बिहार सीएम नीतीश कुमार के लिए भी चुनावी रणनीति बना चुकी है।

रविवार को लखनऊ में अमरीश के अलावा सपा और भीम आर्मी के कई नेता भी बीजेपी में शामिल हुए। उनका मानना है कि चुनाव प्रचार में भाजपा सबसे आगे है। विपक्ष उसके आसपास भी नहीं दिखता। पिता की सोशलिस्ट विचारधारा और बीजेपी के हिंदुत्व पर उन्होंने कहा कि एक ही परिवार में अलग-अलग विचारधारा हो सकती है। उनका कहना है कि पिता जेडीयू के लिए काम करते रहेंगे लेकिन उनके सामने अब यूपी में बीजेपी को मजबूत करने की जिम्मेदारी है। इसके लिए वह जी-जान से काम करेंगे। वह चाहेंगे कि सीएम योगी फिर से सत्ता संभालें।

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।