Jaya Bachchan, Anitabh Bachchan, Abhishek Bachchan, Aishwarya Roy, Aaradhya, SP MP, Bachchan Family - जया बच्चन ने बताईं घर की बातें- अमिताभ के साथ नहीं देखतीं टीवी, आराध्या को एक पल नहीं छोड़तीं ऐश्वर्या - Jansatta
ताज़ा खबर
 

जया बच्चन ने बताईं घर की बातें- अमिताभ के साथ नहीं देखतीं टीवी, आराध्या को एक पल नहीं छोड़तीं ऐश्वर्या

जब जया बच्चन से पूछा गया कि क्या उनकी बहू ऐश्वर्या फुल टाइम एक्ट्रेस जॉब को मिस करती हैं तो जया ने कहा, नहीं। उन्होंने कहा कि उन्हें ऐसा नहीं लगता है।

Author April 29, 2018 3:00 PM
अभिनेता अमिताभ बच्चन और उनकी पत्नी राज्यसभा सांसद जया बच्चन।

सपा की राज्यसभा सांसद जया बच्चन ने इंडियन एक्सप्रेस के खास कार्यक्रम आइडिया एक्सचेंज में अपने घर की बातें बताईं। उन्होंने कहा कि वो अपने पति और सदी के शहंशाह अमिताभ बच्चन के साथ टीवी नहीं देखती हैं। जया ने बताया कि अमिताभ ज्यादातर स्पोर्ट्स चैनल देखते हैं। उनके साथ बेटे अभिषेक भी स्पोर्ट्स चैनल देखते हैं। बाप-बेटे दोनों मिलकर इसका आनंद उठाते हैं। सपा सांसद ने कहा कि उनके लिए खेल चैनल देखना काफी बोरिंग होता है, इसलिए वो दूसरे कमरे में टीवी देखती हैं।

जब जया बच्चन से पूछा गया कि क्या उनकी बहू ऐश्वर्या फुल टाइम एक्ट्रेस जॉब को मिस करती हैं तो जया ने कहा, नहीं। उन्होंने कहा कि उन्हें ऐसा नहीं लगता है। जया ने कहा कि उनकी बहू ऐश्वर्या एक अच्छी बहू और एक अच्छी और केयरिंग नेचर की मां हैं। बतौर जया, ऐश्वर्या एक पल के लिए भी आराध्या को अकेली नहीं छोड़ती हैं। वो अक्सर सारे काम खुद करना चाहती है और ऐसा करती भी हैं। जया ने कहा कि वो वहीं होती हैं लेकिन उनलोगों के लिए ऐसा लगता है कि वो वहां नहीं हैं। जया ने कहा कि ऐश्वर्या खुद आराध्या को नहलाती हैं, ड्रेस अप करती हैं। खाना खिलाती हैं और उसे पढ़ाती भी हैं। सपा सांसद ने कहा कि वो इन कामों मदद करती हैं लेकिन न के बराबर।

जया बच्चन ने कहा कि उनकी बेटी भी ऐसा ही करती हैं। उन्होंने कहा कि नए युग की माताएं, पहले की माताओं से ज्यादा अच्छी और केयरिंग होती हैं। जया ने कहा कि जब हमलोग बच्चे थे तो कई बार गिर जाया करते थे, तब कोई ये देखने वाला नहीं होता था लेकिन आज की मां अपने बच्चों का खूब ख्याल रखती हैं। जया ने कहा कि वक्त बदला है, चीजें भी बदली हैं। अब लोगों में असुरक्षा की भावना पहले से ज्यादा घर कर रही हैं। उन्होंने बताया कि वो एक ज्वाइंट फैमिली में रहती हैं। इसलिए हमेशा कोई न कोई किसी न किसी के साथ हमेशा रहता है लेकिन बदलते दौर में जब लोग एकल परिवारों में रहते हैं तब माताओं की जिम्मेदारियां बढ़ जाती हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App