तीन तलाक के मसले पर मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड पर भड़के जावेद अख्तर, बोले- इन पर कोई विश्वास मत करना - Javed Akhtar get angry over AIMPLB, said triple talaq must ban - Jansatta
ताज़ा खबर
 

तीन तलाक के मसले पर मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड पर भड़के जावेद अख्तर, बोले- इन पर कभी विश्वास मत करना

जावेद अख्तर ने ये भी कहा कि तीन तलाक पर तत्काल रोक लगाते हुए उसे अक्षम्य अपराध घोषित किया जाए।

गीतकार जावेद अख्तर। (फाइल फोटो)

बॉलीवुड के मशहूर गीतकार जावेद अख्तर ने तीन तलाक पर अपनी बात रखते हुए कहा है कि ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड पर बिल्कुल विश्वास नहीं किया जा सकता है। राज्यसभा से सांसद रह चुके जावेद अख्तर ने ये भी कहा कि तीन तलाक पर तत्काल रोक लगाते हुए उसे अक्षम्य अपराध घोषित किया जाए। जावेद अख्तर ने मंगलवार को ट्वीट कर ये बातें कहीं। जावेद अख्तर के इस ट्वीट के बाद बहुत से यूजर्स ने उनकी तारीफ करते हुए तीन तलाक को बैन करने की उनकी बात से सहमति दिखाई वहीं कुछ यूजर्स ऐसे भी हैं जो जावेद अख्तर को ये भी लिख रहे हैं कि आगर तुम तीन तलाक का विरोध कर रहे हो तो तुम मुसलमान नहीं हो सकते। आपको बता दें कि देश भर में तीन तलाक की प्रथा को लेकर बहस चरम पर है। जहां केंद्र सरकार तीन तलाक को मुस्लिम महिलाओं के शोषण का हथियार बताकर इस पर रोक लगाने की बात कर रही है तो वहीं बहुत से मुस्लिम संगठन तीन तलाक को शरियत के मुताबिक सही मानकर इसे कायम रखने की अपनी दलीलें पेश कर रहे हैं। इस मामले में देश के सर्वोच्च न्यायालय में मुकदमा भी चल रहा है।

सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले की सुनवाई करते हुए कहा है कि अगर तीन तलाक मुसलमानों की धार्मिक आस्था से जुड़ा हुआ है तो इसे नहीं समाप्त किया जाएगा। कोर्ट के इसी स्टेटमेंट के बाद से ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड(AIMPLB) कोर्ट में ऐसी दलीलें रख रहा है कि तीन तलाक को खत्म ना किया जाए। गीतकार जावेद अख्तर ने AIMPLB की इसी हरकत पर चोट करते हुए ट्वीट किया है।

 

जावेद अख्तर ने लिखा कि AIMPLB पर किसी भी हाल में विश्वास नहीं करना चाहिए। ये लोग तीन तलाक को कायम रखने के लिए हर किसी को भ्रमित कर रहे हैं। जावेद अख्तर ने आगे लिखा कि तीन तलाक पर कानूनी रूप से प्रतिबंध लगा देना चाहिए और इतना ही नहीं इसे अक्षम्य अपराध भी समझा जाना चाहिए।

तीन तलाक पर सुप्रीम कोर्ट ने 6 दिन में पूरी की सुनवाई; सुरक्षित रखा अपना फैसला

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App