ताज़ा खबर
 

जयललिता: एक रुपया सैलरी, नहीं की शादी लेकिन बेटे की शादी में पानी की तरह बहाया था पैसा; रजत शर्मा के शो में आने के लिए रखी थी ऐसी शर्त

कहा जाता है कि जयललिता राजनीति में अपने गुरु एमजी रामचंद्रन के कहने पर आई थीं। उन्होंने रामचंद्रन की पार्टी ऑल इंडिया अन्ना द्रविड़ मुनेत्र कड़गम से सियासत की शुरुआत की थी।

jayalalitha, jayalalitha son, jayalalitha political careerजयललिता ने अपनी जिंदगी अपने शर्तों पर गुजारी (Photo-Indian Express/File)

जयललिता ने सिर्फ 15 साल की उम्र में अपने फिल्मी करियर की शुरुआत की थी। कहा जाता है कि जयललिता पर उनकी मां ने फिल्म में आने का दवाब बनाया था। उनकी मां खुद भी तमिल सिनेमा की अभिनेत्री थीं और चाहती थीं कि बेटी भी पर्दे पर अपना नाम बनाए। जयललिता ने अपनी पहली फिल्म में काफी बोल्ड सीन दिया था और ये फिल्म एडल्ट कैटेगरी में रिलीज हुई थी। इसके बाद उन्होंने सैकडों तमिल और तेलुगू फिल्मों में काम किया। हालांकि वो हिन्दी सिनेमा की इकलौती फिल्म ‘इज्जत’ में नजर आईं। इस फिल्म में उनके साथ उस वक्त के सुपरस्टार धर्मेंद्र थे। साल 1968 में आई ये फिल्म हिट साबित हुई थी।

कुंवारी जयललिता 6 बार बनीं मुख्यमंत्री: जयललिता ने कभी शादी नहीं की। इसको लेकर तमाम तरह की बातें हुईं। हालांकि उन्होंने सुधारकरन को गोद लिया था और उन्हें अपने सगे बेटे की तरह ही प्यार करती थीं। कहा जाता है कि जयललिता राजनीति में अपने गुरु एमजी रामचंद्रन के कहने पर आई थीं।

उन्होंने रामचंद्रन की पार्टी ऑल इंडिया अन्ना द्रविड़ मुनेत्र कड़गम (एआईएडीएमके) से सियासत की शुरुआत की थी। 1984 से 1989 के दौरान वे तमिलनाडु से राज्यसभा सांसद भी रहीं। साल 1991 में वह पहली बार तमिलनाडु की मुख्यमंत्री बनीं और इसी के साथ उन्होंने सबसे कम उम्र में महिला मुख्यमंत्री बनने का रिकॉर्ड बनाया था।

सैलरी एक रुपया, लेकिन लगा आय से अधिक संपत्ति का आरोप: साल 1996 में जयललिता पर भ्रष्टाचार का आरोप लगा था। इस मामले में कोर्ट ने चार साल की जेल और जुर्माना भी लगाया गया था। हालांकि 2015 में कर्नाटक उच्च न्यायालय ने उन्हें इस मामले में बरी कर कर दिया गया था। यह आरोप उनपर आय से अधिक संपत्ति रखने के मामले में लगाया गया था। इन आरोपों के कारण जयललिता को मुख्यमंत्री पद से भी इस्तीफा देना पड़ा था।

बता दें कि मुख्यमंत्री पद हासिल करने के बाद उन्होंने सैलरी लेने से इंकार कर दिया था। वे सैलरी के नाम पर सिर्फ एक रुपया लेती थीं। हालांकि जयललिता उस वक्त लोगों की नज़र में चढ़ गई थीं जब उन्होंने अपने बेटे सुधारकरन की शादी में करोड़ों रुपया पानी की तरह बहाया था और बड़े ही धूमधाम से शादी कराई थी।

आप की अदालत में आने से पहली रखी थी शर्त: जयललिता काफी स्वाभिमानी नेता कही जाती थीं। वह अपने उसूलों की पक्की थी। ऐसा ही एक वाकया तब हुआ जब वरिष्ठ पत्रकार रजत शर्मा ने उन्हें अपने कार्यक्रम ‘आपकी अदालत’ में आने के लिए आमंत्रित किया। जयललिता ने दिल्ली आकर शूटिंग से इंकार कर दिया और कहा कि वो आपकी अदालत में जरूर आएंगी लेकिन एक शर्त पर।

 

और वो शर्त ये है कि इसकी शूटिंग चेन्नई में होगी। बाद में भी इसी शो में उन्होंने कहा था कि वो पिता की तरह वकील बनना चाहती थीं और राम जेठमलानी, नरिमन जैसे प्रख्यात वकीलों की तरह मुकाम हासिल करना चाहती थीं। लेकिन मां के कहने पर फिल्मों में काम करना शुरु किया था।

 

Next Stories
1 नौसैनिक को एयरपोर्ट के बाहर से बंदूक की नोंक पर किया था किडनैप, फिरौती नहीं मिलने के शक पर आग में झोंका, मौत
आज का राशिफल
X